Friday, July 12, 2024
Homeराजनीतिजिस सीट से चुनी गई थीं TMC की नुसरत जहाँ, वहीं से BJP ने...

जिस सीट से चुनी गई थीं TMC की नुसरत जहाँ, वहीं से BJP ने रेखा पात्रा को उतारा: संदेशखाली में शाहजहाँ शेख के गैंग से भिड़ने वाली महिला को जानिए

रेखा पात्रा बीजेपी की कार्यकर्ता भी नहीं रही हैं, लेकिन महिलाओं की आवाज को प्रमुखता से उठाने वाली रेखा पात्रा को पीड़ित महिलाओं के प्रतिनिधि के तौर पर बीजेपी ने टीएमसी के सामने उतारा है।

भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव 2024 के लिए अपने उम्मीदवारों की पाँचवीं लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट में 19 उम्मीदवारों के नाम हैं। इसमें बशीरघाट लोकसभा सीट से रेखा पात्रा को उम्मीदवार बनाया गया है। बशीरघाट में ही वो संदेशखाली इलाका में है, जो टीएमसी के गुंडों की वजह से चर्चा में रहा है। संदेशखाली में टीएमसी नेता शेख शाहजहाँ और उसके खास गुंडों शिबू हाजरा और उत्तर सरदार पर महिलाओं के उत्पीड़न, जमीनों पर कब्जे के आरोप हैं।

उत्तर 24 परगना में आने वाली बशीरहाट लोकसभा सीट पर रेखा पात्रा को मैदान में उतारा है। वो टीएमसी के हाजी नूरुल इस्लाम की चुनौती का सामना करेंगी। इस सीट पर साल 2019 में टीएमसी की ओर से अभिनेत्री नुसरत जहाँ ने जीत हासिल की थी, लेकिन लोकसभा चुनाव से पहले उन्होंने चुनाव न लड़ने के ऐलान किया था और सांसदी से भी इस्तीफा दे दिया था।

बीजेपी की ओर से उम्मीदवार बनाने जाने के बाद रेखा पात्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया अदा किया है। उन्होंने कहा है कि वो महिलाओं और पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए इस लड़ाई को मजबूती से लड़ेंगी।

रेखा पात्रा ने संदेशखाली में जमीनों पर कब्जा करने, उत्पीड़न के मामले में आवाज उठाई थी। वो संदेशखाली में हिंसा पीड़ित रहते हुए महिलाओं के आंदोलन का चेहरा बनी थीं। संदेशखाली मामले में तीनों आरोपित शाहजहाँ शेख, शिबू हाजरा और उत्तम सरदार जेल में है। संदेशखाली इलाका बशीरहाट लोकसभा सीट के अंदर ही आता है, जहाँ हिंसा और उत्पीड़न की सैकड़ों वारदातों को अंजाम दिया गया।

बीजेपी के प्रवक्ता अमित मालवीय ने भी एक्स पर रेखा पात्रा के बारे में बताया। उन्होंने लिखा बीजेपी ने बंगाल के बशीरहाट सीट से रेखा पात्रा को मैदान में उतारा है। मालवीय ने एक्स पर लिखा, “रेखा पात्रा संदेशखाली के पीड़ितों में से एक हैं, जिसे शेख शाहजहाँ के हाथों उत्पीड़ित होना पड़ा। बीजेपी संदेशखाली की महिलाओं और बंगाल के साथ खड़ी है।” उन्होंने ममता बनर्जी पर भी हमला बोला।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी संदेशखाली की पीड़िताओं के साथ मुलाकात की थी। सूत्रों के मुताबिक इसके बाद खुद प्रधानमंत्री ने रेखा के नाम पर मुहर लगाई।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

उधर कॉन्ग्रेसी बक रहे गाली पर गाली, इधर राहुल गाँधी कह रहे – स्मृति ईरानी अभद्र पोस्ट मत करो: नेटीजन्स बोले – 98 चूहे...

सवाल हो रहा है कि अगर वाकई राहुल गाँधी को नैतिकता का इतना ज्ञान है तो फिर उन्होंने अपने समर्थकों के खिलाफ कभी कार्रवाई क्यों नहीं की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -