Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीतिकॉन्ग्रेस छोड़ किरण और श्रुति ने थामा कमल: कभी तीन लाल में बँटी थी...

कॉन्ग्रेस छोड़ किरण और श्रुति ने थामा कमल: कभी तीन लाल में बँटी थी हरियाणा की राजनीति, अब BJP सबका परिवार

किरण चौधरी कॉन्ग्रेस की कद्दावर नेता रही हैं। वो दिल्ली में भी विधायक और डिप्टी स्पीकर पद पर रह चुकी हैं। चौधरी बंसीलाल की बहू किरण चौधरी 5 बार विधायक रही हैं।

हरियाणा की राजनीति के केंद्र में तीन लाल- बंसीलाल, भजन लाल और देवी लाल ही रहे। साल 2014 से हरियाणा की राजनीति पर छाया चौथा लाल यानी मनोहर लाल… और अब मनोहर लाल की अगुवाई में तीनों ही दिग्गज लाल के परिवार बीजेपी में आ चुके हैं। भजन लाल और देवी लाल के परिवार को कॉन्ग्रेस से बीजेपी में लाने के बाद मनोहर लाल अब बंसी लाल के परिवार को बीजेपी में लाए हैं। 5 बार की विधायक और कॉन्ग्रेस में कई अहम पदों को संभाल चुकी किरण चौधरी और उनकी पूर्व सांसद बेटी श्रुति चौधरी ने कॉन्ग्रेस छोड़ कर मनोहर लाल की मौजूदगी में बीजेपी की सदस्यता ले ली।

दिल्ली में कॉन्ग्रेस की नेता और मौजूदा विधायक किरण चौधरी बेटी श्रुति के साथ हरियाणा के मुख्यमंत्री नायाब सिंह सैनी, केंद्रीय मंत्री और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, बीजेपी के राष्ट्र महासचिव तरुण चुघ की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हुईं।

बीजेपी में शामिल होने के बाद किरण चौधरी और उनकी बेटी श्रुति चौधरी दिल्ली पहुँचे और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। किरण चौधरी ने एक्स पर जेपी नड्डा से मुलाकात की जानकारी देते हुए लिखा, “भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने के उपरांत पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। इस दौरान क्षेत्र व हरियाणा के हित के मुद्दों पर सार्थक चर्चा की।”

कौन हैं किरण चौधरी?

किरण चौधरी कॉन्ग्रेस की कद्दावर नेता रही हैं। वो दिल्ली में भी विधायक और डिप्टी स्पीकर पद पर रह चुकी हैं। चौधरी बंसीलाल की बहू किरण चौधरी 5 बार विधायक रही हैं। मौजूदा समय में वो तोशाम सीट से विधायक हैं। वहीं, उनकी बेटी श्रुति चौधरी साल 2009 में भिवानी लोकसभा सीट से सांसद रह चुकी हैं, हालाँकि 2014 और 2029 में उन्हें हार का मुँह देखना पड़ा था। इसके बाद 2024 में उन्हें कॉन्ग्रेस ने टिकट नहीं दिया था। माना जाता है कि वो हरियाणा में भूपेंद्र सिंह हुड्डा कैंप की विरोधी हैं।

हरियाणा के 3 लाल, तीनों परिवारों का रहा है जलवा

हरियाणा की राजनीति में कभी बंसीलाल, भजनलाल या देवीलाल के बिना एक भी पत्ता नहीं हिलता था। फिर साल 2014 में हरियाणा में बीजेपी की सरकार बनी और चौथे लाल यानी मनोहर लाल हरियाणा के मुख्यमंत्री बने। तब से लेकर मनोहर लाल ने बीजेपी को हरियाणा में मजबूत ही किया है। पूर्व उपप्रधानमंत्री देवीलाल के पुत्र रणजीत सिंह को भाजपा ने 2024 में हिसार से लोकसभा का चुनाव लड़वाया। चुनाव से पहले ही रणजीत ने बीजेपी ज्वाइन की थी। पूर्व मुख्यमंत्री भजनलाल के बेटे कुलदीप बिश्नोई, पुत्रवधू रेणुका बिश्नोई व पौत्र भव्य बिश्नोई और अब पूर्व मुख्यमंत्री बंसीलाल की पुत्रवधू किरण चौधरी व पौत्री श्रुति चौधरी भी बीजेपी में शामिल हो गई हैं।

अब से महज कुछ ही माह के अंदर हरियाणा में विधानसभा चुनाव होना है। ऐसे में देखना ये है कि बीजेपी और हरियाणा के तीनों लाल और एक पूर्व मुख्यमंत्री राव बीरेंद्र सिंह के बेटे राव इंद्रजीत सिंह का परिवार मनोहर लाल और नायाब सैनी के नेतृत्व में कैसा प्रदर्शन कर पाता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -