Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाज₹12 करोड़ की लागत, 3 साल निर्माण कार्य, ठेकेदार सिराजुर्रहमान... उद्घाटन से पहले ही...

₹12 करोड़ की लागत, 3 साल निर्माण कार्य, ठेकेदार सिराजुर्रहमान… उद्घाटन से पहले ही ध्वस्त होकर बकरा नदी में समा गया पुल, वीडियो में दिखा भ्रष्टाचार का नतीजा

पहुँच पथ न होने के कारण आवागमन बाधित था। इस पुल का निर्माण केंद्र सरकार के ग्रामीण कार्य विभाग के तहत पड़ोसी जिले किशनगंज के ठेकेदार सिराजुर्रहमान ने कराया है।

बिहार में भ्रष्टाचार का एक और नमूना देखने को मिला है। अररिया के सिकटी प्रखंड में 12 करोड़ रुपए की लागत से बना एक पुल उद्घाटन से पहले ही ध्वस्त हो गया। ध्वस्त पुल नदी में समा गया। उक्त पुल बकरा नदी पर बना हुआ था। ये हादसा मंगलवार (18 जून, 2024) को दोपहर 2:05 में हुआ। इस पुल की लंबाई 182 मीटर थी और इसे 3 हिस्सों में बनाया गया था। इसमें से 2 पाए के साथ पुल का 2 हिस्सा पूरा का पूरा ध्वस्त होकर नदी में विलीन हो गया।

इस हादसे के बाद क्षेत्र में हड़कंप मच गया। इससे पहले बने हुए पुल का एप्रोच कट गया था, जिसके बाद इसका निर्माण शुरू करवाया गया था। लोगों का स्पष्ट आरोप है कि निर्माण कार्य में घटिया समाग्रियों का इस्तेमाल हुआ है, भ्रष्टाचार किया गया है। पुल के एप्रोच पथ को बहाल किए जाने की दिशा में विभाग ने काम शुरू किया था। उससे पहले ही ये हादसा हो गया। अररिया के सांसद और विधायक ने इससे जुड़े ठेकेदार पर कार्रवाई की बात कही है।

‘प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना’ के तहत बन रहे इस पुल में करोड़ों रुपए फूँक दिए गए थे। शुरू में इसकी लागत 7.79 करोड़ रुपए थी, लेकिन एप्रोच पथ को मिला कर इसकी लागत 12 करोड़ रुपए हो गई थी। 2021 में इसका निर्माण शुरू हुआ था और जून 2023 में ये बन कर तैयार हुआ था। ग्रामीणों ने बताया कि वो कई दिनों से पुल के स्लैब में दरार देख रहे थे। पहुँच पथ न होने के कारण आवागमन बाधित था। इस पुल का निर्माण केंद्र सरकार के ग्रामीण कार्य विभाग के तहत पड़ोसी जिले किशनगंज के ठेकेदार सिराजुर्रहमान ने कराया है।

भाजपा सांसद प्रदीप कुमार सिंह और सिकटी भाजपा विधायक विजय कुमार मंडल ने कहा है कि इसे संवेदन और विभाग की लापरवाही करार दिया है। दोनों नेताओं ने कहा कि उच्च-स्तरीय समिति बना कर काम किया जाएगा। उक्त पुल पहाड़िया घाट पर बना हुआ था। इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए राज्य सरकार ने कार्यपालक अभियंता, कन्या अभियंता और सहायक अभियंता को निलंबित कर दिया है। DM इनायत खान ने कड़ी कार्रवाई की बात कही है। बिहार में इससे पहले भी कई पुल ध्वस्त हुए हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -