Monday, July 15, 2024
HomeराजनीतिCM की कुर्सी औरत के बराबर, जिस पर बैठेंगे AAP के मुख्यमंत्री: वायरल वीडियो...

CM की कुर्सी औरत के बराबर, जिस पर बैठेंगे AAP के मुख्यमंत्री: वायरल वीडियो पर आम आदमी पार्टी को गाली

"कोई आश्चर्य नहीं कि उनके पास दिल्ली में एक भी नेता महिला और मंत्री नहीं हैं। वे हर रोज खुद को एक्सपोज करते हैं। महिलाओं को ऑब्जेक्टिफाई करना बंद करो।"

आम आदमी पार्टी ने भगवंत मान को पंजाब में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया। इसके बाद पार्टी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किया गया एक वीडियो अब तेजी से वायरल हो रहा है। AAP के ट्विटर अकाउंट पर यह वीडियो 17 जनवरी को पोस्ट किया गया है। इस वीडियो में बॉलीवुड के एक गाने के जरिए मीम बनाकर पार्टी के भगवंत मान की एंट्री दिखाई गई है।

AAP की ओर से शेयर किए गए इस वीडियो में फिल्म ‘हे बेबी’ के ‘मस्त कलंदर’ गाने का एक मीम बनाकर भगवंत मान को मुख्यमंत्री का चेहरा बताया गया है। गाने में शाहरुख खान को भगवंत मान के तौर पर दिखाया गया है और विद्या बालन को सीएम की कुर्सी के तौर पर दिखाया गया है। वहीं गाने में अक्षय कुमार को चरणजीत सिंह चन्नी और रितेश देशमुख को नवजोत सिंह सिद्धू के तौर पर दिखाया गया है। इसके साथ ही इस मीम में अरविंद केजरीवाल और राहुल गाँधी को भी दिखाया गया है।

आम आदमी पार्टी ने नवजोत सिंह सिद्धू, पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल, कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी और अंत में, अपने मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार भगवंत मान के साथ अभिनेताओं के चेहरों की अदला-बदली करके गाने को एक ‘हास्यपूर्ण’ मोड़ देने की कोशिश की है। 

0.39 सेकेंड के वीडियो में सीएम के सभी दावेदारों को विद्या बालन के इर्द-गिर्द नाचते हुए दिखाया गया है, जिसे सीएम की कुर्सी के रूप में दिखाया गया है। क्लिप के अंत में आप के उम्मीदवार भगवंत मान की शानदार एंट्री होती है। उनका ‘पंजाब के लोगों’ द्वारा गर्मजोशी से स्वागत किया जाता है और वह अंततः सीएम की कुर्सी (विद्या बालन) पर जीत हासिल कर लेते हैं।

फिल्म के गाने का असली वर्जन यहाँ देखा जा सकता है:-

महिला को ऑब्जेक्टिफाई करने पर AAP को लताड़

विद्या बालन को सीएम की कुर्सी के तौर पर दिखाने पर लोगों ने इस पर तीखे कमेंट्स किए हैं। ज्यादातर लोगों ने इसे महिला का अपमान बताया है। कॉन्ग्रेस नेता बीवी श्रीनिवास (Srinivas BV) ने लिखा, “एक महिला को मुख्यमंत्री की कुर्सी के तौर पर दिखाना बेहद शर्मनाक है।”

पंजाब कॉन्ग्रेस ने लिखा, “कोई आश्चर्य नहीं कि उनके पास दिल्ली में एक भी नेता महिला और मंत्री नहीं हैं। वे हर रोज खुद को एक्सपोज करते हैं। महिलाओं को ऑब्जेक्टिफाई करना बंद करो।”

कई अन्य सोशल मीडिया यूजर्स ने भी AAP पर तीखे कमेंट्स किए।

यहाँ तक ​​कि ‘लिबरलों’ ने भी वीडियो को लेकर AAP पर निशाना साधा।

हालाँकि, सबसे मजेदार बात यह है कि फिल्म में विद्या बालन अंत में अक्षय कुमार (जिसे चन्नी दिखाया गया है) के पास लौटती है, न कि शाहरुख खान के पास, जिसे भगवंत मान के रूप में चित्रित किया गया है। इस फैक्ट पर प्रकाश डालते हुए, कई नेटिज़न्स ने चुटकी ली कि जैसे फिल्म में शाहरुख खान केवल एक कैमियो के तौर पर आते हैं और अक्षय कुमार (पंजाब के वर्तमान सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के रूप में दिखाया गया है) असल में विद्या बालन पर जीत हासिल करते हैं, जिसे सीएम की कुर्सी के रूप में दिखाया गया है। उसी तरह अंत में, चन्नी राज्य में अपना सत्ता बरकरार रखेंगे।

उल्लेखनीय है कि आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार (18 जनवरी 2022) को ऐलान किया कि पंजाब विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Election) में भगवंत मान (CM Candidate Bhagwant Mann) पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे। मान, संगरूर से दो बार के लोकसभा सांसद और पार्टी की राज्य इकाई के प्रमुख हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

मंगलौर के बहाने समझिए मुस्लिमों का वोटिंग पैटर्न: उत्तराखंड की जिस विधानसभा से आज तक नहीं जीता कोई हिन्दू, वहाँ के चुनाव परिणामों से...

मंगलौर में हाल के विधानसभा उपचुनावों में कॉन्ग्रेस ने भाजपा को हराया। इस चुनाव में मुस्लिम वोटिंग का पैटर्न भी एक बार फिर साफ़ हो गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -