Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीतिकंगना रनौत के ख़िलाफ़ मुंबई में शिकायत दर्ज: CM ठाकरे के लिए 'आपत्तिजनक' भाषा...

कंगना रनौत के ख़िलाफ़ मुंबई में शिकायत दर्ज: CM ठाकरे के लिए ‘आपत्तिजनक’ भाषा इस्तेमाल करने का है आरोप

30 सितंबर से पहले किसी भी प्रकार के Demolition कार्य पर सुप्रीम कोर्ट की रोक होने के बावजूद कल कंगना के कार्यालय पर बीएमसी ने कार्रवाई की और उसे पूरी तरह ध्वस्त कर दिया। इसके बाद अभिनेत्री ने अपना गुस्सा जाहिर करने के लिए एक वीडियो जारी करके उद्धव ठाकरे को अपना संदेश दिया।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के ऊपर ‘आपत्तिजनक’ टिप्पणी करने के आरोप में कंगना के ख़िलाफ मुंबई में शिकायत दर्ज हुई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह शिकायत मुंबई के विक्रोली पुलिस थाने में की गई है। इसमें बॉलीवुड अभिनेत्री पर आरोप लगा है कि उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का अपमान किया।

बता दें कि 30 सितंबर से पहले किसी भी प्रकार के Demolition कार्य पर सुप्रीम कोर्ट की रोक होने के बावजूद कल कंगना के कार्यालय पर बीएमसी ने कार्रवाई की और उसे पूरी तरह ध्वस्त कर दिया। इसके बाद अभिनेत्री ने अपना गुस्सा जाहिर करने के लिए एक वीडियो जारी करके उद्धव ठाकरे को अपना संदेश दिया।

उन्होंने वीडियो में कहा, “उद्धव ठाकरे, तुझे क्या लगता है, तूने फिल्म माफिया के साथ मिल कर मेरा घर तोड़ कर मुझसे बहुत बड़ा बदला लिया है। आज मेरा घर टूटा है। कल तेरा घमंड टूटेगा। ये वक्त का पहिया है। याद रखना हमेशा एक जैसा नहीं रहता। मुझे लगता है तुमने मुझपर बहुत बड़ा एहसान किया है। क्योंकि मुझे पता तो था कि कश्मीरी पंडितों पे क्या बीती होगी, लेकिन आज मैंने महसूस किया है।”

उन्होंने आगे कहा, “और आज मैं इस देश को वचन देती हूँ कि मैं सिर्फ़ अयोध्या पर ही नहीं कश्मीरी पंडितों पर भी एक फिल्म बनाऊँगी। मैं अपने देशवासियों को जगाऊँगी क्योंकि मुझे पता था हमारे साथ होगा तो होगा। लेकिन ये मेरे साथ हुआ है। इसका कोई मतलब है इसके कोई मायने हैं और उद्धव ठाकरे ये जो क्रूरता और आतंक है। अच्छा हुआ ये मेरे साथ हुआ क्योंकि इसके कुछ मायने हैं। जय हिंद! जय महाराष्ट्र!”

इस वीडियो के बाद कई कलाकार, कई पत्रकार, कई राजनेता कंगना रनौत के समर्थन में आए और सबने महाराष्ट्र सरकार के इस कदम की आलोचना की। सोशल मीडिया पर सवाल उठा कि क्या यह फाँसीवाद नही है? इसके अलावा कई लोगों ने हिमाचल सरकार से प्रिंयका गाँधी के अवैध घर को तोड़ने की भी माँग की।

उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र सरकार और बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के बीच विवाद अब बढ़ता ही जा रहा है। बीते दिनों कंगना ने मुंबई पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए जिसके बाद शिवसेना नेता उन पर हमलवार हो गए। संजय राउत ने न उन्हें मुंबई वापस लौटने की धमकी दी। वहीं उन पर बात करते हुए उन्हें ‘हरामखोर’ तक कह डाला। हालाँकि जब मामले ने तूल पकड़ा, तो सफाई में उन्होंने ये कहा कि हरामखोर का मतलब महाराष्ट्र में नॉटी या बेईमान होता है।

दूसरी ओर महाराष्ट्र गृहमंत्री अनिल देशमुख ने भी उन पर इस बीच ड्रग्स मामले में जाँच के आदेश दे दिए। देशमुख ने कहा कि कुछ समय पहले कंगना रनौत की दोस्ती शेखर सुमन के बेटे अध्ययन सुमन के साथ थी और अध्ययन ने एक इंटरव्यू में दावा किया कि कंगना ड्रग लेती थी और उन पर भी ड्रग लेने के लिए दबाव बनाती थी। अनिल देशमुख ने कहा, “इस बात की पड़ताल हमारी मुंबई पुलिस करेगी। इस बात का निवेदन मैंने विधानसभा में किया है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ज्ञान से इतना खौफ खाता है इस्लाम कि 3 महीने तक जलती रही किताबें, नालंदा विश्वद्यिालय से बची थी बख्तियार खिलजी की जान फिर...

नालंदा विश्वविद्यालय को एहसान फरामोश बख्तिार खिलजी ने अपनी चिढ़ में इस तरह बर्बाद किया था कि कहा जाता है उसमें तीन महीने तक किताबें जलती रही थीं।

पेट्रोल-डीजल के बाद पानी-बस किराए की बारी, कर्नाटक में जनता पर बोझ खटाखट: कॉन्ग्रेस की ‘रेवड़ी’ से खजाना खाली, अब कमाई के लिए विदेशी...

कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार की रेवड़ी योजनाएँ राज्य को महँगी पड़ रही हैं। पेट्रोल-डीजल के बाद अब पानी के दाम और बसों के किराए बढ़ाने की योजना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -