Monday, May 20, 2024
HomeराजनीतिTMC के हिंसा से पीड़ित असम पहुँचे सैकड़ों BJP कार्यकर्ताओं को हेमंत बिस्वा सरमा...

TMC के हिंसा से पीड़ित असम पहुँचे सैकड़ों BJP कार्यकर्ताओं को हेमंत बिस्वा सरमा ने दो शिविरों में रखा, दी सभी आवश्यक सुविधाएँ

असम में भाजपा सांसद राजदीप रॉय ने धुबरी जिले के आगमनी में स्थापित राहत शिविरों का दौरा किया। उन्होंने ट्विटर के माध्यम से सूचना दी कि राहत शिविर में लगभग 600 लोगों को आश्रय दिया गया है जिनमें महिलाएँ और बच्चे प्रमुख रूप से शामिल हैं। रॉय ने बताया कि असम भाजपा इन राहत शिविरों में भोजन और आवश्यक सामग्रियों की व्यवस्था की गई है।

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों के परिणाम घोषित होने के बाद शुरू हुई TMC के गुंडों की हिंसा के कारण भाजपा कार्यकर्ताओं का बंगाल से पलायन जारी है। असम के मंत्री और भाजपा नेता हेमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट करके जानकारी दी कि बंगाल छोड़कर असम आने वाले कई लोगों को राहत शिविरों में रखा गया है और उन्हें सहायता उपलब्ध कराई जा रही है।

हेमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट करके जानकारी दी कि बंगाल में भय के वातावरण के कारण जारी पलायन के बीच असम पहुँचे 450 से अधिक लोगों को धुबरी में दो राहत शिविरों में रखा गया है और उन्हें आवश्यक सुविधाएँ मुहैया कराई जा रही हैं। इसके अलावा सरमा ने बताया कि सभी लोगों का कोविड टेस्ट भी कराया जा रहा है। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की आलोचना करते हुए सरमा ने कहा कि ममता सिर्फ लोगों के दुःख को बढ़ा रही हैं जो कि शर्मनाक है।

असम में भाजपा सांसद राजदीप रॉय ने धुबरी जिले के आगमनी में स्थापित राहत शिविरों का दौरा किया। उन्होंने ट्विटर के माध्यम से सूचना दी कि राहत शिविर में लगभग 600 लोगों को आश्रय दिया गया है जिनमें महिलाएँ और बच्चे प्रमुख रूप से शामिल हैं। रॉय ने बताया कि असम भाजपा इन राहत शिविरों में भोजन और आवश्यक सामग्रियों की व्यवस्था कर रही है।

असम भाजपा अध्यक्ष रंजीत कुमार दास ने भी बंगाल से पलायन करके असम आए लोगों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि बंगाल में अपनी जान के खतरे को देखते हुए सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ता असम पहुँच गए हैं। उन्होंने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हो रहे अत्याचार को रोकने की माँग की और कहा कि भाजपा कार्यकर्ता तब तक असम में रह सकते हैं जब तक कि वो बंगाल में सुरक्षित न महसूस करें।

मालूम हो कि 2 मई 2021 को तृणमूल कॉन्ग्रेस ने पश्चिम बंगाल में बहुमत लेकर दोबारा सत्ता वापसी की, वहीं भाजपा ने 77 सीटें जीतीं। इस दौरान ममता बनर्जी सुवेंदु अधिकारी से हार गईं। इसी के बाद से वहाँ लगातार भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले होने लगे। किसी को बेरहमी से प्रताड़ित किया गया तो किसी की हत्या कर दी गई। इसके बाद से भाजपा कार्यकर्ता बंगाल छोड़कर असम की ओर पलायन कर रहे हैं।

हत्या, हिंसा, आगजनी का आरोप टीएमसी के गुंडों पर लगा है। रविवार (मई 2, 2021) को अभिजीत सरकार नामक एक भाजपा कार्यकर्ता ने TMC के गुंडों की हरकतों के बारे में बताया। उसके कुछ ही देर बाद उनकी हत्या कर दी गई।

इसी के बाद से पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों से लगातार भाजपा कार्यकर्ताओं के विरुद्ध हिंसा की खबरें आ रही हैं। इसके अलावा हिन्दू देवी-देवताओं की मूर्तियों को भी हिंसा में निशाना बनाया जा रहा है। नेटवर्क 18 के पत्रकार ने दावा किया था कि बंगाल में बीएसएफ जवानों के घर पर भी हमले किए गए हैं और टीएमसी के गुंडों ने तोड़फोड़, आगजनी और मारपीट की।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत में 1300 आइलैंड्स, नए सिंगापुर बनाने की तरफ बढ़ रहा देश… NDTV से इंटरव्यू में बोले PM मोदी – जमीन से जुड़ कर...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आँकड़े गिनाते हुए जिक्र किया कि 2014 के पहले कुछ सौ स्टार्टअप्स थे, आज सवा लाख स्टार्टअप्स हैं, 100 यूनिकॉर्न्स हैं। उन्होंने PLFS के डेटा का जिक्र करते हुए कहा कि बेरोजगारी आधी हो गई है, 6-7 साल में 6 करोड़ नई नौकरियाँ सृजित हुई हैं।

कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपने ही अध्यक्ष के चेहरे पर पोती स्याही, लिख दिया ‘TMC का एजेंट’: अधीर रंजन चौधरी को फटकार लगाने के बाद...

पश्चिम बंगाल में कॉन्ग्रेस का गठबंधन ममता बनर्जी के धुर विरोधी वामदलों से है। केरल में कॉन्ग्रेस पार्टी इन्हीं वामदलों के साथ लड़ रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -