Saturday, July 13, 2024
Homeराजनीति'आवाज हमारे पास भी है...': संसद में ऑस्कर पर बोलते-बोलते चिढ़ गईं जया बच्चन,...

‘आवाज हमारे पास भी है…’: संसद में ऑस्कर पर बोलते-बोलते चिढ़ गईं जया बच्चन, विजेताओं को बताया ‘अपनी फिल्म बिरादरी’ का

राज्यसभा सांसद नीरज ने उन्हें टोंक दिया। इस पर जया बच्चन ने कहा कि अरे नीरज क्या-क्या बीच-बीच में…इतना कहकर वह रुक गईं। इस दौरान स्थिति को संभालते हुए उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ ने नीरज को चुप कराया और जया बच्चन को आगे बोलने के लिए कहा।

बॉलीवुड एक्टर अमिताभ बच्चन की पत्नी और समाजवादी पार्टी की राज्यसभा सांसद जया बच्चन का गुस्सा संसद से सड़क तक कई बार सामने आ चुका है। राज्यसभा में भारतीय फिल्मों को ऑस्कर मिलने को लेकर बोलते हुए जया बच्चन एक बार फिर भड़क गईं। उन्होंने कहा है कि जब कोई सभ्यता की बात कर रहा हो तो असभ्यता नहीं दिखानी चाहिए।

दरअसल, राज्यसभा में ऑस्कर अवार्ड को लेकर चर्चा हो रही थी। इस वर्ष भारत को दो ऑस्कर मिले हैं, यह पूरे देश के लिए गर्व की बात है। लेकिन, कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे तथा AIADMK और DMK समेत कुछ अन्य नेताओं ने इस अवॉर्ड को दक्षिण भारत का पुरस्कार बताने की कोशिश की।

तब जया बच्चन (Jaya Bachchan) ने ‘आरआरआर’ और ‘द एलिफेंट व्हिस्परर्स’ की टीम को बधाई देते हुए कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे उत्तर से हैं, पूर्व से हैं, दक्षिण से हैं या फिर पश्चिम से हैं- वे भारतीय हैं। मैं यहाँ अपनी पूरी फिल्म बिरादरी के लिए गर्व और सम्मान के साथ खड़ी हूँ। जिन्होंने कई बार इस देश का प्रतिनिधित्व किया है और कई पुरस्कार भी जीते हैं।

तभी राज्यसभा सांसद नीरज ने उन्हें टोक दिया। इस पर जया बच्चन ने कहा कि अरे नीरज क्या-क्या बीच-बीच में…इतना कहकर वह रुक गईं। इस दौरान स्थिति को संभालते हुए उप-राष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ ने नीरज को चुप कराया और जया बच्चन को आगे बोलने के लिए कहा।

इसके बाद वह ‘आरआरआर’ के लेखक केवी विजयेंद्र प्रसाद को लेकर बोल रहीं थीं। उन्होंने कहा कि केवी विजयेंद्र केवल पटकथा लेखक ही नहीं हैं, वे कहानीकार और इस सदन के सदस्य भी हैं। यह एक बड़े सम्मान की बात है। तभी किसी ने उन्हें फिर टोक दिया। इस पर जया बच्चन भड़क गईं और कहा, “ये बीच में टोकने की आदत आजकल बढ़ती जा रही है। जब कोई सभ्यता की बात कर रहा हो तो असभ्य व्यवहार मत करिए। आवाज हमारे पास भी है।”

इस पर उपराष्ट्रपति ने एक बार फिर उन्हें शांत कराते हुए कहा कि आपके पास आवाज नहीं बल्कि बुलंद आवाज है। यही नहीं, उन्हें शांत कराने करते हुए राष्ट्रपति ने उनके परिवार की भी तारीफ की।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू कश्मीर के उप-राज्यपाल को अब दिल्ली के LG जितनी शक्तियाँ, ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए भी उनकी अनुमति ज़रूरी: मोदी सरकार के आदेश पर भड़के...

जब से जम्मू कश्मीर का पुनर्गठन हुआ है, तब से वहाँ चुनाव नहीं हो पाए हैं। मगर जब भी सरकार का गठन होगा तब सबसे अधिक शक्तियाँ राज्यपाल के पास होंगी। ये शक्तियाँ ऐसी ही हैं, जैसे दिल्ली के एलजी के पास होती है।

लालू यादव ने हाथ जोड़ अनिल अंबानी को किया प्रणाम, प्रियंका चतुर्वेदी ने एन्जॉय किया ‘यादगार क्षण’: अनंत अंबानी की शादी में I.N.D.I. नेताओं...

अखिलेश यादव अपनी बेटी और पत्नी डिंपल के साथ समारोह में मौजूद रहे। यहाँ तक कि कॉन्ग्रेस नेता सलमान ख़ुर्शीद भी अपने परिवार के साथ भोज खाने के लिए पहुँचे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -