Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाज'बलात्कार, अप्राकृतिक यौन संबंध और जबरन धर्मांतरण': लव जिहाद की शिकार महिला ने माँगी...

‘बलात्कार, अप्राकृतिक यौन संबंध और जबरन धर्मांतरण’: लव जिहाद की शिकार महिला ने माँगी बेंगलुरु पुलिस से मदद, कहा- मेरी जान खतरे में

"कश्मीरी आदमी फेसबुक पर दोस्त बना, पैसे ले लिए और अब जब मैंने पैसे वापस माँगे तो वह मुझे नुकसान पहुँचाने की धमकी दे रहा है। बाद में मुझसे शादी करने का भरोसा दिलाकर पैसे माँगता रहा। मेरी मदद करें।"

एक महिला ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स का सहारा लेते हुए पोस्ट कर दावा किया कि वह लव जिहाद और यौन शोषण की शिकार है और उसने खुद को खतरे में बताते हुए पुलिस से मदद माँगी। कर्नाटक पुलिस के अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी कि मामले का संज्ञान लेकर जाँच शुरू कर दी गई है।

दरअसल, महिला ने सोशल मीडिया एक्‍स पर पोस्‍ट किया, “सर, मैं लव जिहाद, बलात्कार, अप्राकृतिक यौन संबंध और जबरन धर्म परिवर्तन का शिकार हूँ। कृपया मुझे बेंगलुरु में तुरंत पुलिस सहायता प्रदान करें क्योंकि मेरी जान खतरे में है।”

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कर्नाटक पुलिस ने महिला के पोस्ट का संज्ञान लेते हुए उससे संपर्क किया और उसे आश्वासन दिया कि प्राथमिकी दर्ज करने के बाद आरोपित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस ने लिया तुरंत एक्शन

बता दें कि सोशल मीडिया पर किये गए पोस्ट में बेंगलुरु पुलिस, कर्नाटक डीजीपी और प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग किया गया है।  बेंगलुरु पुलिस ने पीड़िता से आवश्यक कार्रवाई के लिए संबंधित पुलिस अधिकारियों को शिकायत दर्ज करने और उसे तत्काल मदद पहुँचाने के लिए अपना पता देने को कहा था।

वहीं पीड़िता ने गुरुवार (7 सितम्बर, 2023) को पोस्ट करते हुए बेंगलुरु के डीसीपी को धन्यवाद दिया। पोस्ट में लिखा है, “धन्यवाद, मैं पुलिस इंस्पेक्टर के संपर्क में हूँ और वह मेरी FIR  को प्राथमिकता दे रहे हैं।  मुझे और मेरे परिवार की सुरक्षा का आश्वासन दिया गया है।”

पीड़िता ने पहले भाजपा अल्पसंख्यक नेता, राज्य समिति सदस्य नाज़िया इलाही खान को भी कई पोस्ट टैग किए थे। पीड़िता ने पोस्ट किया, “मैं लव जिहाद पीड़िता हूँ, क्या आप कृपया मेरा मामला सुन सकती हैं और मेरा केस लड़ सकती हैं।”

पीड़िता ने आगे नाजिया इलाही खान से अपना मेल देखने की अपील की। एक दूसरे पोस्ट में महिला ने कहा, “कश्मीरी आदमी फेसबुक पर दोस्त बना, पैसे ले लिए और अब जब मैंने पैसे वापस माँगे तो वह मुझे नुकसान पहुँचाने की धमकी दे रहा है। बाद में मुझसे शादी करने का भरोसा दिलाकर पैसे माँगता रहा। मेरी मदद करें, मुझे कश्मीर पुलिस से कोई मदद नहीं मिल रही है।”

पीड़िता ने आगे कहा कि मैं मीडिया की कोई दखलअंदाजी नहीं चाहती। पुलिस अच्छी तरह से देखभाल कर रही है। वहीं इस मामले में पुलिस पीड़िता के संपर्क में है और जाँच जारी है।

गौरतलब है कि पीड़िता ने 17 नवंबर 2022 को भी तत्कालीन बेंगलुरु पुलिस कमिश्नर और वर्तमान भाजपा नेता भास्कर राव को भी एक पोस्ट में कहा था, “अगर मैं कहूँ कि एक हिंदू लड़की से शादी का वादा किया गया और फिर एक कश्मीरी मुस्लिम लड़के ने उसे छोड़ दिया तो क्या आप मदद करेंगे?”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20000 महिलाओं को रेप-मौत से बचाने के लिए जब कॉन्ग्रेसी मंत्री ने RSS से माँगी थी मदद: एक पत्र में दर्ज इतिहास, जिसे छिपा...

पत्र में कहा गया था कि आरएसएस 'फील्ड वर्क' के लिए लोगों को अत्यधिक प्रशिक्षित करेगा और संघ प्रमुख श्री गोलवर्कर से परामर्श लिया जा सकता है।

कागज तो दिखाना ही पड़ेगा: अमर, अकबर या एंथनी… भोले के भक्तों को बेचना है खाना, तो जरूरी है कागज दिखाना – FSSAI अब...

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि कांवड़ रूट में नाम दिखने पर रोक लगाई जा रही है, लेकिन कागज दिखाने पर कोई रोक नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -