Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजजूनागढ़ के ऐतिहासिक 'ऊपरकोट किले' में नमाज पढ़ रहे थे मुस्लिम, वीडियो वायरल: सयाजीराव...

जूनागढ़ के ऐतिहासिक ‘ऊपरकोट किले’ में नमाज पढ़ रहे थे मुस्लिम, वीडियो वायरल: सयाजीराव यूनिवर्सिटी में भी हो चुकी हैं ऐसी कई घटनाएँ

जूनागढ़ में 16 जून 2023 को हिंसा भड़क गई थी। इस दौरान करीब 500 मुस्लिमों की भीड़ ने पुलिस पर हमला कर दिया था। दरअसल, जूनागढ़ नगर निगम ने माजेवाडी गेट के पास स्थित मंदिरों और दरगाह समेत आठ धार्मिक स्थानों को नोटिस भेजा था, नोटिस मिलने के बाद मुस्लिम समुदाय ने रात 10 बजे के आसपास पुलिस पर हमला कर दिया।

गुजरात के जूनागढ़ में स्थित ऊपरकोट किले में मुस्लिमों के एक समूह द्वारा नमाज पढ़ने का वीडियो वायरल हुआ है। इस पर बजरंग दल ने नाराजगी जताई है। बजरंग दल ने ऐलान किया है कि वो उस जगह पर सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। बता दें कि जूनागढ़ में ऊपरकोट का किला बेहद महत्वपूर्ण है और यह सैकड़ों साल पुराना है। साल 2020 में गुजरात सरकार ने इसकी मरम्मत कराई थी।

संदेश समाचार की एक रिपोर्ट के मुताबिक, घटना रविवार (15 अक्टूबर 2023) की है। जूनागढ़ के ऐतिहासिक किले ऊपरकोट में आदि कड़ी वाव (कुआँ) के पास 8 लोगों ने सार्वजनिक तौर पर नमाज पढ़ी। इसके बाद उस घटना की तस्वीरें और वीडियो वायरल हो गए।

इस घटना के बाद पुलिस भी हरकत में आ गई है और मामला दर्ज करके जाँच शुरू कर दी है। जानकारी के मुताबिक, ऊपरकोट किले में नमाज पढ़ने की घटना को लेकर पुलिस ने किला प्रबंधन से सीसीटीवी फुटेज माँगी है, लेकिन प्रबंधन ने फुटेज देने से इनकार कर दिया।

बजरंग दल ने किया तीखा विरोध, लगाया लैंड जिहाद का आरोप

मुस्लिमों द्वारा ऐतिहासिक स्थल ऊपरकोट में नमाज पढ़कर शांति भंग करने के प्रयास में बजरंग दल ने कड़ा विरोध दर्ज कराया है। बजरंग दल ने ऊपरकोट में बुधवार (18 अक्टूबर) शाम 6 बजे सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ करने का ऐलान किया है और लोगों से बड़ी संख्या में जुटने का अनुरोध किया है।

बजरंग दल के गुजरात क्षेत्र के समन्वयक भावेश ठक्कर ने कहा, “जूनागढ़ के भीतर एक ऐतिहासिक विरासत स्थल ऊपरकोट में आदि कड़ी वावनी के पास जिहादी विचारधारा वाले क्षेत्रवादियों द्वारा भूमि जिहाद शुरू किया गया है। बजरंग दल ऊपरकोट के अंदर सार्वजनिक स्थान पर नमाज पढ़ने की मानसिकता का पुरजोर विरोध करता है।”

महाराजा सयाजीराव यूनिवर्सिटी में कई ऐसे मामले

गौरतलब है कि जिस तरह जूनागढ़ में सार्वजनिक तौर पर नमाज पढ़ने की तस्वीरें वायरल हुई हैं, उसी तरह वडोदरा के महाराजा सयाजीराव यूनिवर्सिटी (MSU) से भी ऐसे ही वीडियो सामने आए थे। इससे पहले भी विश्वविद्यालय में ऐसी कई घटनाएँ सामने आ चुकी हैं। कई को लेकर बवाल हुआ था।

इससे कुछ समय पहले ही एमएसयू से ऐसी ही एक और घटना सामने आई थी, जिसमें जालीदार टोपी पहने तीन मुस्लिम युवक शिव मंदिर के पास सार्वजनिक रूप से नमाज/दुआ पढ़ रहे थे। इस घटना का वीडियो भी वायरल हो गया था। उससे पहले चादर ओढ़े एक छात्रा संस्कृत फैकल्टी के पास नमाज पढ़ते देखी गई थी।

जूनागढ़ में मुस्लिमों ने पुलिस पर हमला कर दिया

बता दें कि जूनागढ़ में 16 जून 2023 को हिंसा भड़क गई थी। इस दौरान करीब 500 मुस्लिमों की भीड़ ने पुलिस पर हमला कर दिया था। दरअसल, जूनागढ़ नगर निगम ने माजेवाडी गेट के पास स्थित मंदिरों और दरगाह समेत आठ धार्मिक स्थानों को नोटिस भेजा था, नोटिस मिलने के बाद मुस्लिम समुदाय ने रात 10 बजे के आसपास पुलिस पर हमला कर दिया।

इस दौरान उन्मादी भीड़ ने आसपास के वाहनों को निशाना बनाया था। भीड़ ने बस पर पथराव भी किया था। हिंसा में एक हिंदू की मौत हो गई, जबकि चार पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। इस दौरान ‘पुलिसवालों को मार दो, सब जला दो, कोई जिंदा न बचे’ जैसे नारे लगाए जा रहे थे। जूनागढ़ हिंसा पर ऑपइंडिया की पूरी कवरेज यहाँ पढ़ी जा सकती है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

‘लैंड जिहाद और लव जिहाद को बढ़ावा दे रही हेमंत सोरेन की सरकार’: झारखंड में गरजे अमित शाह, कहा – बिगड़ रहा जनसंख्या का...

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर 'भूमि जिहाद', 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए उन पर तीखा हमला किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -