Wednesday, August 4, 2021
Homeराजनीति'देश रिकॉर्ड बनाता है तो भारतीयों पर हमला कॉन्ग्रेसी संस्कृति': वैक्सीन पर खुद घिरी...

‘देश रिकॉर्ड बनाता है तो भारतीयों पर हमला कॉन्ग्रेसी संस्कृति’: वैक्सीन पर खुद घिरी कॉन्ग्रेस, बीजेपी ने दिया मुँहतोड़ जवाब

"जब भी भारत कोई रिकॉर्ड बनाता है तो भारतीयों पर हमला करना कॉन्ग्रेस की संस्कृति बन चुकी है। एक 'रिकाउंटिंग मिनिस्टर' से संख्या की पवित्रता के बारे में सुनना कितनी बड़ी विडंबना है, जिसकी एकमात्र प्रसिद्धि बजट में नंबर तैयार करना है।"

कोरोना वैक्सीन को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी अपनी राजनीति करने में जुटी हुई है। वहीं महा वैक्सीनेशन अभियान के तहत जहाँ पहले दिन (21 जून) देश भर में 88 लाख से ज्यादा टीकाकरण हुआ और मध्यप्रदेश ने 17 लाख से ज्यादा वैक्सीन डोज देकर रिकॉर्ड स्थापित किया। वहीं कॉन्ग्रेस नेता लगातार इस पर प्रश्न उठाते रहे। आज उन्हीं सवालों के मद्देनजर पार्टी के कई नेताओं ने कॉन्ग्रेस नेताओं को चुन चुनकर जवाब दिया है।

सबसे पहले कॉन्ग्रेस पार्टी के नेता पी चिदंबरम ने दावा किया था कि रविवार (20 जून) को टीकों को जमा किया गया और फिर सोमवार (21 जून) को टीकाकरण का रिकॉर्ड बनाया गया। इस पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने उनका पलटवार किया। उन्होंने कहा कि भारत लंगड़ा नहीं है, बल्कि देश के नागरिकों की ताकत से आगे बढ़ रहा है।

जेपी नड्डा ने अपने ट्वीट में लिखा कि 21 जून को रिकॉर्ड 88 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण करने के बाद, भारत ने मंगलवार और बुधवार को भी 50 लाख टीकाकरण के मार्क को पार किया है, जो कॉन्ग्रेस पार्टी को नापसंद है। 

नड्डा ने आगे पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम पर निशाना साधते हुए लिखा, “जब भी भारत कोई रिकॉर्ड बनाता है तो भारतीयों पर हमला करना कॉन्ग्रेस की संस्कृति बन चुकी है। एक ‘रिकाउंटिंग मिनिस्टर’ से संख्या की पवित्रता के बारे में सुनना कितनी बड़ी विडंबना है, जिसकी एकमात्र प्रसिद्धि बजट में नंबर तैयार करना है।”

इसी प्रकार कॉन्ग्रेस नेता जयराम नरेश ने आरोप लगाया कि मध्यप्रदेश में 20 जून को 692 टीके लगे, 21 जून को 16.93 लाख टीके और 22 जून को ये संख्या सिर्फ 4892 रह गई। इस पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर फैक्ट्स बताए। सिंधिया ने बताया कि पहला सच तो ये है कि राज्य में मंगलवार को वैक्सीन दी ही नहीं जाती। इसलिए कम संख्या दिख रही है और दूसरा सच ये है कि 21 जून के बाद 23 जून को वैक्सीन लगाई गई जो कुल 10 लाख थी।

वहीं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के सवालों का मध्यप्रदेश के मंत्री विश्वास सारंग जवाब देते हैं। उन्होंने कहा, “कमलनाथ कहते हैं कि 21 जून को तो आपने लगभग 17 लाख वैक्सीन लगा दिए पर उससे एक दिन पहले 20 जून और उसके अगले दिन 22 जून को कुछ हजार की संख्या में ही वैक्सीन लगे। बताना चाहता हूँ कि जिन 2 दिनों का आपने जिक्र किया वे प्रदेश में वैक्सीनेशेन डे नहीं थे।”

वह बताते हैं, “16 जनवरी से जिस दिन से मध्य प्रदेश में वैक्सीनेशन शुरू हुआ है तभी हमने स्पष्ट किया था कि हम प्रदेश में हफ्ते में 4 दिन कोरोना की वैक्सीन लगाएँगे। सोमवार, बुधवार, गुरुवार और शनिवार बाकी दो दिन बच्चों का वैक्सीनेशन कार्यक्रम चलेगा। रविवार को छुट्टी होती है।”

बता दें कि कोरोना वैक्सीनेशन अभियान में मध्यप्रदेश की पूरे देश भर में वाह वाही होने के बाद कॉन्ग्रेस के कई नेताओं ने इस पर सवाल खड़ा किया था। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा, “मध्य प्रदेश के टीकाकरण अभियान को लेकर बड़ी धाँधली सामने आ रही है। एक दिन 17 लाख टीके लगते हैं, जबकि उसके अगले और पिछले दिन कुछ सौ टीके लगते हैं। सरकार को इस बारे में स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए, क्योंकि यह करोड़ों लोगों के जीवन का सवाल है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,995FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe