Saturday, December 4, 2021
Homeराजनीतिवोटर समझदार होता है, हमें उनका सम्मान करना चाहिए: राहुल के उत्तर-दक्षिण वाले बयान...

वोटर समझदार होता है, हमें उनका सम्मान करना चाहिए: राहुल के उत्तर-दक्षिण वाले बयान पर कॉन्ग्रेस नेता कपिल सिब्बल

"...मैं कोई व्यक्तिगत टिप्पणी नहीं करना चाहता हूँ। मतदाता कहीं का भी हो उसे इज्जत देनी चाहिए।"

कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी द्वारा उत्तर भारत की राजनीति पर दिए गए बयान पर घमासान जारी है। भाजपा नेताओं के बाद अब उनके ही पार्टी के सदस्य उन पर हमलावर होते हुए नजर आ रहे है। कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने राहुल गाँधी को नसीहत दी कि सभी मतदाताओं का सम्मान करना चाहिए, चाहे वो उत्तर से हो या दक्षिण से, वोटर्स समझदार होते हैं। साथ ही, वरिष्ठ कॉन्ग्रेस नेता सिब्बल ने कहा कि मैं कोई व्यक्तिगत टिप्पणी नहीं करना चाहता हूँ मगर मतदाता कहीं का भी हो उसे इज्जत देनी चाहिए।

दरअसल, कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी ने केरल दौरे के दौरान त्रिवेंद्रम में एक विवादित बयान दिया था। जिस पर जमकर बहस छिड़ गई। केरल के तिरुवनंतपुरम में वायनाड से सांसद राहुल ने कहा था कि वो 15 साल तक उत्तर भारत से सांसद रहे, लेकिन केरल आने पर उन्हें अलग अनुभव हुआ। उन्होंने कहा कि यहाँ के लोग मुद्दों में दिलचस्पी रखते हैं, सिर्फ सतही तौर पर बात नहीं की जाती है, बल्कि संजीदगी से उस पर विचार करते हैं।

बता दें कि राहुल गाँधी का यह बयान उत्तर भारत और खासकर उन्हें आज देते रहने वाले मतदाताओं पर ही कटाक्ष था। इसी बयान पर सवाल खड़ा करते हुए कपिल सिब्बल ने कहा कि, हमें मतदाताओं का सम्मान करना चाहिए, चाहे वो उत्तर से हो या दक्षिण से। कपिल सिब्बल ने कहा कि मतदाताओं को अपने अधिकारों का पता होता है, किसे वोट करना है कैसे वोट करना है उन्हें मालूम होता है, चाहे वो दक्षिण से हो, उत्तर के राज्यों से हो, पश्चिम बंगाल से या फिर किसी अन्य इलाके से।

उन्होंने आगे राहुल गाँधी के बयान पर लीपापोती करते हुए कहा कि,”बंटवारे की राजनीति तो भाजपा करती है। मतदाता चाहे उत्तर भारत का हो या फिर दक्षिण भारत का सभी मतदाताओं को वोट देने की समझ है। मैं कोई व्यक्तिगत टिप्पणी नहीं करना चाहता हूँ। मुझे नहीं लगता कि कॉन्ग्रेस किसी भी चुनाव में किसी भी तरह का अपमान करेगी। हमें देश में इलेक्टर्स का सम्मान करना चाहिए और हमें उनकी बुद्धिमत्ता को नहीं नकारना चाहिए।”

गौरतलब है कि इससे पहले राहुल गाँधी की विवादित टिप्पणी पर केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता स्मृति ईरानी ने भी उन्हें लताड़ा। राहुल को अमेठी में हराने वाली बीजेपी सांसद स्मृति ईरानी ने उन्हें एहसान फरामोश तक करार देते हुए ट्वीट किया, “एहसान फरामोश! इनके बारे में तो दुनिया कहती है- थोथा चना बाजे घना।”

इसके अलावा ईरानी ने गाँधी परिवार पर हमला बोलते हुए कहा था कि अगर गाँधी परिवार को उत्तर भारत के लोगों के प्रति हीन भावना है तो फिर ये लोग उत्तर भारत में राजनीति क्यों कर रहे हैं। राहुल गाँधी जिस उत्तर भारत का अपमान कर रहे हैं, उसी इलाके से उनकी माँ सोनिया गाँधी सांसद हैं। राहुल गाँधी ने जो बयान दिया है वो माफी के लायक नहीं है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘आतंक का कोई मजहब नहीं होता’ – एक आदमी जिंदा जला कर मार डाला गया और मीडिया खेलने लगी ‘खेल’

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फैलाया जा रहा प्रोपगेंडा जिन स्थानीय खबरों पर चल रहा है उनमें बताया जा रहा है कि ये सब अराजक तत्वों ने किया था, इस्लामी भीड़ ने नहीं।

‘महिला-पुरुष की मालिश का मतलब यौन संबंध नहीं होता, इस पर कार्रवाई से परहेज करें’: HC ने दिल्ली सरकार को फटकारा

दिल्ली सरकार स्पा में क्रॉस-जेंडर मसाज पर रोक लगा चुकी है। इसके अलावा रिहायशी इलाकों में नए मसाज सेंटर खोलने पर भी रोक लगा दी गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,510FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe