Wednesday, September 22, 2021
Homeदेश-समाजयूपी में स्वीकृत सभी 548 ऑक्सीजन प्लांट 15 अगस्त 2021 तक हों चालू: योगी...

यूपी में स्वीकृत सभी 548 ऑक्सीजन प्लांट 15 अगस्त 2021 तक हों चालू: योगी सरकार ने DM को दिया सुनिश्चित करने का निर्देश

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने राज्य के आयुक्तों और विभिन्न जिलाधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि उनके अंतर्गत आने वाले जिलों में स्वीकृत सभी 548 ऑक्सीजन प्लांट 15 अगस्त 2021 तक चालू हो जाएँँ।

जल्द ही भारत में चीनी कोरोना वायरस की तीसरी लहर आने की अटकलों के बीच, उत्तर प्रदेश सरकार उससे निपटने के लिए खुद को तैयार करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। इसी कड़ी में राज्य सरकार 15 अगस्त तक यूपी में 548 ऑक्सीजन संयंत्रों को चालू करने के लिए पूरी तरह तैयार है, जिससे यह आश्वासन मिलता है कि यदि राज्य में तीसरे चरण का संक्रमण होगा तो उत्तर प्रदेश के हर जिले में पर्याप्त ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित होगी।

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने राज्य के आयुक्तों और विभिन्न जिलाधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं कि उनके अंतर्गत आने वाले जिलों में स्वीकृत सभी 548 ऑक्सीजन प्लांट 15 अगस्त 2021 तक चालू हो जाएँँ।

राजेंद्र कुमार तिवारी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान अधिकारियों को कहा, “वर्तमान में 548 ऑक्सीजन संयंत्रों में से 214 क्रियाशील हैं। यह देखें कि उनमें से बाकी भी 15 अगस्त तक चालू हो जाएँ।” उन्होंने आगे बताया कि प्रत्येक ऑक्सीजन संयंत्र में उत्पादन की निगरानी के लिए कम से कम दो टेक्नीशियन को नियुक्त किया जाएगा।

राजेंद्र कुमार तिवारी ने कहा कि अब तक 280 टेक्निशियन को शॉर्टलिस्ट किया गया है। यूपी के सीएस ने अधिकारियों को बाल चिकित्सा वार्डों की देखरेख करने और यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा कि वहाँ भी ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति हो।

ऑक्सीजन प्लांट का सिविल वर्क अंतिम चरण में

रिपोर्टों के अनुसार, यूपी के मुख्य सचिव ने कहा है कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) द्वारा स्थापित किए गए प्रेशर स्विंग अवशोषण (Pressure Swing Absorption) ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों का सिविल कार्य अपने अंतिम चरण में है। शेड लगाए जाने के बाद, संयंत्रों को 15 अगस्त तक चालू कर दिया जाएगा।

यूपी कोविड -19 की प्रत्याशित तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयार

गौरतलब है कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस साल मई में नोएडा फिल्म सिटी में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा था कि राज्य पूरी तैयारी के साथ कोविड-19 की प्रत्याशित तीसरी लहर से लड़ने के लिए खुद को तैयार कर रहा है।

चूँकि, भविष्यवाणियों के अनुसार, तीसरी लहर बच्चों, महिलाओं और अन्य कमजोर समूहों को प्रभावित कर सकती है, योगी सरकार बच्चों की उचित और विशेष देखभाल के लिए सभी जिलों में न्यूनतम 100 बिस्तरों की क्षमता वाले बाल चिकित्सा आईसीयू स्थापित कर रही है। साथ ही मेडिकल कॉलेजों में भी अतिरिक्त वार्ड बनाए जा रहे हैं।

इसके अलावा, तीसरी लहर की चेतावनी के बीच, यूपी सरकार युद्ध स्तर पर टीकाकरण अभियान चला रही है। 4 जून को, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के अधिकारियों को एक महीने में राज्य की दैनिक कोविड-19 टीकाकरण दर को तीन गुना करने का निर्देश दिया था। कैलकुलेशन के अनुसार, तीन गुना लक्ष्य के लिए एक दिन में 10 लाख से अधिक टीके देना होगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत की जाँच के लिए SIT गठित: CM योगी ने कहा – ‘जिस पर संदेह, उस पर सख्ती’

महंत नरेंद्र गिरी की मौत के मामले में गठित SIT में डेप्यूटी एसपी अजीत सिंह चौहान के साथ इंस्पेक्टर महेश को भी रखा गया है।

जिस राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप, वहाँ की पुलिस भेज रही गंदे मैसेज-चौकी में भी हो रही दरिंदगी: कॉन्ग्रेस है तो चुप्पी है

NCRB 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में जहाँ 5,310 केस दुष्कर्म के आए तो वहीं उत्तर प्रेदश में ये आँकड़ा 2,769 का है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,642FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe