Friday, June 14, 2024
Homeराजनीतितेलंगाना में सरकार बनते ही कॉन्ग्रेस ने अडानी से किया करार, ₹12400 करोड़ के...

तेलंगाना में सरकार बनते ही कॉन्ग्रेस ने अडानी से किया करार, ₹12400 करोड़ के निवेश के लिए डील: पत्रकार ने पूछा सवाल तो खिसिया कर चिदंबरम ने खिसका दी माइक

वहीं 'अडानी डिफेन्स सिस्टम एन्ड टेक्नोलॉजीज' अभी अगले 10 वर्षों में, रिसर्च, डेवलपमेंट, डिजाइन, मैन्युफैक्चरिंग और 'अडानी ऐरोस्पेस पार्क' में काउंटर ड्रोन मिसाइल सिस्टम के इंटीग्रेशन सहित अन्य कार्यों के लिए 1000 करोड़ रुपए का निवेश करेगी।

राहुल गाँधी और कॉन्ग्रेस के अन्य नेता गौतम अडानी को भला-बुरा कहते रहते हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनका नाम गलत तरीके से पेश करते हैं। वहीं अब उनकी ही पार्टी की सरकार अडानी के साथ डील कर रही है, निवेश के लिए अडानी के साथ हाथ मिला रही है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी की अडानी समूह के चेयरमैन गौतम अडानी के साथ तस्वीर भी सामने आई है। अडानी समूह और तेलंगाना की कॉन्ग्रेस सरकार के बीच 4 MoU पर हस्ताक्षर किए गए हैं।

‘वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम, 2024’ में हुए इन करारों के तहत अडानी समूह तेलंगाना में 12,400 करोड़ रुपए का निवेश करेगा। बुधवार (17 जनवरी, 2024) को कंपनी ने एक बयान जारी कर के ये जानकारी दी। बता दें कि WEF का मौजूदा संस्करण स्विट्जरलैंड के दावोस में हो रहा है। तेलंगाना में 100 MW का एक डेटा सेंटर बन रहा है, जिसमें अडानी समूह 5000 करोड़ रुपए का निवेश करेगा। ये 5-7 तक रिन्यूवेबल इनर्जी से चलता रहेगा।

कंपनी ने कहा है कि इसके माध्यम से वो लगभग 600 लोगों के लिए प्रत्यक्ष/अप्रत्यक्ष रोजगार का सृजन भी करेगी। इसके अलावा ‘अडानी ग्रीन एनर्जी’ ने भी 5000 करोड़ रुपए का निवेश का निर्णय लिया है। 2 स्टोरेज प्रोजेक्ट्स की स्थापना की जाएगी। ये 850 MW और 500 MW के होंगे। इन्हें क्रमशः कोयाबस्तगुडेम और नचाराम में स्थापित किया जाएगा। वहीं ‘अम्बुजा सीमेंट्स’ भी 1400 करोड़ रुपए की लागत से 6 MTPA प्लांट्स स्थापित करेगा, जिससे 4000 लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

अगले 5 वर्षों में इस यूनिट की स्थापना कर दी जाएगी। इसके लिए 70 एकड़ जमीन का आवंटन किया जाएगा। वहीं ‘अडानी डिफेन्स सिस्टम एन्ड टेक्नोलॉजीज’ अभी अगले 10 वर्षों में, रिसर्च, डेवलपमेंट, डिजाइन, मैन्युफैक्चरिंग और ‘अडानी ऐरोस्पेस पार्क’ में काउंटर ड्रोन मिसाइल सिस्टम के इंटीग्रेशन सहित अन्य कार्यों के लिए 1000 करोड़ रुपए का निवेश करेगी। इसमें भी 1000 रोजगार का सृजन होगा। इस तरह अडानी समूह तेलंगाना के विकास में योगदान देगा।

वहीं जब पूर्व केंद्रीय मंत्री P चिदंबरम से इस सम्बन्ध में सवाल पूछा गया तो उन्होंने माइक सुप्रिया श्रीनेत की तरफ खिसका दिया। पी चिदंबरम से पूछा गया कि कॉन्ग्रेस नेता अडानी पर सवाल उठा रहे हैं और तेलंगाना की सरकार अडानी के साथ MoU साइन कर रही है। चिदंबरम द्वारा माइक खिसकाने के बाद सुप्रिया श्रीनेत कहने लगीं कि ये मैनिफेस्टो लॉन्च को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस है और सवाल इसी पर केंद्रित रखे जाने चाहिए, ये एक बड़ी चीज है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -