जम्मू में 2G इंटरनेट सेवा शुरू, श्रीनगर में लैंडलाइन सेवा बहाल

जम्मू-कश्मीर के 22 ज़िलों में से 12 ज़िलों में आम जनजीवन अब सामान्य हो गया है। केवल पाँच ज़िले ऐसे हैं जहाँ रात में पाबंदियाँ लगाई जा रही हैं।

जम्मू-कश्मीर में आज शनिवार (17 अगस्त) से फोन सेवाएँ शुरू हो गई हैं। जम्मू में 2G स्पीड के साथ इंटरनेट सेवा शुरू हो गई है। वहीं कश्मीर के श्रीनगर के राजबाग क्षेत्र में लैंडलाइन सेवा शुरू कर दी गई है। फ़िलहाल, कश्मीर में इंटरनेट सेवा शुरू नहीं हुई है।

ख़बर के अनुसार, जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 के प्रावधानों को हटाए जाने के बाद जो प्रतिबंध लगाए गए थे उन्हें चरणबद्ध तरीक़े से हटाया जाएगा। फ़िलहाल, जम्मू, रियासी ज़िले, सांबा, कठुआ और उधमपुर में 2G इंटरनेट सेवा शुरू कर दी गई है। राज्य के मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रमण्यम ने शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए कहा था कि सप्ताह के अंत तक कश्मीर घाटी के सभी स्कूल और कॉलेज खुल जाएँगे और दूरसंचार लिंक भी धीरे-धीरे बहाल हो जाएँगे।

अधिकारी ने इस बात की भी जानकारी दी कि बीते 12 दिनों से लॉकडाउन के दौरान कश्मीर घाटी में किसी व्यक्ति की जान नहीं गई है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा निष्प्रभावी किए जाने के बाद घाटी में प्रदर्शनों के दौरान मौत व गंभीर रूप से घायल होने की बात का खंडन किया। उनका कहना है कि पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे पर भारत के ख़िलाफ़ अंतरराष्ट्रीय सहानुभूति हासिल करने के लिए विदेशी मीडिया रिपोर्टस का इस्तेमाल कर रहा है। इसके साथ ही उन्होंने यह स्पष्ट किया कि जल्द ही प्रतिबंधों को हटा लिया जाएगा और जीवन पूरी तरह से सामान्य हो जाएगा।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

ख़बर के अनुसार, जम्मू-कश्मीर के 22 ज़िलों में से 12 ज़िलों में आम जनजीवन अब सामान्य हो गया है। केवल पाँच ज़िले ऐसे हैं जहाँ रात में पाबंदियाँ लगाई जा रही हैं। बीते शुक्रवार (16 अगस्त) को जुमे की नमाज़ के बाद भी पूरे राज्य में शातिंपूर्ण माहौल रहा।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

नीरज प्रजापति, हेमंत सोरेन
"दंगाइयों ने मेरे पति को दौड़ा कर उनके सिर पर रॉड से वार किया। इसके बाद वो किसी तरह भागते हुए घर पहुँचे। वहाँ पहुँच कर उन्होंने मुझे सारी बातें बताईं। इसके बाद वो अचानक से बेहोश हो गए।" - क्या मुख्यमंत्री सोरेन सुन रहे हैं मृतक की पत्नी की दर्द भरी आवाज़?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

145,306फैंसलाइक करें
36,933फॉलोवर्सफॉलो करें
166,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: