Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीतिमुस्लिमों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने पर BJP ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व MLC विक्रम...

मुस्लिमों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने पर BJP ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व MLC विक्रम रंधावा को किया बर्खास्त

“विक्रम रंधावा (पूर्व एमएलसी) को तत्काल प्रभाव से जेके-यूटी सचिव के पद सहित पार्टी के सभी पदों / जिम्मेदारियों से मुक्त किया जाता है। भाजपा जेके-यूटी के उपाध्यक्ष शाम चौधरी (पूर्व मंत्री और पूर्व विधायक सुचेतगढ़) जिला राजौरी के लिए नए प्रभारी/प्रभारी होंगे।”

जम्मू कश्मीर के वरिष्ठ भाजपा नेता विक्रम सिंह रंधावा को पार्टी सचिव पद से हटा दिया गया है। उनकी जगह पर उपाध्यक्ष शाम चौधरी को राजोरी जिले की जिम्मेदारी दी गई है। रंधावा को पद मुक्त किए जाने के संबंध में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना ने पत्र जारी किया। जिसमें उन्होंने कहा कि रंधावा को तत्काल प्रभाव से पार्टी के सभी पदों और जिम्मेदारियों से मुक्त किया जाता है।

मुस्लिम समुदाय के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने वाले रंधावा का एक वीडियो वायरल होने के बाद जम्मू-कश्मीर के पूर्व एमएलसी और वरिष्ठ नेता विक्रम रंधावा को पार्टी के सभी पदों और जिम्मेदारियों से हटा दिया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, विक्रम रंधावा का मुस्लिमों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने का एक वीडियो टी20 वर्ल्ड कप में भारत-पाकिस्तान मैच के बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

भाजपा जम्मू-कश्मीर के अध्यक्ष रविंदर रैना ने पत्र में लिखा, “विक्रम रंधावा (पूर्व एमएलसी) को तत्काल प्रभाव से जेके-यूटी सचिव के पद सहित पार्टी के सभी पदों / जिम्मेदारियों से मुक्त किया जाता है। भाजपा जेके-यूटी के उपाध्यक्ष शाम चौधरी (पूर्व मंत्री और पूर्व विधायक सुचेतगढ़) जिला राजौरी के लिए नए प्रभारी/प्रभारी होंगे।”

Source: Republic

वीडियो में रंधावा कथित तौर पर कहते हैं, “ये 22- 23 साल की लड़कियाँ, जो घूँघट में जम्मू में घूमती हैं। कश्मीर में अपनी जैकेट हवा में फेंक रही थी और पाकिस्तान समर्थक नारे लगा रही थी। ये लड़कियाँ पाकिस्तान की तारीफ कर रही हैं और उनके दिल में इसके लिए सहानुभूति है। इस तरह की गतिविधि में शामिल सभी लोगों को पीटा जाना चाहिए और उनकी खाल उतारी जानी चाहिए। उनके साथ ऐसा व्यवहार किया जाना चाहिए कि उनकी आने वाली पीढ़ियों को भी भारत विरोधी नारे या भारत की धरती पर पाकिस्तान समर्थक नारे लगाने का नतीजा याद रहे। केवल उन्हें ही नहीं, उनके माता-पिता को भी यह महसूस करना चाहिए कि उन्होंने किस तरह के कृतघ्न बच्चों को जन्म दिया है”।

आगे उन्होंने कहा- “शुरू से ही, हमने माँग की है कि उनकी डिग्री रद्द कर दी जाए। हम यह भी माँग करते हैं कि उनकी नागरिकता भी रद्द कर दी जाए और उनकी पिटाई की जाए और उनकी खाल उतारी जाए।” वो कहते हैं, “पहले, वे मोबाइल फोन पर तलाक देते थे। तो नमाज भी व्हाट्सएप पर क्यों नहीं पढ़ लेते हैं, क्यों ये लोग इसके लिए सड़कों पर आते हैं और कब्जा कर लेते हैं।”

इससे पहले, विक्रम रंधावा के खिलाफ कश्मीरी मुस्लिमों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी के लिए FIR दर्ज की गई थी और आईपीसी की धारा 295-ए, 505 एवं अन्य संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।

बीजेपी की अनुशासन समिति ने तब कारण बताओ नोटिस जारी किया था, जिसमें लिखा था, “सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें आप एक विशेष समुदाय के खिलाफ लापरवाह और नफरत फैलाने वाली टिप्पणी करते नजर आ रहे हैं। यह पार्टी के लिए अस्वीकार्य है और इससे पार्टी की बदनामी और शर्मिंदगी हुई है।” रिपोर्ट्स के मुताबिक, रंधावा ने टी20 वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ पाकिस्तान की जीत के बाद कश्मीर के कुछ हिस्सों में जश्न की घटनाओं के दौरान मुस्लिमों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -