Wednesday, February 8, 2023
Homeराजनीतिसिद्धारमैया के बाद कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव ने भी दिया इस्तीफ़ा

सिद्धारमैया के बाद कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव ने भी दिया इस्तीफ़ा

कॉन्गेस की नज़र उपचुनाव के नतीजों पर लगातार बनी हुई थी। उसके नेता JD(S) के साथ फिर से गठजोड़ कर सरकार बनाने की फ़िराक में थे। कॉन्ग्रेस नेता बीके हरिप्रसाद ने कहा था कि नतीजों के बाद बहुत सी चीजें बदल जाएँगी।

कर्नाटक विधानसभा उपचुनावों में कॉन्ग्रेस की करारी शिकस्त के बाद इस्तीफे का सिलसिला शुरू हो गया है। दिनेश गुंडू राव ने कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कॉन्ग्रेस विधायक दल के नेता पद से इस्तीफा दिया था। 15 सीटों पर हुए ये उपचुनाव येदियुरप्पा के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार के लिए बेहद महत्वपूर्ण थे।

गुंडू राव ने कहा, “मैं हार की ज़िम्मेदारी ले रहा हूँ और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे रहा हूँ।”
सिद्धारमैया ने इस्तीफ़ा देते हुए कहा, “विधायक दल के नेता के रूप में, मुझे लोकतंत्र का सम्मान करना चाहिए। मैंने कॉन्ग्रेस विधायक दल के नेता के रूप में इस्तीफ़ा दे दिया है। मैंने अपना इस्तीफ़ा सोनिया गाँधी जी को सौंप दिया है।”

ग़ौरतलब है कि भाजपा के पास 105 विधायक थे, जिसमें एक निर्दलीय विधायक भी शामिल था। इसीलिए कॉन्गेस की नज़र भी कर्नाटक के उप चुनाव के नतीजों पर लगातार बनी हुई थी, क्योंकि इसके नेता JD (S) के साथ फिर से गठजोड़ कर सरकार बनाने की फ़िराक में थे। जानकारी के अनुसार, कॉन्ग्रेस नेता बीके हरिप्रसाद ने कहा था कि नतीजों के बाद बहुत सी चीजें बदल जाएँगी। दरअसल, येदियुरप्पा की सरकार बनने से पहले कॉन्ग्रेस-JD (S) की सरकार में कॉन्ग्रेस के 14 और JD (S) के तीन विधायकों द्वारा इस्तीफ़ा दिए जाने से गठबंधन सरकार गिर गई थी।

इसके बाद सभी बागी विधायकों को पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने अयोग्य घोषित कर दिया था। उन्हीं 15 सीटों पर उप चुनाव कराए गए हैं। बता दें कि बीजेपी का इस चुनाव से वोट पर्सेंट बढ़ा है। चुनाव आयोग से प्राप्त आँकड़ों के अनुसार, बीजेपी पार्टी को 49.7% वोट हासिल हुए हैं, जबकि कॉन्ग्रेस को 31% वोट मिले। इसके अलावा, कुमारस्वामी की JD (S) को तगड़ा झटका लगा है। ऐसा इसलिए क्योंकि पार्टी अभी तक अपना खाता भी नहीं खोल पाई। आँकड़ों के अनुसार, JD (S) को सबसे कम यानी 13.3% ही वोट मिले हैं।

ये भी पढ़ें: सोनिया गाँधी को झटका, सिद्धारमैया ने सौंपा इस्तीफ़ा: कर्नाटक उप चुनाव में पार्टी की हुई छीछालेदर

कर्नाटक उपचुनाव पर कुमारस्वामी का बयान- हम दुःखी थे, लेकिन हमसे ज़्यादा दुःखी 3 और लोग थे

हम भी रेले गए थे, तुम भी रेले जाओगे: उद्धव ठाकरे को मिली कुमारस्वामी की चिट्ठी

पत्रकार नेतागिरी करे तो वो ‘धोबी का कुत्ता’ बन भी सकता है, बना भी सकता है: हिंदी में सत्य का सामना

लिबरलों को मिली ‘रूदन कक्ष’ हेतु 5 वर्गफीट जमीन, रवीश को पेपर रोल, राठी-कामरा के लिए ChiRAnDh योजना


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिन दाढ़ी मुख सून… कौन थे हाथरस वाले प्रभुनाथ गर्ग, PM मोदी ने पढ़ा जिनका दोहा तो ठहाकों से गूँज उठी संसद: सामाजिक-राजनीतिक कुरीतियों...

जब काका हाथरसी सिर्फ 15 दिन के थे, तभी उनके पिता का निधन हो गया था। बड़े भाई भजन लाल उस समय केवल 2 साल के थे। प्रभुनाथ गर्ग से ऐसे बने 'काका'।

पहले PM मोदी को बदनाम किया, अब ISIS आतंकी बनने वाली महिला BBC के लिए बनी ‘महान काम करने वाली सेलेब्रिटी’: ब्रिटेन के लोग...

BBC के वीडियो में शमीमा बेगम ने कहा कि ISIS के भयानक वीडियो देखने के बाद भी उसने अपना विचार नहीं बदला था। उसने कहा कि वह ब्रिटेन लौटना चाहती है। 

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
244,416FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe