Monday, July 15, 2024
Homeराजनीतिराजद MLC ने दारू को बताया भगवान, ज़हरीली शराब से हुई मौतों पर बोले...

राजद MLC ने दारू को बताया भगवान, ज़हरीली शराब से हुई मौतों पर बोले – जीना-मरना चलता रहता है

रामबली चंद्रवंशी बिहार के कुढ़नी में होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए जनसंपर्क कर पटना लौट रहे थे। इस दौरान पत्रकारों ने उनसे वैशाली जिले महनार में जहरीली शराब से हुई मौत पर सवाल पूछा।

बिहार में शराब बंदी के बाद आए दिन शराब की तस्करी से लेकर जहरीली शराब के कारण लोगों की मौत की खबरें आती रहतीं हैं। राज्य में शराबबंदी को लेकर लंबे समय से विपक्ष सरकार पर हमलावर रहा है। हालाँकि, अब महागठबंधन में शामिल राजद (RJD) नेता और एमएलसी रामबली चन्द्रवंशी (MLC Rambali Chandravanshi) ने शराब की तुलना भगवान से करते हुए कहा है कि बिहार में हर जगह शराब मिलती है, दिखती कहीं नहीं। उनके इस बयान से बिहार में सियासी घमासान तेज हो गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रामबली चंद्रवंशी बिहार के कुढ़नी में होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए जनसंपर्क कर पटना लौट रहे थे। इस दौरान पत्रकारों ने उनसे वैशाली जिले महनार में जहरीली शराब से हुई मौत पर सवाल पूछा। इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “मरना-जीना चलता रहता है, बिहार के लोग शराबबंदी के लिए अभी तैयार नहीं हैं।”

इसके अलावा, उन्होंने यह भी कहा है कि बिहार में शराब भगवान की तरह है, दिखती कहीं नहीं है, लेकिन मिलती सब जगह है। उन्होंने दावा किया कि लोग शराब के अलावा अन्य कारणों से भी मरते हैं। यही नहीं कुढ़नी विधानसभा उपचुनाव में राजद प्रत्याशी की जीत का दावा करते हुए उन्होंने कहा है कि शराब से मौत चुनाव का मुद्दा नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि इसके अलावा, महँगाई जैसे कई अन्य मुद्दे भी होते हैं।

गौरतलब है कि बिहार सरकार में सहयोगी दलों (महागठबंधन) के कई नेता बिहार में शराबबंदी पर सवाल उठा चुके हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ गठबंधन में आने से पहले उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी शराबबंदी पर सवालिया निशान लगाए थे। तेजस्वी ने कहा था, “बिहार में सरकार नहीं सर्कस चल रहा है। ड्रोन, हेलिकॉप्टर एवं स्पेशल प्लान और प्लेन से भी शराब खोजने की नौटंकी हो रही है लेकिन यहाँ शराबी आसानी से मुख्यमंत्री जी की सभाओं में जश्न मनाते है।”

वहीं, नीतीश कुमार की पार्टी के नेता उपेंद्र कुशवाहा ने कहा था कि अगर बिहार में शराब की बिक्री बंद हो जाती है तो इसकी खपत भी बंद हो जाएगी। शराबबंदी कभी भी इसलिए सफल नहीं हो सकती क्योंकि सरकार चाहती है। बिहार में शराबबंदी सफल नहीं हुई, लेकिन इससे समाज को लाभ जरूर हुआ है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मात्र 2 किलोग्राम ही घटा अरविंद केजरीवाल का वजन, AAP कह रही – कोमा में चले जाएँगे, ब्रेन स्ट्रोक हो जाएगा: जेल प्रशासन ने...

10 मई को जब उन्हें जमानत पर रिहा किया गया, तब उनका वजन 64 किलो था। यानी, 1 महीने 10 दिन में अरविंद केजरीवाल का वजन मात्र 1 किलोग्राम घटा।

शराब घोटाले में दिल्ली CM के खिलाफ जाँच पूरी, अब ₹1100 करोड़ की प्रॉपर्टी कुर्क करने की तैयारी: रिपोर्ट में ED अधिकारी के हवाले...

शराब घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने दावा किया है कि उनकी इस केस में पार्टी के साथ-साथ अरविंद केजरीवाल के खिलाफ जाँच पूरी हो गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -