Saturday, September 26, 2020
Home हास्य-व्यंग्य-कटाक्ष कर्नाटक उपचुनाव पर कुमारस्वामी का बयान- हम दुःखी थे, लेकिन हमसे ज़्यादा दुःखी 3...

कर्नाटक उपचुनाव पर कुमारस्वामी का बयान- हम दुःखी थे, लेकिन हमसे ज़्यादा दुःखी 3 और लोग थे

कुमारस्वामी ने जनता को डाँटते हुए पहले ही कहा था- "मोदी के पास जाओ, उन्हें अपनी समस्याएँ सुनाओ।" जनता ने उनकी बात सुन ली है। वो मोदी के पास चली गई है।

कर्नाटक में उपचुनाव हुए। 4 महीने पहले बनी येदियुरप्पा सरकार के लिए यह परीक्षा की घड़ी थी। भाजपा को 6 सीटें जितनी ही जितनी थी, वरना सरकार चली जाती। फिर सवाल भी उठते। आरोप लगता कि कॉन्ग्रेस और जेडीएस की सरकार को गिरा कर भाजपा ख़ुद भी बहुमत साबित नहीं कर पाई और ‘चाणक्य’ अमित शाह एक बार फिर से विफल रहे। वो तो अच्छा हुआ कि कॉन्ग्रेस की जीत नहीं हुई वरना सिद्दारमैया के रूप में मीडिया के पास एक नया ‘चाणक्य’ मिल जाता। ठीक वैसे ही, जैसे महाराष्ट्र में शरद पवार के रूप में एक पुराना ‘चाणक्य’ खड़ा हो गया और संजय राउत रूप में शिवसेना को भी एक शायरी-प्रेमी ‘चाणक्य’ मिला।

इन सारे चाणक्यों के चक्कर में याद दिलाना ज़रूरी है कि असली चाणक्य विष्णुगुप्त थे। कहीं ऐसा न हो कि कल को इतने चाणक्य हो जाएँ कि विष्णुगुप्त अथवा कौटिल्य के बारे में किसी को पता ही न हो। खैर, आगे बढ़ने से पहले आँकड़ों पर नज़र डालना ज़रूरी है। कर्नाटक में 15 सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा ने 12 सीटों पर अपनी जीत लगभग सुनिश्चित कर ली है। कॉन्ग्रेस को 2 सीटें आईं और 1 सीट स्वतंत्र उम्मीदवार के पाले में गई। जहाँ तक जेडीएस की बात है, देवगौड़ा और कुमारस्वामी कब रोने आएँगे, इसका मीडिया को बेसब्री से इंतज़ार है।

पिता-पुत्र दुःखी ज़रूर होंगे। कर्नाटक में कॉन्ग्रेस के ‘चाणक्य’ डीके शिवकुमार भी दुःखी होंगे। लेकिन उन्हें ‘थ्री इडियट्स’ का वो डायलॉग ज़रूर याद आ रहा होगा। तभी तो दोनों सोच रहे होंगे कि वो तो दुःखी हैं ही लेकिन उनसे ज्यादा दुःखी 3 और लोग हैं। उन तीन लोगों में ठाकरे, जो सीएम बेटे को बनाना चाहते थे लेकिन अंत में ख़ुद बन गए। दूसरे हैं आदित्य ठाकरे, जो भाई-बहन-चाचा-कजन-फूफा-मौसा सबके साथ सरकारी बैठकों में शामिल होते हैं। तीसरे दुःखी व्यक्ति होंगे शरद पवार, क्योंकि बकियों के मुक़ाबले उनकी प्रतिष्ठा ज्यादा दाँव पर है।

हाँ, प्रधानमंत्री ज़रूर ख़ुश हैं। उधर संसद में नागरिकता संशोधन विधेयक के लिए हंगामा मचा हुआ है, इधर पीएम झारखण्ड में चुनाव प्रचार करने निकले हुए हैं। जब शाह वहाँ मौजूद हैं तो भला टेंशन कैसे लेना? तभी तो मोदी ने झांरखंड के निवासियों को कर्नाटक उपचुनाव के परिणाम याद दिलाया और कहा कि देखो कैसे वहाँ लोगों ने कॉन्ग्रेस को करारा सबक सिखाया है। हज़ारीबाग में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जिन्होंने जनादेश के साथ धोखा किया था, उन्हें जनता ने लोकतान्त्रिक तरीके से सज़ा दे दी। इस बयान की गूँज बंगलौर तो नहीं लेकिन मुंबई में ज़रूर एक सन्देश पहुँचा रही होगी।

- विज्ञापन -

जनादेश के साथ धोखा- यही वो वक्तव्य था, जिसका प्रयोग केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शिवसेना, एनसीपी और कॉन्ग्रेस के गठबंधन के लिए किया था। पीएम मोदी के बयान के बाद मुंबई के सियासी हलकों में ये चर्चा ज़रूर चल रही होगी अब वहाँ के 3 दलों को ‘लोकतान्त्रिक सज़ा’ कब मिलेगी? मोदीजी ने कहा कि जो-जो जनता के साथ धोखा करेगा, उसे ऐसे ही पाठ पढ़ाया जाएगा। अब मुंबई के लिए शाह और मोदी का क्या सिलेबस होगा, उसमें कौन सी पुस्तकें होंगी और कौन सा पाठ पढ़ाया जाएगा, ये देखने वाली बात है। और हाँ, सिलेबस में ‘अर्थशास्त्र’ नहीं होगा क्योंकि ये असली चाणक्यों का खेल नहीं है। एक बार फिर दोहराइए- चाणक्य विष्णुगुप्त ही थे। वैसे कुमारस्वामी ने उद्धव को भेजे अपने पत्र में पहले ही लिखा था:

“प्रिय उद्धव, अंत में क्या हुआ? हम भी रेले गए, आप भी रेले जाएँगे। याद रखिए, मुख्यमंत्री तो मैं था लेकिन पावर सेंटर सिद्दारमैया था। ख़ुद के हालात देखिए। भले मुख्यमंत्री मातोश्री का हो लेकिन सत्ता तो ‘सिल्वर ओक’ से ही चलेगी न। मेरे पिता की कुछ महत्वाकांक्षाएँ थीं तो आपके बेटे की है। मेरा कार्यकाल रोते-रोते बीता और मैं 5 साल तो क्या, डेढ़ वर्ष भी पूरे नहीं कर पाया। फिर आपकी तीन पहिए वाली सरकार का संतुलन कब तक बना रहेगा, ये सोचने वाली बात है। हमने डीके शिवकुमार पर भरोसा किया था, आपने संजय राउत पर किया है।”

कॉन्ग्रेस का बयान आया है कि जनता ने दलबदलुओं पर भरोसा जताया। पार्टी की ये पुरानी आदत रही है। सोनिया-राहुल को बचाने के लिए जनता, ईवीएम और चुनाव आयोग को ढाल बना कर खड़ा किया जाता रहा है। पीएम मोदी का राँची में बयान, बंगलौर में विधानसभा के आँकड़े बदलना, मुंबई में नई सरकार की सियासी हलचल और दिल्ली में संसद में नागरिकता बिल- ये सब एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। कुमारस्वामी ने जनता को डाँटते हुए पहले ही कहा था- “मोदी के पास जाओ, उन्हें अपनी समस्याएँ सुनाओ।” जनता ने उनकी बात सुन ली है। वो मोदी के पास चली गई है।

ये भी पढ़ें: हम भी रेले गए थे, तुम भी रेले जाओगे: उद्धव ठाकरे को मिली कुमारस्वामी की चिट्ठी

पत्रकार नेतागिरी करे तो वो ‘धोबी का कुत्ता’ बन भी सकता है, बना भी सकता है: हिंदी में सत्य का सामना

लिबरलों को मिली ‘रूदन कक्ष’ हेतु 5 वर्गफीट जमीन, रवीश को पेपर रोल, राठी-कामरा के लिए ChiRAnDh योजना

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अनुपम कुमार सिंहhttp://anupamkrsin.wordpress.com
चम्पारण से. हमेशा राइट. भारतीय इतिहास, राजनीति और संस्कृति की समझ. बीआईटी मेसरा से कंप्यूटर साइंस में स्नातक.

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आजतक के कैमरे से नहीं बच पाएगी दीपिका: रिपब्लिक को ज्ञान दे राजदीप के इंडिया टुडे पर वही ‘सनसनी’

'आजतक' का एक पत्रकार कहता दिखता है, "हमारे कैमरों से नहीं बच पाएँगी दीपिका पादुकोण"। इसके बाद वह उनके फेस मास्क से लेकर कपड़ों तक पर टिप्पणी करने लगा।

‘शाही मस्जिद हटाकर 13.37 एकड़ जमीन खाली कराई जाए’: ‘श्रीकृष्ण विराजमान’ ने मथुरा कोर्ट में दायर की याचिका

शाही ईदगाह मस्जिद को हटा कर श्रीकृष्ण जन्मभूमि की पूरी भूमि खाली कराने की माँग की गई है। याचिका में कहा गया है कि पूरी भूमि के प्रति हिन्दुओं की आस्था है।

सुशांत के भूत को समन भेजो, सारे जवाब मिल जाएँगे: लाइव टीवी पर नासिर अब्दुल्ला के बेतुके बोल

नासिर अब्दुल्ला वही शख्स है, जिसने कंगना पर बीएमसी की कार्रवाई का समर्थन करते हुए कहा था कि शिव सैनिक महिलाओं का सम्मान करते हैं, इसलिए बुलडोजर चलवाया है।

बेच चुका हूँ सारे गहने, पत्नी और बेटे चला रहे हैं खर्चा-पानी: अनिल अंबानी ने लंदन हाईकोर्ट को बताया

मामला 2012 में रिलायंस कम्युनिकेशन को दिए गए 90 करोड़ डॉलर के ऋण से जुड़ा हुआ है, जिसके लिए अनिल अंबानी ने व्यक्तिगत गारंटी दी थी।

‘हमें आईएसआई का आदेश है, सीएए विरोधी प्रदर्शन को उग्र बनाना है’: दिल्ली दंगों में अतहर खान ने लिए 3 नाम

दिल्ली दंगों के मामले में गिरफ्तार अतहर खान ने तीन ऐसे लोगों के नाम लिए हैं जो खालिस्तान समर्थक हैं और आईएसआई के लगातार संपर्क में थे।

ड्रग्स स्कैंडल: रकुल प्रीत ने उगले 4 बड़े बॉलीवुड सितारों के नाम, करण जौह​र ने क्षितिज रवि से पल्ला झाड़ा

NCB आज दीपिका पादुकोण, सारा अली खान और श्रद्धा कपूर से पूछताछ करने वाली है। उससे पहले रकुल प्रीत ने क्षितिज का नाम लिया है, जो करण जौहर के करीबी बताए जाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

‘मुझे सोफे पर धकेला, पैंट खोली और… ‘: पुलिस को बताई अनुराग कश्यप की सारी करतूत

अनुराग कश्यप ने कब, क्या और कैसे किया, यह सब कुछ पायल घोष ने पुलिस को दी शिकायत में विस्तार से बताया है।

पूना पैक्ट: समझौते के बावजूद अंबेडकर ने गाँधी जी के लिए कहा था- मैं उन्हें महात्मा कहने से इंकार करता हूँ

अंबेडकर ने गाँधी जी से कहा, “मैं अपने समुदाय के लिए राजनीतिक शक्ति चाहता हूँ। हमारे जीवित रहने के लिए यह बेहद आवश्यक है।"

नूर हसन ने कत्ल के बाद बीवी, साली और सास के शव से किया रेप, चेहरा जला अलग-अलग जगह फेंका

पानीपत के ट्रिपल मर्डर का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने नूर हसन को गिरफ्तार कर लिया है। उसने बीवी, साली और सास की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया है।

‘काफिरों का खून बहाना होगा, 2-4 पुलिस वालों को भी मारना होगा’ – दिल्ली दंगों के लिए होती थी मीटिंग, वहीं से खुलासा

"हम दिल्ली के मुख्यमंत्री पर दबाव डालें कि वह पूरी हिंसा का आरोप दिल्ली पुलिस पर लगा दें। हमें अपने अधिकारों के लिए सड़कों पर उतरना होगा।”

‘मारो, काटो’: हिंदू परिवार पर हमला, 3 घंटे इस्लामी भीड़ ने चौथी के बच्चे के पोस्ट पर काटा बवाल

कानपुर के मकनपुर गाँव में मुस्लिम भीड़ ने एक हिंदू घर को निशाना बनाया। बुजुर्गों और महिलाओं को भी नहीं छोड़ा।

एजाज़ ने प्रिया सोनी से कोर्ट मैरिज के बाद इस्लाम कबूल करने का बनाया दबाव, मना करने पर दोस्त शोएब के साथ रेत दिया...

"एजाज़ ने प्रिया को एक लॉज में बंद करके रखा था, वह प्रिया पर लगातार धर्म परिवर्तन का दबाव बनाता था। जब वह अपने इरादों में कामयाब नहीं हुआ तो उसने चोपन में दोस्त शोएब को बुलाया और उसके साथ मिल कर प्रिया का गला रेत दिया।"

आजतक के कैमरे से नहीं बच पाएगी दीपिका: रिपब्लिक को ज्ञान दे राजदीप के इंडिया टुडे पर वही ‘सनसनी’

'आजतक' का एक पत्रकार कहता दिखता है, "हमारे कैमरों से नहीं बच पाएँगी दीपिका पादुकोण"। इसके बाद वह उनके फेस मास्क से लेकर कपड़ों तक पर टिप्पणी करने लगा।

‘शाही मस्जिद हटाकर 13.37 एकड़ जमीन खाली कराई जाए’: ‘श्रीकृष्ण विराजमान’ ने मथुरा कोर्ट में दायर की याचिका

शाही ईदगाह मस्जिद को हटा कर श्रीकृष्ण जन्मभूमि की पूरी भूमि खाली कराने की माँग की गई है। याचिका में कहा गया है कि पूरी भूमि के प्रति हिन्दुओं की आस्था है।

’24 घंटे के भीतर मुख्तार अंसारी को छोड़ो वरना सरकार मिटा देंगे, CM योगी को भी नहीं छोड़ेंगे’

मुख्तार अंसारी और उसके करीबियों के खिलाफ कार्रवाई के बाद माफियाओं की बौखलाहट नजर आने लगी है। सीएम योगी आदित्यनाथ को धमकी दी गई है।

सुशांत के भूत को समन भेजो, सारे जवाब मिल जाएँगे: लाइव टीवी पर नासिर अब्दुल्ला के बेतुके बोल

नासिर अब्दुल्ला वही शख्स है, जिसने कंगना पर बीएमसी की कार्रवाई का समर्थन करते हुए कहा था कि शिव सैनिक महिलाओं का सम्मान करते हैं, इसलिए बुलडोजर चलवाया है।

बेच चुका हूँ सारे गहने, पत्नी और बेटे चला रहे हैं खर्चा-पानी: अनिल अंबानी ने लंदन हाईकोर्ट को बताया

मामला 2012 में रिलायंस कम्युनिकेशन को दिए गए 90 करोड़ डॉलर के ऋण से जुड़ा हुआ है, जिसके लिए अनिल अंबानी ने व्यक्तिगत गारंटी दी थी।

‘हमें आईएसआई का आदेश है, सीएए विरोधी प्रदर्शन को उग्र बनाना है’: दिल्ली दंगों में अतहर खान ने लिए 3 नाम

दिल्ली दंगों के मामले में गिरफ्तार अतहर खान ने तीन ऐसे लोगों के नाम लिए हैं जो खालिस्तान समर्थक हैं और आईएसआई के लगातार संपर्क में थे।

बेंगलुरु ब्लास्ट: केरल से धराए गुलनवाज की जड़ें यूपी में, अब्बू ने कहा- मेरा बेटा आतंकी नहीं हो सकता

आतंकी मुहम्मद गुलनवाज ने हवाला नेटवर्क का इस्तेमाल कर लश्कर के लिए फंडिंग जुटाई थी ताकि भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम दिया जा सके।

झारखंड: पहाड़िया जनजाति की नाबालिग से गैंगरेप, अंसारी गिरफ्तार; पुलिस पर मामले को दबाने का आरोप

झारखंड के गोड्डा जिले में पहाड़िया जनजाति की नाबालिग से चार लोगों ने रेप किया। आरोपितों में से एक महताब अंसारी गिरफ्तार कर लिया गया है।

ड्रग्स स्कैंडल: रकुल प्रीत ने उगले 4 बड़े बॉलीवुड सितारों के नाम, करण जौह​र ने क्षितिज रवि से पल्ला झाड़ा

NCB आज दीपिका पादुकोण, सारा अली खान और श्रद्धा कपूर से पूछताछ करने वाली है। उससे पहले रकुल प्रीत ने क्षितिज का नाम लिया है, जो करण जौहर के करीबी बताए जाते हैं।

‘यही लोग संस्थानों की प्रतिष्ठा को ठेस पहुँचाने का मौका नहीं छोड़ते’: उमर खालिद के समर्थकों को पूर्व जजों ने लताड़ा

दिल्ली दंगों में उमर खालिद की गिरफ्तारी के बाद पुलिस और सरकारी की मंशा पर सवाल उठाने वाले लॉबी को पूर्व जजों ने लताड़ लगाई है।

हमसे जुड़ें

264,935FansLike
78,048FollowersFollow
324,000SubscribersSubscribe
Advertisements