Sunday, May 29, 2022
Homeराजनीति'ये जो गर्मी दिखाई दे रही है न, मैं मई-जून को भी शिमला बना...

‘ये जो गर्मी दिखाई दे रही है न, मैं मई-जून को भी शिमला बना देता हूँ’: हापुड़ में गरजे CM योगी, मुजफ्फरनगर-कैराना का किया जिक्र

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हापुड़ में कहा कि 10 मार्च, 2022 को चुनाव परिणाम आने के साथ ही ये गर्मी भी शांत हो जाएगी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार (30 जनवरी, 2022) को हापुड़ में मतदाता संवाद कार्यक्रम को सम्बोधित किया। पश्चिमी उत्तर प्रदेश को साधने के लिए वहाँ उन्होंने मतदाताओं से संवाद किया। इस दौरान उन्होंने कहा, “ये गर्मी जो अभी कैराना में और मुजफ्फरनगर में कुछ जगह दिखाई दे रही है न… मैं मई और जून की गर्मी में भी ‘शिमला’ बना देता हूँ। हापुड़ के पिलखुआ में ये कार्यक्रम आयोजित था। उनके बयान के बाद प्रदेश में सियासी सरगर्मी तेज़ हो गई है।

उन्होंने कहा कि 10 मार्च, 2022 को चुनाव परिणाम आने के साथ ही ये गर्मी भी शांत हो जाएगी। इससे पहले उन्होंने कहा था, “चोला ‘समाजवादी’ + सोच ‘दंगावादी’ + सपने ‘परिवारवादी’ = ‘तमंचावादी”। एक अन्य ट्वीट में सीएम योगी ने लिखा था, “पेशेवर अपराधी और माफिया चुनाव के दौरान धौंस दिखाने का प्रयास करेंगे, लेकिन 10 मार्च के बाद इनके गले में तख्ती लटकती हुई दिखाई देगी। ये लोग किसी थाने की चौखट पर ‘बख्श दो’ की भीख मांगते हुए दिखाई देंगे।”

बता दें कि कैराना में हिन्दुओं के पलायन की खूब चर्चा हुई थी, लेकिन सीएम योगी के शासनकाल में कई हिन्दू वापस लौटे हैं और हाल ही में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उनसे मुलाकात भी की थी। कई विपक्षी नेता धमकी भरे बयान दे रहे हैं। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आज का बयान उनलोगों के लिए ही था। उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी से ही मतदान शुरू होना है, ऐसे में प्रचार-प्रसार जोरों पर है। कोरोना के कारण चुनावी रैलियों पर प्रतिबंध है, लेकिन नेता जनसम्पर्क अभियान चला सकते हैं। भीड़ न जुटाने का निर्देश दिया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

‘कब्ज़ा कर के बनाई गई मस्जिद को गिरा दो’: मंदिरों को ध्वस्त कर बनाए गए मस्जिदों पर बोले थे गाँधी – मुस्लिम खुद सौंप...

गाँधी जी ने लिखा था, "अगर ‘अ’ (हिन्दू) का कब्जा अपनी जमीन पर है और कोई शख्स उसपर कोई इमारत बनाता है, चाहे वह मस्जिद ही हो, तो ‘अ’ को यह अख्तियार है कि वह उसे गिरा दे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe