सिद्धारमैया के बाद कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव ने भी दिया इस्तीफ़ा

कॉन्गेस की नज़र उपचुनाव के नतीजों पर लगातार बनी हुई थी। उसके नेता JD(S) के साथ फिर से गठजोड़ कर सरकार बनाने की फ़िराक में थे। कॉन्ग्रेस नेता बीके हरिप्रसाद ने कहा था कि नतीजों के बाद बहुत सी चीजें बदल जाएँगी।

कर्नाटक विधानसभा उपचुनावों में कॉन्ग्रेस की करारी शिकस्त के बाद इस्तीफे का सिलसिला शुरू हो गया है। दिनेश गुंडू राव ने कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कॉन्ग्रेस विधायक दल के नेता पद से इस्तीफा दिया था। 15 सीटों पर हुए ये उपचुनाव येदियुरप्पा के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार के लिए बेहद महत्वपूर्ण थे।

गुंडू राव ने कहा, “मैं हार की ज़िम्मेदारी ले रहा हूँ और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे रहा हूँ।”
सिद्धारमैया ने इस्तीफ़ा देते हुए कहा, “विधायक दल के नेता के रूप में, मुझे लोकतंत्र का सम्मान करना चाहिए। मैंने कॉन्ग्रेस विधायक दल के नेता के रूप में इस्तीफ़ा दे दिया है। मैंने अपना इस्तीफ़ा सोनिया गाँधी जी को सौंप दिया है।”

ग़ौरतलब है कि भाजपा के पास 105 विधायक थे, जिसमें एक निर्दलीय विधायक भी शामिल था। इसीलिए कॉन्गेस की नज़र भी कर्नाटक के उप चुनाव के नतीजों पर लगातार बनी हुई थी, क्योंकि इसके नेता JD (S) के साथ फिर से गठजोड़ कर सरकार बनाने की फ़िराक में थे। जानकारी के अनुसार, कॉन्ग्रेस नेता बीके हरिप्रसाद ने कहा था कि नतीजों के बाद बहुत सी चीजें बदल जाएँगी। दरअसल, येदियुरप्पा की सरकार बनने से पहले कॉन्ग्रेस-JD (S) की सरकार में कॉन्ग्रेस के 14 और JD (S) के तीन विधायकों द्वारा इस्तीफ़ा दिए जाने से गठबंधन सरकार गिर गई थी।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इसके बाद सभी बागी विधायकों को पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने अयोग्य घोषित कर दिया था। उन्हीं 15 सीटों पर उप चुनाव कराए गए हैं। बता दें कि बीजेपी का इस चुनाव से वोट पर्सेंट बढ़ा है। चुनाव आयोग से प्राप्त आँकड़ों के अनुसार, बीजेपी पार्टी को 49.7% वोट हासिल हुए हैं, जबकि कॉन्ग्रेस को 31% वोट मिले। इसके अलावा, कुमारस्वामी की JD (S) को तगड़ा झटका लगा है। ऐसा इसलिए क्योंकि पार्टी अभी तक अपना खाता भी नहीं खोल पाई। आँकड़ों के अनुसार, JD (S) को सबसे कम यानी 13.3% ही वोट मिले हैं।

ये भी पढ़ें: सोनिया गाँधी को झटका, सिद्धारमैया ने सौंपा इस्तीफ़ा: कर्नाटक उप चुनाव में पार्टी की हुई छीछालेदर

कर्नाटक उपचुनाव पर कुमारस्वामी का बयान- हम दुःखी थे, लेकिन हमसे ज़्यादा दुःखी 3 और लोग थे

हम भी रेले गए थे, तुम भी रेले जाओगे: उद्धव ठाकरे को मिली कुमारस्वामी की चिट्ठी

पत्रकार नेतागिरी करे तो वो ‘धोबी का कुत्ता’ बन भी सकता है, बना भी सकता है: हिंदी में सत्य का सामना

लिबरलों को मिली ‘रूदन कक्ष’ हेतु 5 वर्गफीट जमीन, रवीश को पेपर रोल, राठी-कामरा के लिए ChiRAnDh योजना


शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

लोहरदगा हिंसा
मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक हिंदुओं के घरों और संपत्ति को चुन-चुन कर निशाना बनाया गया। पथराव करने वालों में 8 से 12 साल तक के मुस्लिम बच्चे भी शामिल थे। 100 से ज्यादा घायलों में से कई की हालत गंभीर।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

143,804फैंसलाइक करें
35,951फॉलोवर्सफॉलो करें
163,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: