Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाज'हम खून की नदियाँ बहा सकते हैं': हैदराबाद में कट्टरपंथियों को उकसा रहे कॉन्ग्रेसी,...

‘हम खून की नदियाँ बहा सकते हैं’: हैदराबाद में कट्टरपंथियों को उकसा रहे कॉन्ग्रेसी, MLA फिरोज खान ने कहा- राजा सिंह जहाँ भी मिले मुस्लिम उसे पीटें

राशिद खान से जब पूछा गया कि क्या वो 'सर तन से जुदा' नारे का समर्थन करते हैं, तो इस पर राशिद खान ने कहा कि ये नारेबाजी इसलिए हो रही है क्योंकि रसूल की शान में बोला गया। मुसलमान अपना सिर कटा सकता है, खून की नदियाँ बहा सकता है, अपनी जान को कुर्बान कर सकता है। पर, रसूल की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

हैदराबाद में टी राजा सिंह के बयान के बाद ‘सर तन से जुदा’ करने की माँग लेकर सड़कों पर उतरी भीड़ को कॉन्ग्रेस के कट्टरपंथी नेताओं का समर्थन मिल गया है। तेलंगाना के कॉन्ग्रेस के सचिव राशिद खान को जहाँ अब भी ‘आग लगाने’ की बात कहने का कोई पछतावा नहीं है। वहीं कॉन्ग्रेस विधायक फिरोज खान ने कहा है कि अगर राजा सिंह ने माफी नहीं माँगी तो वो हर मुस्लिम को कहेंगे कि राजा को पीटें।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, फिरोज ने कहा है कि राजा सिंह को अपने कहे के लिए माफी माँगनी होगी और ये कहना होगा कि पैगंबर मोहम्मद मुस्लिम समुदाय के हीरो हैं। फिरोज खान ने कहा,

“टी राजा सिंह तुष्टिकरण की राजनीति करना चाहता है। उसे जेल में डालो। राजा सिंह को अपने बयान पर माफी माँगनी होगी। अगर उसने ये नहीं किया तो मैं हर मुस्लिम से कहना चाहता हूँ कि वो हैदराबाद में जहाँ मिले वहाँ उसे पीटें। हम एक बार नहीं बार-बार कानून को अपने हाथ में ले सकते हैं।”

राशिद खान आग लगाने की बात पर कायम, सर तन से जुदा नारे को बताया सही

बता दें कि इससे पहले राज्य में कॉन्ग्रेस के सचिव राशिद खान ने कहा था कि अगर राजा सिंह की गिरफ्तारी नहीं हुई तो गोशामहल जाकर राजा सिंह के घर में आग लगा देंगे। आज दोबारा उन्होंने ऐसी भड़काऊ बयानबाजी की है। उन्होंने कहा है,

“राजा सिंह ने पहली बार ये बयान नहीं दिया है। वो बार-बार पैगंबर मोहम्मद की शान में गुस्ताखी करता है। उसी की वजह से तेलंगाना का माहौल खराब हुआ है। ये आदमी लगातार मुसलमानों की आस्था से खेल रहा है। उन्हें तकलीफ दे रहा है। अगर हिंदू-मुसलमान के झगड़े छिड़ गए, बस्तियाँ जल गईं तो कौन जिम्मेदार होगा। बीजेपी-आरएसएस लगातार ऐसे कार्टूनों को पैदा कर रही है। हिंदुत्व का जहर उगलकर उसे सड़कों पर छोड़ रही है। आज माहौल देखो हर जगह हिंदू मुस्लिम। मंदिर-मस्जिद की बात हो रही है। कोई तरक्की की बात नहीं कर रहा।”

राशिद के अनुसार, उन लोगों ने पुलिस से राजा की गिरफ्तारी की माँग की थी, जो कि हुई, मगर बाद में उसे छोड़ दिया गया। कॉन्ग्रेस सचिव कहते हैं कि अगर कानून अपना काम करती तो कभी लोगों को सड़कों पर नहीं उतरना पड़ता। राजा सिंह के खिलाफ कई एफआईआर दर्ज हैं। पर कभी तेलंगाना पुलिस ने उसे हिरासत में नहीं लिया। इस बार लिया क्योंकि जनता सड़क पर उतर गई। मुस्लिम आग बबूला हो गए। पुलिस को डर था कि मुस्लिम गोशामहल में दाखिल होकर राजा सिंह का घर जला देंगे, इसीलिए उन्हें इस दफा हिरासत में लेकर कोर्ट में पेश किया गया।

खून बहा सकते हैं, सिर कटा सकते हैं: कॉन्ग्रेस सचिव

राशिद खान से जब पूछा गया कि क्या वो ‘सर तन से जुदा’ नारे का समर्थन करते हैं, तो इस पर राशिद खान ने कहा कि ये नारेबाजी इसलिए हो रही है क्योंकि रसूल की शान में बोला गया। मुसलमान अपना सिर कटा सकता है, खून की नदियाँ बहा सकता है, अपनी जान को कुर्बान कर सकता है। पर, रसूल की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

कॉन्ग्रेस नेता ने टी राजा को पार्टी से निलंबित किए जाने के फैसले को पहले से प्री-प्लॉन्ड बताया। उन्होंने कहा कि वह जो ‘सर तन से जुदा’ नारे का समर्थन कर रहे हैं, उसका कॉन्ग्रेस से लेना-देना नहीं है। वो मुसलमान होने के नाते ऐसा बोल रहे हैं। अगर किसी को लड़ना है तो राशिद खान से लड़े, मुसलमान से लड़े, कॉन्ग्रेस को बीच में न लाए।

राशिद के मुताबिक, पुलिस 23 अगस्त को राजा सिंह को हिरासत में नहीं लेती तो वो अपने आग लगाने वाले बयान पर खरा उतरते और आग लगा देते। लेकिन पुलिस ने राजा सिंह को हिरासत में लिया, इसलिए वो ऐसा नहीं कर रहे। राशिद कहते हैं कि कोर्ट को राजा सिंह को बेल नहीं देनी चाहिए थी। वो मुजरिम है। उसकी जुबान नहीं फिसली। ये लगातार सोची-समझी साजिश है। इसे बेल मिली है इसलिए मुस्लिमों का गुस्सा थमा नहीं है।

‘किसी का कत्ल हुआ तो राजा सिंह जिम्मेदार होगा’

एक अन्य वीडियो में राशिद खान को अल्लाह हू अकबर, नारा-ए-तकबीर, सर तन से जुदा नारे लगाने वाली भीड़ का समर्थन करते देखा जा सकता है। इसमें वो वही बात कर रहे हैं कि अगर हिंदू मुस्लिम झगड़े हुए, बस्तियाँ जल जाती हैं, किसी का कत्ल हो जाता है, तो इसके लिए सिर्फ राजा सिंह जिम्मेदार हैं।

पत्रकार ने उनसे जब पूछा कि क्या उनकी ऐसी बातों से माहौल खराब नहीं होगा? इस पर राशिद खान ने कहा कि माहौल खराब राजा सिंह ने किया है। इसके बाद भीड़ दोबारा अल्लाह- हू-अकबर के नारे लगाते सुनी जा सकती है। वहाँ खड़े लोग कहते हैं कि ‘सर तन से जुदा’ के नारे बिलकुल सही हैं और ये लगने चाहिए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -