Friday, August 6, 2021
Homeदेश-समाज'ला इलाहा इल्लल्लाह' वाली आयशा को 'शेरनी' बता रही जावेद अख्तर की बेटी जोया,...

‘ला इलाहा इल्लल्लाह’ वाली आयशा को ‘शेरनी’ बता रही जावेद अख्तर की बेटी जोया, खुलकर कर रही प्रोमोट

"जामिया मिलिया इस्लामिया में एक इतिहास की छात्रा एक युवक को बचाने के लिए कवच की तरह खड़ी हुई और बर्बर सेना से उसे बचाया। बिलकुल शीरो (हीरो का स्त्रीलिंग) की तरह। उसकी दहाड़ एक दम साफ और स्पष्ट थी।"

नागरिकता संशोधन कानून के ख़िलाफ जामिया के समर्थन में पुलिस को कानून समझाने पर अपनी फजीहत करवाने वाले संगीतकार जावेद अख्तर इन दिनों चुप हैं। लेकिन उनकी बेटी और भारतीय फिल्म निर्देशक जोया अख्तर गुप-चुप तरह से जामिया हिंसा में उभर के आई कट्टरपंथी आयशा रेना को समर्थन दे रही हैं और साथ ही अपने प्रोडक्शन हाउस ‘टाइगर बेबी फिल्म्स’ के जरिए उसकी पब्लिसिटी भी कर रही हैं।

जी हाँ। जोया अख्तर के प्रोडक्शन हाउस टाइगर बेबी फिल्म के इंस्टाग्राम पर आयशा का एक पोस्टर कुछ दिनों पहले यानी 13 जनवरी को अपलोड किया गया था। जिसमें उसे टायगरेस आयशा रेना (शेरनी आयशा रेना) बताया गया। इस पोस्टर के कैप्शन में टाइगर बेबी फिल्म की ओर से शरजील इमाम का समर्थन करने वाली आयशा को निर्भीक, दृढ़ निश्चयी, अजेय बताया गया।

साथ ही उसकी तारीफ में जोया के प्रोडक्शन हाउस की ओर से लिखा गया कि जामिया मिलिया इस्लामिया में एक इतिहास की छात्रा एक युवक को बचाने के लिए कवच की तरह खड़ी हुई और बर्बर सेना से उसे बचाया। बिलकुल शीरो (हीरो का स्त्रीलिंग) की तरह। उसकी दहाड़ एक दम साफ और स्पष्ट थी।

गौरतलब है कि जिस आयशा रेना को नायिका बनाने के लिए जावेद अख्तर की बिटिया जोया अख्तर ने अपना प्रोडक्शन हाउस का इस्तेमाल करके खुद की मंशा और पक्ष को पेश किया, वो निहायती कट्टपंथी विचारों में डूबी हुई लड़की है। जिसने एक समय में आतंकी याकूब मेमन के लिए इंसाफ की माँग उठाई थी और अब देश से असम को काटने की बात करने वाले उस शरजील इमाम के लिए आवाज़ उठा रही है, जिस पर देशद्रोह का केस दर्ज हुआ है।

जोया अख्तर से पहले बरखा दत्त सहित कई पत्रकारों ने आयशा के साथ उसकी सहेली लदीदा को हाइलाइट किया था। इसके लिए पूरा का पूरा ड्रामा रचा गया था, जिसमें एक उपद्रवी को बसाने के लिए दोनों युवतियों ने पुलिस से झड़प की थी और पूरी घटना को हाई क्वालिटी के कैमरे से शूट किया गया था।

‘शरजील इमाम के खिलाफ सभी केस वापस लो’ – बरखा दत्त की Sheroes उतरीं ‘देशद्रोही’ के समर्थन में

‘लीगल एक्सपर्ट’ जावेद अख्तर की बोलती बंद, जामिया पर IPS अधिकारी ने पूछा- हमें भी बताएँ एक्ट

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,173FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe