Tuesday, July 27, 2021
Homeराजनीतिहैदराबाद निकाय चुनाव में भाजपा का अप्रत्याशित प्रदर्शन: शुरूआती रुझानों में 80 सीटों पर...

हैदराबाद निकाय चुनाव में भाजपा का अप्रत्याशित प्रदर्शन: शुरूआती रुझानों में 80 सीटों पर बढ़त, TRS 30 सीटों पर आगे

ख़बर लिखे जाने तक सामने आए रुझानों की बात करें भाजपा लगभग 80 सीटों पर आगे चल रही थी। वहीं प्रदेश का सत्ताधारी दल टीआरएस ने 32 और एआईएमआईएम ने 14 सीटों पर बढ़त बनाई थी। फ़िलहाल यह शुरूआती रुझान हैं, कुछ घंटों के बाद ही चुनावी नतीजों की स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

हाल ही में हुए ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव (जीएचएमसी) की मतगणना जारी है। शुरूआती रुझान भारतीय जनता पार्टी के लिए अप्रत्याशित रूप से सकारात्मक परिणाम लेकर आए हैं। भाजपा ने शुरूआती रुझानों में ही भारी बढ़त दर्ज कर ली है। असदुद्दीन ओवैसी और उनके राजनीति दल एआईएमआईएम का गढ़ माने जाने वाले हैदराबाद में भाजपा लगभग 75 से 80 सीटों पर आगे चल रही है। वहीं प्रदेश का सत्ताधारी दल तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) लगभग 30 से 35 सीटों पर आगे चल रहा है। 

भाजपा ने हैदराबाद के निकाय चुनावों में पूरे संगठन की ताकत झोंक दी थी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत तमाम फायरब्रांड नेताओं ने हैदराबाद के कई क्षेत्रों में जनसभाएँ और रोड शो किए थे। भाजपा के इन राजनीतिक आयोजनों में भी काफी भीड़ नज़र आई थी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुराने हैदराबाद क्षेत्र में कई जनसभाओं के दौरान भाषण भी दिए थे। 

भाषण के दौरान उन्होंने हैदराबाद का नाम बदलने का ज़िक्र छेड़ा था जो काफी सुर्ख़ियों में बना हुआ था। इसके अलावा गृह मंत्री अमित शाह ने भी निकाय चुनाव के ठीक पहले हैदराबाद का दौरा किया था, उन्होंने कहा था कि भाजपा के चुनाव जीतने पर हैदराबाद को निज़ाम-नवाब कल्चर से आज़ादी दिलायेंगे। इसके अलावा शहर को तकनीक के हब के रूप में स्थापित करेंगे। 

साल 2016 के हैदराबाद निकाय चुनावों में भाजपा को सिर्फ 5 सीटें हासिल हुई थीं। इस चुनाव में आज कुल 1122 प्रत्याशियों के भाग्य का निर्णय होना है। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव की मतगणना सुबह आठ बजे से ही शुरू कर दी गई थी, पहले पेपर बैलेट की गणना की जा रही है। एक घंटे के भीतर 10 सीटों का रुझान आने के दौरान ही भाजपा 7 सीटों पर आगे चल रही थी और टीआरएस ने सिर्फ 3 सीटों पर बढ़त बनाई थी। 

दूसरा घंटा पूरा होने पर भाजपा ने लगभग 25 से 30 सीटों पर बढ़त बना ली थी और टीआरएस 10 सीटों पर आगे थी। इसके कुछ समय बाद के रुझान में भाजपा 40 सीटों पर आगे चल रही थी और सत्ताधारी दल टीआरएस कुल 14 सीटों पर आगे चल रही थी। ख़बर लिखे जाने तक सामने आए रुझानों की बात करें भाजपा लगभग 80 सीटों पर आगे चल रही थी। वहीं प्रदेश का सत्ताधारी दल टीआरएस ने 32 और एआईएमआईएम ने 14 सीटों पर बढ़त बनाई थी। फ़िलहाल यह शुरूआती रुझान हैं, कुछ घंटों के बाद ही चुनावी नतीजों की स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।               

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाम: नूर मुहम्मद, काम: रोहिंग्या-बांग्लादेशी महिलाओं और बच्चों को बेचना; 36 घंटे चला UP पुलिस का ऑपरेशन, पकड़ा गया गिरोह

देश में रोहिंग्याओं को बसाने वाले अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी के गिरोह का उत्तर प्रदेश एटीएस ने भंडाफोड़ किया है। तीन लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है।

‘राजीव गाँधी थे PM, उत्तर-पूर्व में गिरी थी 41 लाशें’: मोदी सरकार पर तंज कसने के फेर में ‘इतिहासकार’ इरफ़ान हबीब भूले 1985

इतिहासकार व 'बुद्धिजीवी' इरफ़ान हबीब ने असम-मिजोरम विवाद के सहारे मोदी सरकार पर तंज कसा, जिसके बाद लोगों ने उन्हें सही इतिहास की याद दिलाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,464FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe