Wednesday, December 8, 2021
HomeराजनीतिAAP ने शाहीन बाग को उसके हाल पर छोड़ा, अमित शाह से मिल केजरीवाल...

AAP ने शाहीन बाग को उसके हाल पर छोड़ा, अमित शाह से मिल केजरीवाल ने नहीं की कोई बात

चुनाव का दौरान दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया ने खुलेआम कहा था कि उनकी पार्टी शाहीन बाग के साथ है। लेकिन बाद में आप ने शाहीन बाग से दूरी बनानी शुरू कर दी थी। ऐसा मुकाबले में बीजेपी के लौटने के अनुमानों के बाद किया गया था।

दिल्ली के हालिया विधानसभा चुनावों में मुसलमानों का जबर्दस्त ध्रुवीकरण दिखा था। उन्होंने आम आदमी पार्टी के पक्ष में एकमुश्त होकर वोट डाले थे। उन 16 विधानसभा सीटों पर जहॉं 15 से 50 फीसदी मुस्लिम आबादी है 12 आप के खाते में गई। लेकिन, ऐसा लगता है कि सत्ता में वापसी के बाद अब आप के लिए शाहीन बाग बेमानी हो गया है। इसके संकेत मुख्यमंत्री केजरीवाल ने खुद बुधवार को दिए।

केजरीवाल ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से उनके आवास पर जाकर भेंट की। विधानसभा चुनाव के बाद दोनों नेताओं की यह पहली मुलाकात थी। करीब 20 मिनट तक चली मुलाकात के बाद केजरीवाल ने बताया कि इस दौरान दिल्ली के तमाम मसलों पर चर्चा हुई। उन्होंने ट्वीट किया, “गृह मंत्री अमित शाह जी से मिला। बहुत ही फलदायी मुलाकात रही। दिल्ली से जुड़े तमाम मुद्दों पर चर्चा हुई। हम दोनों सहमत हुए कि दिल्ली के विकास के लिए मिलकर काम करेंगे।” यह पूछे जाने पर कि क्या इस दौरान शाहीन बाग पर कोई बात हुई तो केजरीवाल ने कहा- इस पर कोई चर्चा नहीं हुई।

केजरीवाल ने शाहीन बाग के मसले से ऐसे वक्त में दूरी बनाई है जब विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद से ही वहॉं से भीड़ छंटने की खबरें लगातार आ रही है। मीडिया रिपोर्टों में दावा किया जा रहा है कि धरने को जारी रखने के लिए इसके सूत्रधारों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है और अब वे इससे पीछा छुड़ने की जुगत में लगे हैं। शाहीन बाग में सीएए के विरोध में दो महीने से ज्यादा समय से धरना चल रहा है। इनसे बातचीत के लिए सुप्रीम कोर्ट ने वार्ताकारों की एक टीम बनाई है।

चुनाव का दौरान दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया ने खुलेआम कहा था कि उनकी पार्टी शाहीन बाग के साथ है। लेकिन बाद में आप ने शाहीन बाग से दूरी बनानी शुरू कर दी थी। ऐसा मुकाबले में बीजेपी के लौटने के अनुमानों के बाद किया गया था। इसके बाद केजरीवाल ने खुद को हनुमान भक्त के तौर पर प्रोजेक्ट करना शुरू किया था। एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में उन्होंने हनुमान चालीसा पढ़ी और मतदान के दिन हनुमान जी के दर्शन भी किए। इतना ही नहीं शपथ लेते वक्त भी उन्होंने आम आदमी की टोपी को विदाई दे टीका लगा रखा था। आप ने हर महीने के पहले मंगलवार को हर विधानसभा क्षेत्र में सुंदर कांड का पाठ करने का फैसला भी किया है।

दिल्ली चुनाव ख़त्म होते ही ठंडा पड़ा जोश: रामलीला मैदान शिफ्ट होने को तैयार शाहीन बाग़ के उपद्रवी

दंगा पीड़ितों के नाम पर पैसा खाने वाली तीस्ता सीतलवाड़ शाहीन बाग में दिखी, लगाई ‘क्लास’

शाहीन बाग का ऐलान: अरे ओ सुन ले, तू हमें करंट क्या लगाएगा? अब तू दिल्ली से ही नहीं, हिंदुस्तान से भी जाएगा

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘वसीम रिजवी का सिर कलम करने वाले को 25 लाख रुपए का इनाम’: कॉन्ग्रेस नेता ने खुलेआम किया दोबारा ऐलान

कॉन्ग्रेस विधायक राशिद खान ने मंगलवार को कहा कि वह शिया वक्‍फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी का सिर काटने वाले को 25 लाख रुपए का इनाम देने की बात पर अभी भी कायम हैं।

‘गुस्ताख़ की सज़ा मौत है दुनिया को बता दो’: उर्दू गानों में हिन्दुओं के नरसंहार की बातें, उकसाया जाता है गला रेतने को

भीड़ द्वारा हिन्दुओं की हत्याओं को भी इन उर्दू गानों में जायज ठहराया जाता है। हमने ऐसे ही कुछ गानों की पड़ताल की और उनके लिरिक्स को समझा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
142,284FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe