Saturday, April 4, 2020
होम राजनीति इसी मजहबी उन्माद में जला था भोला, 8-70 साल की 200 हिंदू महिलाओं से...

इसी मजहबी उन्माद में जला था भोला, 8-70 साल की 200 हिंदू महिलाओं से हुआ था रेप

भोला में इस साल अक्टूबर में भी हिंदुओं के खिलाफ हिंसा भड़की थी। इस साल के पहले चार महीनों में ही अल्पसंख्यकों को निशाना बनाकर गैंगरेप और मर्डर सहित 250 हिंसक घटनाएँ हुई थी। CAA इसी तरह के प्रताड़ित अल्पसंख्यकों के जख्म पर मरहम लगाने की कोशिश है।

ये भी पढ़ें

अजीत झा
देसिल बयना सब जन मिट्ठा

नागरिकता संशोधन कानून यानी CAA के विरोध में जिस तरह का मजहबी उन्माद, हिंसा और नारे सुनाई पड़ रहे हैं, ऐसे ही हालात में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों के साथ बर्बर घटनाओं को अंजाम दिया जाता है। ऐसी ही एक घटना में 8-70 साल की करीब 200 हिंदू म​हिलाओं से रेप हुआ था। उस मजहबी उन्माद को सत्ता का संरक्षण भी हासिल था। इस घटना का जिक्र 9 दिसंबर को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में भी किया था।

नागरिकता संशोधन विधेयक पर 9 दिसंबर को लोकसभा ने मुहर लगाई थी। विधेयक के पक्ष में 311 और विरोध में 80 वोट पड़े। यह विधेयक पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आने वाले हिंदू, जैन, सिख, बौद्ध, पारसी और ईसाई समुदाय के शरणार्थियों को नागरिकता का मार्ग प्रशस्त करने के लिए लाया गया था। अब यह कानून बन चुका है।

लोकसभा में इस बिल पर हुई बहस का जवाब देते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आँकड़ों के जरिए बताया कि कैसे यह बिल लाखों-करोड़ों लोगों को यातना से मुक्ति दिलाएगा। उन्होंने कहा कि 1947 में पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की आबादी 23 फीसदी थी, जो 2011 में 3.7 फीसदी रह गई। बांग्लादेश में 1947 में 22 फीसदी अल्पसंख्यक थे, जो 2011 में घटकर 7.8 फीसदी हो गए। उन्होंने पूछा, आखिर ये लोग कहाँ चले गए? इसी दौरान शाह ने भोला का जिक्र किया और कहा- भोला में एक सुनियोजित हमले में 200 अल्पसंख्यक महिलाओं के साथ बलात्कार किया गया।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

जिस भोला में हिंदुओं के साथ इतने बड़े पैमाने पर बर्बरता हुई वह धार्मिक अल्पसंख्यकों पर अत्याचार के लिए कुख्यात पाकिस्तान में नहीं है। यह पाकिस्तान से टूट कर बने बांग्लादेश में है। शाह जिस घटना का जिक्र कर रहे थे वह 2001 की है। जब बांग्लादेश के आम चुनावों में जीत के बाद बांग्लादेश नेशनल पार्टी (BNP) और जमात-ए-इस्लामी के कार्यकर्ताओं ने पूरे देश में हिंदुओं पर कहर ढा दिया था। सुनियोजित तरीके से हिंदुओं को निशाना बनाया गया। खासकर, बागेरहाट, बारिसल, भोला, बोगरा, ब्राह्मणबारिया, चिटगॉंव, फेनी, गाजीपुर, जेसोर, खुलना, मुंशीगंज, नारायणगंज, सिराजगंज जैसे जिलों में।

अक्टूबर 2001 में भोला के लालमोहन उपजिला में हिंदुओं के घर पर हमला हुआ। महिलाओं और बच्चों के साथ रेप किया गया। हमलावरों ने घर का हरेक समान लूट लिया। यहाँ तक कि हिंदुओं के पेड़ तक काट दिए गए। विकिपीडिया के अनुसार भोला के चर फासून (Char Fasson) उपजिला में करीब 200 हिंदू महिलाओं के साथ बीएनपी कार्यकर्ताओं ने बलात्कार किया। सबसे कम उम्र की पीड़िता 8 साल की तो सबसे बुजुर्ग 70 साल की थी।

एशियन ट्रिब्यून की रिपोर्ट का अंश

बांग्लादेश के दक्षिणी-मध्य हिस्से में पड़ने वाला भोला देश का सबसे बड़ा द्वीप है। इसके दक्षिण में बंगाल की खाड़ी है। 2011 की जनगणना के अनुसार इस जिले की आबादी करीब 20 लाख है। करीब 96 फीसदी आबादी मुस्लिम है। हिंदू 4.24 फीसदी हैं। भोला में 2001 ही नहीं, 1992 में भी हिंदुओं को चुन-चुन कर निशाना बनाया गया था। इस साल अक्टूबर में भी यह जिला इसी वजह से सुर्खियों में था। बिप्लव चंद्र नामक एक हिंदू का फेसबुक अकाउंट हैक कर पहले तो ईश निंदा का पोस्ट किया गया फिर मुसलमानों ने इसके बहाने जमकर उत्पात मचाया। ढाका ट्रिब्यून की खबर के अनुसार बिप्लव 18 अक्टूबर को थाने में अपना फेसबुक अकाउंट हैक करने की शिकायत लेकर पहुॅंचा। जिस वक्त वह शिकायत दर्ज करवा रहा था उसी दौरान उसके पास हैकर्स का फोन आया और उन्होंने उससे रुपयों की मॉंग की। द डेली स्टार की रिपोर्ट के अनुसार इस पोस्ट के बहाने 20 अक्टूबर को मुसलमानों ने भोला के बोहरानुद्दीन उपजिला में हिंदुओं के 12 घरों को आग के हवाले कर दिया। इसके बाद डर के मारे भोला के हिंदुओं ने काफी समय तक घर से निकलना बंद कर दिया था।

मंदिरों पर हमलों का सिलसिला भी पुराना है, साभार: बांग्लादेश माइनॉरिटी काउंसिल, 2017 की रिपोर्ट

बांग्लादेश माइनॉरिटी काउंसिल, 2017 की रिपोर्ट

बांग्लादेश माइनॉरिटी काउंसिल की पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें

आज भोला में हिंदुओं की संख्या कुछेक हजार ही है। लेकिन, द डेली स्टार की इसी साल की अक्टूबर की रिपोर्ट में बांग्लादेश हिंदू बौद्ध क्रि​श्चयन ओइकिया परिषद के भोला चैप्टर के अध्यक्ष अबिनाश नंदी के हवाले से बताया गया है कि कभी इस जिले में हिंदुओं की आबादी 2.8-3 लाख के बीच थी। उन्होंने बताया कि ताजा घटना के बाद ज्यादातर हिंदू घरों में कैद हो गए थे। हिंदू बच्चों ने स्कूल-कॉलेज जाना छोड़ दिया था। इस घटना ने लोगों के जेहन में 1992 और 2001 की हिंसा की याद ताजा कर दी थी, जब हिंदुओं के साथ बड़े पैमाने पर अत्याचार हुआ था। इस बार भी जब हिंसा भड़की तो लोगों ने पुलिसकर्मियों तक को बंधक बना लिया था। लेकिन हिंदुओं के लिए राहत की बात यह थी कि इस बार सत्ता में बीएनपी न होकर शेख हसीना की अवामी लीग थी और हालात पर काबू पाने के लिए बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश की तैनाती कर दी गई थी।

बांग्लादेश में हिंदू लड़कियों को अगवा कर धर्मांतरण की घटनाएँ भी आम है, साभार: बांग्लादेश माइनॉरिटी काउंसिल, 2017 की रिपोर्ट

बांग्लादेश में धार्मिक अल्पसंख्यकों की हालत का अंदाजा इसी साल मई में ओइकिया परिषद की प्रेस कॉन्फ्रेंस से लगाया जा सकता है। इसमें बताया गया था कि इस साल के पहले चार महीनों में ही अल्पसंख्यकों को निशाना बनाकर गैंगरेप और मर्डर सहित 250 हिंसक घटनाएँ हुई थी। अप्रैल तक कम से कम 29 मंदिरों पर इस साल हमले की घटना भी सामने आ चुकी थी।

- ऑपइंडिया की मदद करें -
Support OpIndia by making a monetary contribution

ख़ास ख़बरें

अजीत झा
देसिल बयना सब जन मिट्ठा

ताज़ा ख़बरें

Covid-19: विश्व में कुल संक्रमितों की संख्या 1063933, मृतकों की संख्या 56619, जबकि भारत में 2547 संक्रमित, 62 की हुई मौत

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाईट के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में कोरोना मामलों की संख्या में 478 की बढ़ोतरी हुई है। इसके साथ ही देश में कुल कोरोना पॉजिटिव मामले बढ़कर 2,547 हो गए हैं, जिनमें 2,322 सक्रिय मामले हैं। वहीं, अब तक 62 लोगों की इस वायरस के संक्रमण के कारण मौत हो गई है, जबकि 162 लोग ठीक भी हो चुके हैं।

मुंबई हवाईअड्डे पर तैनात CISF के 11 जवान निकले कोरोना पॉजिटिव, 142 क्वारन्टाइन में

बीते कुछ दिनों में अब तक CISF के 142 जवानों को क्वारन्टाइन किया जा चुका है, इनमें से 11 की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है

कोरोना मरीज बनकर फीमेल डॉक्टर्स को भेज रहे हैं अश्लील सन्देश, चैट में सेक्स की डिमांड: नौकरी छोड़ने को मजबूर है स्टाफ

क्या आप सोच सकते हैं कि ऐसे समय में, जब देश-दुनिया के तमाम लोग कोरोना की महामारी से आतंकित हैं। कोई व्यवस्था को बनाए रखने में अपना दिन-रात झोंक देने वाले डॉक्टर्स से बदसलूकी कर सकता है? खुद को कोरोना का मरीज बताकर महिला डॉक्टर्स को अश्लील संदेश भेज सकता है? उन्हें अपनी सेक्सुअल डिज़ायर्स बता सकता है?

तीन दिन से भूखी लड़कियों ने PMO में किया फोन, घंटे भर में भोजन लेकर दौड़े अधिकारी, पड़ोसियों ने भी नहीं दिया साथ

तीन दिन से भूखी इन बच्चियों ने काेविड-19 के लिए जारी केंद्र सरकार की हेल्प डेस्क 1800118797 पर फोन कर अपनी स्थिति के बारे में जानकारी दी। और जैसे चमत्कार ही हो गया। एक घंटे भीतर ही इन बच्चियों के पास अधिकारी भोजन लिए दौड़े-दौड़े आए।

गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यों को कोरोना से लड़ने के लिए आवंटित किए 11092 करोड़ रुपए, खरीद सकेंगे जरूरी सामान

मोदी सरकार ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में तेजी लाते हुए आज राज्यों को 11,092 करोड़ देने की घोषणा की

फलों पर थूकने वाले शेरू मियाँ पर FIR पर बेटी ने कहा- अब्बू नोट गिनने की आदत के कारण ऐसा करते हैं

फल बेचने वाले शेरू मियाँ का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा था, जिसमें वो फलों पर थूक लगाते हुए देखे जा रहे थे। इसके बाद पुलिस ने उन पर कार्रवाई कर गिरफ्तार कर लिया, जबकि उनकी बेटी फिजा का कुछ और ही कहना है।

प्रचलित ख़बरें

‘नर्स के सामने नंगे हो जाते हैं जमाती: आइसोलेशन वार्ड में गंदे गाने सुनते हैं, मॉंगते हैं बीड़ी-सिगरेट’

आइसोलेशन में रखे गए जमाती बिना कपड़ों, पैंट के नंगे घूम रहे हैं। यही नहीं, आइसोलेशन में रखे गए तबलीगी जमाती अश्लील वीडियो चलाने के साथ ही नर्सों को गंदे-गंदे इशारे भी कर रहे हैं।

या अल्लाह ऐसा वायरस भेज, जो 50 करोड़ भारतीयों को मार डाले: मंच से मौलवी की बद-दुआ, रिकॉर्डिंग वायरल

"अल्लाह हमारी दुआ कबूल करे। अल्लाह हमारे भारत में एक ऐसा भयानक वायरस दे कि दस-बीस या पचास करोड़ लोग मर जाएँ। क्या कुछ गलत बोल रहा मैं? बिलकुल आनंद आ गया इस बात में।"

मुस्लिम महिलाओं के साथ रात को सोते हैं चीनी अधिकारी: खिलाते हैं सूअर का माँस, पिलाते हैं शराब

ये चीनी सम्बन्धी उइगर मुस्लिमों के परिवारों को चीन की क्षेत्रीय नीति और चीनी भाषा की शिक्षा देते हैं। वो अपने साथ शराब और सूअर का माँस लाते हैं, और मुस्लिमों को जबरन खिलाते हैं। उइगर मुस्लिम परिवारों को जबरन उन सभी चीजों को खाने बोला जाता है, जिसे इस्लाम में हराम माना गया है।

क्वारंटाइन में नर्सों के सामने नंगा होने वाले जमात के 6 लोगों पर FIR, दूसरी जगह शिफ्ट किए गए

सीएमओ ने एमएमजी हॉस्पिटल के क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती तबलीगी जमात के लोगों द्वारा नर्सों से बदतमीजी करने की शिकायत की थी। शिकायत में बताया गया था कि क्वारंटाइन में रखे गए तबलीगी जमात के लोग बिना पैंट के घूम रहे हैं। नर्सों को देखकर भद्दे इशारे करते हैं। बीड़ी और सिगरेट की डिमांड करते हैं।

फलों पर थूकने वाले शेरू मियाँ पर FIR पर बेटी ने कहा- अब्बू नोट गिनने की आदत के कारण ऐसा करते हैं

फल बेचने वाले शेरू मियाँ का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा था, जिसमें वो फलों पर थूक लगाते हुए देखे जा रहे थे। इसके बाद पुलिस ने उन पर कार्रवाई कर गिरफ्तार कर लिया, जबकि उनकी बेटी फिजा का कुछ और ही कहना है।

ऑपइंडिया के सारे लेख, आपके ई-मेल पे पाएं

दिन भर के सारे आर्टिकल्स की लिस्ट अब ई-मेल पे! सब्सक्राइब करने के बाद रोज़ सुबह आपको एक ई-मेल भेजा जाएगा

हमसे जुड़ें

171,455FansLike
53,017FollowersFollow
211,000SubscribersSubscribe
Advertisements