Thursday, July 25, 2024
HomeराजनीतिCAA विरोधी दंगाइयों के 'बलिदान' का स्मारक बनवाएगी कॉन्ग्रेस: असम में चुनाव से पहले...

CAA विरोधी दंगाइयों के ‘बलिदान’ का स्मारक बनवाएगी कॉन्ग्रेस: असम में चुनाव से पहले पार्टी ने किया वादा

"एंटी-CAA प्रदर्शनकारियों के 'त्याग और उनके प्रयासों' के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी। गानों और पेंटिंग के जरिए CAA विरोधियों का गुणगान किया जाएगा।"

असम में अप्रैल 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव में कॉन्ग्रेस ने CAA को फिर से मुद्दा बनाना शुरू कर दिया है। शिवसागर में चुनावी सभा के दौरान पार्टी के पूर्व-अध्यक्ष राहुल गाँधी ने CAA विरोधी गमछा गले में डाला हुआ था। अब पार्टी ने कहा है कि एंटी-CAA आंदोलन मरने वाले ‘बलिदानियों’ की याद में स्मारक बनवाया जाएगा। कॉन्ग्रेस पार्टी ने मंगलवार (फरवरी 16, 2021) को ये ऐलान किया।

पार्टी ने कहा कि दिसंबर 2019 में CAA विरोधी आंदोलनों में जिनकी मौत हुई थी, उनके सम्मान वो स्मारक बनेगा। सांसद गौरव गोगोई, प्रद्युत बोरोडोलोई और असम प्रदेश कॉन्ग्रेस कमिटी के अध्यक्ष रिपुन बोरा ने सोशल मीडिया के माध्यम से ये ऐलान किया। इन नेताओं ने लिखा कि आने वाले दिनों में गुवाहाटी में एक नया लैंडमार्क जुड़ेगा और वो होगा कॉन्ग्रेस सरकार द्वारा बनवाया जाने वाला ये स्मारक।

कॉन्ग्रेस ने सत्ता में आने पर इस स्मारक के निर्माण का वादा किया है। अपर असम में शिवसागर में हुई रैली में राहुल गाँधी ने कहा था कि उनकी पार्टी असम में ‘इस विवादित कानून’ को नहीं लागू होने देगी। दिसंबर 2019 में CAA विरोधी उपद्रव में राज्य में 5 लोगों की मौत हुई थी। राज्य के वित्त, योजना एवं विकास विभाग, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और लोक निर्माण विभाग के मंत्री हिमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि CAA चुनावी मुद्दा है ही नहीं।

उन्होंने कहा कि राज्य का युवा ये सोच रहा है कि राज्य सरकार ऐसी कोई योजना लॉन्च करेंगी कि नहीं जिससे उन्हें मोटरसाइकिल मिले, जैसी सुविधा प्रतिभावान छात्राओं को दी जा रही है। उन्होंने कहा कि ये सब चुनाव में चर्चा के मुद्दे हैं। वहीं सांसद प्रद्युत ने कहा कि भाजपा ने ऐतिहासिक असम एकॉर्ड का उल्लंघन किया है और सांप्रदायिक तनाव पैदा किया है। कॉन्ग्रेस पार्टी फ़िलहाल ‘आइए, असम को बचाएँ’ अभियान चला रही है।

जिस मेमोरियल का वादा कॉन्ग्रेस ने किया है, उसके बारे में पार्टी ने बताया कि उसमें एंटी-CAA प्रदर्शनकारियों के ‘त्याग और उनके प्रयासों’ के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी। साथ ही बताया कि उसमें गानों और पेंटिंग के जरिए CAA विरोधियों का गुणगान किया जाएगा। कॉन्ग्रेस ने कहा कि ये भाजपा को प्रदेश का सन्देश होगा – ‘असम में CAA नहीं’। वहीं गौरव गोगोई ने कहा कि लोग ‘CAA विरोधियों के दमन’ को नहीं भूलेंगे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अखलाक की मौत हर मीडिया के लिए बड़ी खबर… लेकिन मुहर्रम पर बवाल, फिर मस्जिद के भीतर तेजराम की हत्या पर चुप्पी: जानें कैसे...

बरेली में एक गाँव गौसगंज में तेजराम नाम के एक युवक की मुस्लिम भीड़ ने मॉब लिंचिंग कर दी। इलाज के दौरान तेजराम की मौत हो गई।

‘वन्दे मातरम’ न कहने वालों को सेना के जवान और डॉक्टर ने Whatsapp ग्रुप में कहा – पाकिस्तान जाओ: सिद्दीकी ने करवा दी थी...

शिकायतकर्ता शबाज़ सिद्दीकी का कहना है कि सेना के जवान और डॉक्टर ने मुस्लिमों की भावनाओ को ठेस पहुँचाई है, उनके भीतर दुर्भावना थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -