Sunday, August 1, 2021
Homeराजनीतिभारत अपनी एक-एक इंच जमीन के लिए जागरूक, इसे कोई छीन नहीं सकता, सेना...

भारत अपनी एक-एक इंच जमीन के लिए जागरूक, इसे कोई छीन नहीं सकता, सेना युद्ध के लिए सदैव तैयार: अमित शाह

"हर राष्ट्र हमेशा (युद्ध के लिए) तैयार है। सेनाओं को तैयार रखने का उद्देश्य- आक्रामकता के किसी भी रूप का जवाब देना है। मैं यह किसी विशेष टिप्पणी के संदर्भ में नहीं कह रहा हूँ, लेकिन भारत की रक्षा सेना हमेशा तैयार है।"

गृहमंत्री अमित शाह ने चीन की चालबाजियों पर मुँहतोड़ जवाब देते हुए कहा है कि अपने देश की एक-एक इंच जमीन के लिए जागरूक हैं और इसको कोई छीन नहीं सकता। न्यूज 18 को दिए अपने इंटरव्यू में अमित शाह ने हाथरस, चीन और बिहार चुनाव के मुद्दे को लेकर विस्‍तार से बातचीत की है।

शनिवार को दिए अपने इंटरव्यू में अमित शाह ने कहा, “हर राष्ट्र हमेशा (युद्ध के लिए) तैयार है। सेनाओं को तैयार रखने का उद्देश्य- आक्रामकता के किसी भी रूप का जवाब देना है। मैं यह किसी विशेष टिप्पणी के संदर्भ में नहीं कह रहा हूँ, लेकिन भारत की रक्षा सेना हमेशा तैयार है।”

भारत और चीन के बीच जून में हुए झड़प के बाद दोनों देशों के राजनयिकों और सैन्य अधिकारियों के बीच कई बार चर्चाएँ हुई। अभी हाल ही में इस मुद्दे पर 13 अक्टूबर को भी एक बैठक हुई थी। लेकिन पीपुल्स लिबरेशन आर्मी मरीन कॉर्प्स के निरीक्षण के दौरान चीन के राष्ट्रपति के हालिया बयानों ने दुश्मनी को और हवा दी है। सैनिकों को संबोधित करते हुए, शी जिनपिंग ने सैनिकों को युद्ध के लिए तैयार रहने के लिए कहा था।

न्यूज़ 18 के द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश पर चीन के दावे के जवाब में भारत को तिब्बत और ताइवान के प्रति अपनी कूटनीतिक नीति बदलनी चाहिए? जिस पर जवाब देते हुए शाह ने कहा, “इस मुद्दे पर यहाँ चर्चा करना सही नहीं है। यह दूरगामी निहितार्थों के साथ एक बहुत ही जटिल मुद्दा है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर ने संसद के पटल पर भारत की स्थिति (चीन को लेकर) साफ़ कर दी है। मुझे लगता है कि वह पर्याप्त है। चीन के साथ हमारी बातचीत चल रही है।”

उन्होंने आगे कहा, “भारत को ग्लोबल कम्युनिटी का समर्थन प्राप्त है। हमारे इरादे नेक और मजबूत हैं। 130 करोड़ लोगों का देश किसी के सामने नहीं झुकेगा। हम सही भी है और अधिकांश देशों का हमारे साथ समर्थन है।”

अमित शाह ने बिहार चुनाव और नीतीश को लेकर एक और बयान दिया, “जब मैं पार्टी अध्यक्ष था तब मैंने कहा था और अब जब जेपी नड्डा हैं तो उन्होंने भी कहा है कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही बिहार चुनाव लड़ा जा रहा है। और जीतने पर नीतीश कुमार ही एनडीए के मुख्यमंत्री बनेंगे। इसमें कोई दो राय नहीं है, कोई दो मत नहीं है। जो कोई भी भ्रांतियां फैलान की कोशिश कर रहा है, मैं आज उसपर फुलस्टॉप लगाने जा रहा हूँ।”

शाह ने कहा, नीतीश कुमार ही बिहार के अगले मुख्‍यमंत्री होंगे। इससे पहले, 1 जून को मीडिया से खास बातचीत में अमित शाह ने बिहार विधानसभा चुनाव पर कहा था कि एनडीए की ओर से नीतीश कुमार ही मुख्‍यमंत्री का चेहरा रहेंगे।”

एनबीटी में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, बिहार चुनाव में अगर भारतीय जनता पार्टी की ज्यादा सीटें आती हैं तब भी क्या नीतीश कुमार ही सीएम बनेंगे, इस सवाल के जवाब में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि अगर मगर का कोई सवाल ही नहीं है। कुछ कमिटमेंट इस तरह के होते हैं जिन्हें सार्वजनिक रूप से किया जाता है और उनका पालन किया जाता है।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में पिछले 15 साल में जो विकास हुआ है वो जारी रहे। ऊपर मोदी जी, नीचे नीतीश जी, बिहार में डबल इंजन वाली सरकार, बिहार को विकसित राज्य की ओर तेज गति से आगे ले जाएगी।

वहीं हाथरस केस पर अमित शाह ने कहा कि हाथरस में भी रेप होता है और राजस्‍थान में भी रेप होता है। तूल क्‍यों सिर्फ हाथरस को मिलता है। कारण क्‍या है कि किसी दुर्भाग्‍यपूर्ण घटना को राजनीतिक रंग देना कितना उचित है?

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पीवी सिंधु ने ओलम्पिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता: वेटलिफ्टिंग और बॉक्सिंग के बाद बैडमिंटन ने दिलाया देश को तीसरा मेडल

भारत की बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने टोक्यो ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता। चीनी खिलाड़ी को 21-13, 21-15 से हराया।

PM मोदी रचने जा रहे एक और इतिहास: 75 साल में सुरक्षा परिषद बैठक की अध्यक्षता करने वाले बनेंगे पहले भारतीय प्रधानमंत्री

75 साल में ये पहला मौका है, जब एक भारतीय प्रधानमंत्री संयुक्त राष्ट्र के 15 सदस्यीय निकाय के एक कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,434FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe