Friday, October 22, 2021
HomeराजनीतिTMC के हिंसा से पीड़ित असम पहुँचे सैकड़ों BJP कार्यकर्ताओं को हेमंत बिस्वा सरमा...

TMC के हिंसा से पीड़ित असम पहुँचे सैकड़ों BJP कार्यकर्ताओं को हेमंत बिस्वा सरमा ने दो शिविरों में रखा, दी सभी आवश्यक सुविधाएँ

असम में भाजपा सांसद राजदीप रॉय ने धुबरी जिले के आगमनी में स्थापित राहत शिविरों का दौरा किया। उन्होंने ट्विटर के माध्यम से सूचना दी कि राहत शिविर में लगभग 600 लोगों को आश्रय दिया गया है जिनमें महिलाएँ और बच्चे प्रमुख रूप से शामिल हैं। रॉय ने बताया कि असम भाजपा इन राहत शिविरों में भोजन और आवश्यक सामग्रियों की व्यवस्था की गई है।

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों के परिणाम घोषित होने के बाद शुरू हुई TMC के गुंडों की हिंसा के कारण भाजपा कार्यकर्ताओं का बंगाल से पलायन जारी है। असम के मंत्री और भाजपा नेता हेमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट करके जानकारी दी कि बंगाल छोड़कर असम आने वाले कई लोगों को राहत शिविरों में रखा गया है और उन्हें सहायता उपलब्ध कराई जा रही है।

हेमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट करके जानकारी दी कि बंगाल में भय के वातावरण के कारण जारी पलायन के बीच असम पहुँचे 450 से अधिक लोगों को धुबरी में दो राहत शिविरों में रखा गया है और उन्हें आवश्यक सुविधाएँ मुहैया कराई जा रही हैं। इसके अलावा सरमा ने बताया कि सभी लोगों का कोविड टेस्ट भी कराया जा रहा है। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की आलोचना करते हुए सरमा ने कहा कि ममता सिर्फ लोगों के दुःख को बढ़ा रही हैं जो कि शर्मनाक है।

असम में भाजपा सांसद राजदीप रॉय ने धुबरी जिले के आगमनी में स्थापित राहत शिविरों का दौरा किया। उन्होंने ट्विटर के माध्यम से सूचना दी कि राहत शिविर में लगभग 600 लोगों को आश्रय दिया गया है जिनमें महिलाएँ और बच्चे प्रमुख रूप से शामिल हैं। रॉय ने बताया कि असम भाजपा इन राहत शिविरों में भोजन और आवश्यक सामग्रियों की व्यवस्था कर रही है।

असम भाजपा अध्यक्ष रंजीत कुमार दास ने भी बंगाल से पलायन करके असम आए लोगों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि बंगाल में अपनी जान के खतरे को देखते हुए सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ता असम पहुँच गए हैं। उन्होंने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हो रहे अत्याचार को रोकने की माँग की और कहा कि भाजपा कार्यकर्ता तब तक असम में रह सकते हैं जब तक कि वो बंगाल में सुरक्षित न महसूस करें।

मालूम हो कि 2 मई 2021 को तृणमूल कॉन्ग्रेस ने पश्चिम बंगाल में बहुमत लेकर दोबारा सत्ता वापसी की, वहीं भाजपा ने 77 सीटें जीतीं। इस दौरान ममता बनर्जी सुवेंदु अधिकारी से हार गईं। इसी के बाद से वहाँ लगातार भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले होने लगे। किसी को बेरहमी से प्रताड़ित किया गया तो किसी की हत्या कर दी गई। इसके बाद से भाजपा कार्यकर्ता बंगाल छोड़कर असम की ओर पलायन कर रहे हैं।

हत्या, हिंसा, आगजनी का आरोप टीएमसी के गुंडों पर लगा है। रविवार (मई 2, 2021) को अभिजीत सरकार नामक एक भाजपा कार्यकर्ता ने TMC के गुंडों की हरकतों के बारे में बताया। उसके कुछ ही देर बाद उनकी हत्या कर दी गई।

इसी के बाद से पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों से लगातार भाजपा कार्यकर्ताओं के विरुद्ध हिंसा की खबरें आ रही हैं। इसके अलावा हिन्दू देवी-देवताओं की मूर्तियों को भी हिंसा में निशाना बनाया जा रहा है। नेटवर्क 18 के पत्रकार ने दावा किया था कि बंगाल में बीएसएफ जवानों के घर पर भी हमले किए गए हैं और टीएमसी के गुंडों ने तोड़फोड़, आगजनी और मारपीट की।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंक पर योगी सरकार लगाएगी नकेल: जम्मू-कश्मीर में बंद 26 आतंकियों को भेजा जा रहा यूपी, स्लीपर सेल के जरिए फैला रहे थे आतंकवाद

कश्मीर घाटी की अलग-अलग सेंट्रल जेलों में बंद 26 आतंकियों का पहला ग्रुप उत्तर प्रदेश की आगरा सेंट्रल जेल के लिए रवाना कर दिया गया।

‘बधाई देना भी हराम’: सारा ने अमित शाह को किया बर्थडे विश, आरफा सहित लिबरलों को लगी आग, पटौदी की पोती को बताया ‘डरपोक’

सारा ने गृहमंत्री को बधाई दी लेकिन नाराज हो गईं आरफा खानुम शेरवानी। उन्होंने सारा को डरपोक कहा और पारिवारिक बैकग्राउंड पर कमेंट किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,880FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe