Thursday, July 18, 2024
Homeराजनीति'राहुल, प्रियंका को अनुभव नहीं, विधानसभा चुनाव में सिद्धू के खिलाफ खड़ा करूँगा मजबूत...

‘राहुल, प्रियंका को अनुभव नहीं, विधानसभा चुनाव में सिद्धू के खिलाफ खड़ा करूँगा मजबूत उम्मीदवार’: कैप्टेन अमरिंदर सिंह

''सिद्धू को पंजाब का सीएम उम्मीदवार बनने से रोकने के लिए वह पूरी ताकत लगा देंगे। कैप्टन ने सिद्धू को खतरनाक आदमी बताते हुए कहा कि ऐसे लोगों से देश को बचाने की जरूरत है। मैं राज्य को ऐसे खतरनाक आदमी से बचाने के लिए कोई भी कदम उठाने को तैयार हूँ।''

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बुधवार (22 सितंबर 2021) को कॉन्ग्रेस पार्टी के नेताओं पर हमला बोला। उन्होंने कहा, “कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी वाड्रा में अनुभव की कमी है।” अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह आगामी विधानसभा चुनावों में राज्य के कॉन्ग्रेस चीफ नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ एक मजबूत उम्मीदवार खड़ा करेंगे।

पूर्व सीएम ने कहा, ”सिद्धू को पंजाब का सीएम उम्मीदवार बनने से रोकने के लिए वह पूरी ताकत लगा देंगे। कैप्टन ने सिद्धू को खतरनाक आदमी बताते हुए कहा कि ऐसे लोगों से देश को बचाने की जरूरत है। उन्होंने कहा, ”वह राज्य को ऐसे खतरनाक आदमी से बचाने के लिए कोई भी कदम उठाने को तैयार हैं।”

अमरिंदर सिंह ने एक इंटरव्यू में कहा, ”प्रियंका गाँधी और राहुल गाँधी मेरे बच्चे जैसे हैं। कोई चीज ऐसे नहीं खत्म होनी चाहिए। मैं आहत हूँ।” उन्होंने कहा कि राहुल और प्रियंका अनुभवी नहीं हैं। उनके सलाहकार उन्हें गुमराह कर रहे हैं।

कैप्टन ने खुलासा किया कि उन्होंने कॉन्ग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी को 3 हफ्ते पहले ही अपने इस्तीफे की पेशकश कर दी थी, लेकिन उन्होंने उन्हें पद पर बने रहने को कहा था। पूर्व सीएम ने कहा, ”अगर वह मुझे बुलाकर इस्तीफा देने के लिए कहतीं तो मैं तुरंत इस्तीफा दे देता।” उन्होंने आगे कहा कि बतौर एक फौजी मुझे पता है कि कैसे काम करना है और कैसे वापस आना है।

उन्होंने एक बयान में कहा, “मैं विधायकों को गोवा या कहीं और फ्लाइट में नहीं ले जाता। मैं इस तरह से काम नहीं करता। मैं नौटंकी नहीं करता और दोनों भाई-बहन जानते हैं कि यह मेरा तरीका नहीं है।”

अमरिंदर सिंह ने हाल ही में प्रदेश कॉन्ग्रेस में अंदरूनी कलह के बीच पंजाब के सीएम पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने कॉन्ग्रेस आलाकमान से कहा था कि वो अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने राजभवन जाकर पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित को अपना इस्तीफा सौंपा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -