Tuesday, July 16, 2024
Homeराजनीति'तब के विदेशी मंत्री सलमान खुर्शीद ने दिलवाया था वीजा': जामा मस्जिद इमाम से...

‘तब के विदेशी मंत्री सलमान खुर्शीद ने दिलवाया था वीजा’: जामा मस्जिद इमाम से भी मिला था हामिद अंसारी का ‘ISI वाला मेहमान’, भारत में ‘जासूसी’

एक तस्वीर सामने आई है, जिसमें जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी झुक कर इस पत्रकार का अभिवादन कर रहे हैं।

पाकिस्तान के कॉलमनिस्ट नुसरत मिर्जा ने हाल ही में खुलासा किया कि कैसे वो उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी का मेहमान बन कर भारत आया था और उसने यहाँ पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी ISI के लिए सूचनाएँ इकट्ठी की। अब वो तस्वीरें सामने आई हैं, जिनमें वो कई कार्यक्रमों में भाग लेते हुए दिखाई दे रहा है। उसने ये भी खुलासा किया कि तत्कालीन केंद्रीय विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने उसे वीजा दिलवाया था। उस समय केंद्र में यूपीए की सरकार थी और कॉन्ग्रेस नेता मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री हुआ करते थे।

2007 और 2010 के बीच उसने अलीगढ़ और दिल्ली में आयोजित कार्यक्रमों में भाग लिया था। दिल्ली के ओबेरॉय इंटरनेशनल होटल में उसने आतंकवाद के खिलाफ आयोजित एक सम्मेलन में भाषण भी दिया था। ये कार्यक्रम 27 अक्टूबर, 2009 को हुआ था। इससे एक साल पहले मुंबई में ताज होटल सहित कई इलाकों में पाकिस्तानी आतंकियों ने कहर बरपाया था। एक तस्वीर सामने आई है, जिसमें जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी झुक कर इस पत्रकार का अभिवादन कर रहे हैं।

‘आज तक’ ने इन तस्वीरों को लेकर अपनी रिपोर्ट में कई खुलासे किए हैं। याह्या बुखारी भी इस दौरान उसके साथ दिख रहे हैं। इस कार्यक्रम को ‘जामा मस्जिद यूनाइटेड फोरम’ ने आयोजित किया था, जिसमें तत्कालीन उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी के अलावा दिग्गज कॉन्ग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद भी मौजूद थे। नुसरत मिर्जा ने 2007 और 2010 में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) के कैनेडी ऑडिटोरियम में ‘स्टूडेंट सेमिनार’ में भी बतौर गेस्ट एक लेक्चर दिया था।

‘मिर्जा फाउंडेशन’ की वेबसाइट पर भी ये तस्वीरें उपलब्ध हैं। नुसरत मिर्जा ने बताया कि आम तौर पर वीजा के लिए अप्लाई करने पर तीन शहरों में ही जाने की इजाजत मिलती थी, लेकिन सलमान खुर्शीद कसूरी की मदद से उसने 7 जगहों का दौरा किया। उस दौरान वो भारत के विदेश मंत्री हुआ करते थे। 2010 में वो जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में एक कार्यक्रम में भी आया था। 2011 में वो ‘मिली गैजेट’ के जफरुल इस्लाम से मिला था, जिसे अरविंद केजरीवाल ने बतौर दिल्ली का मुख्यमंत्री दिल्ली में बड़ा पद दिया था।

हामिद अंसारी को लकेर नुसरत मिर्जा ने यूट्यूब पर किए थे खुलासे

पाकिस्तानी पत्रकार और YouTuber शकील चौधरी को रविवार (10 जुलाई, 2022) को दिए इंटरव्यू में नुरसत मिर्जा ने दावा किया कि उन्होंने 2005 से 2011 के बीच भारत दौरे के दौरान पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) के लिए कई जानकारियाँ एकत्र की थीं। उन्हें पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी और ‘मिल्‍ली गैजेट’ अखबार के मालिक जफरुल इस्लाम खान ने भारत में आमंत्रित किया था। सोशल मीडिया में उनका ये इंटरव्यू खूब वायरल हो रहा है।

इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया, “मैंने पाँच बार भारत की यात्रा की। 2005 में चंडीगढ़ का दौरा किया और 2006 में हैदराबाद, बेंगलुरु और चेन्नई का दौरा किया। इसके बाद मैंने कोलकाता, पटना और अन्य स्थानों का दौरा किया।” उनके शब्दों में, “2010 में मुझे पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने आतंकवाद पर हुए एक सेमिनार में आमंत्रित किया था। हालाँकि मैं मानता हूँ कि हम भी बहुत बड़े एक्सपर्ट नहीं हैं, लेकिन हम मुगल हैं। हमने सदियों तक भारत पर राज किया है। मैं उनकी संस्कृति को समझता हूँ। हम वहाँ के हालात से अच्छी तरह वाकिफ हैं।”

उसने आगे कहा था, “हम उनकी कमजोरियों के बारे में भी जानते हैं, लेकिन मसला ये है कि मैंने भारत के बारे में जो भी जानकारी इकट्ठा की थीं, उसका इस्तेमाल पाकिस्तान में अच्छे नेतृत्व की कमी के कारण नहीं हो रहा है। पाकिस्तान में ऐसा कोई शख्स नहीं है, जो मेरे तर्जुबे से इत्‍तेफाक रखे। क्या आप जानते हैं कि पाकिस्तान में क्या समस्या है? जब कोई नया चीफ आता है, तो वह पिछले चीफ द्वारा किए गए सभी कार्यों को दरकिनार कर नए सिरे से कार्य शुरू करता है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

किसानों के प्रदर्शन से NHAI का ₹1000 करोड़ का नुकसान, टोल प्लाजा करने पड़े थे फ्री: हरियाणा-पंजाब में रोड हो गईं थी जाम

किसान प्रदर्शन के कारण NHAI को ₹1000 करोड़ से अधिक का नुकसान झेलना पड़ा। यह नुकसान राष्ट्रीय राजमार्ग 44 और 152 पर हुआ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -