Thursday, July 18, 2024
Homeराजनीति'हमारे कारण जिनका तलाक हुआ, जो दोस्तों-परिवारों से लड़े... सबका धन्यवाद' - कॉन्ग्रेस में...

‘हमारे कारण जिनका तलाक हुआ, जो दोस्तों-परिवारों से लड़े… सबका धन्यवाद’ – कॉन्ग्रेस में शामिल होते ही कन्हैया कुमार

"मैं करोड़ों लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूँ, जो लोग हमारे खिलाफ निराधार आरोप लगाए जाने पर स्कूल के व्हाट्सएप ग्रुप में अपने दोस्तों के साथ लड़े थे। अपनी दोस्ती तक तोड़ दी। यहाँ तक ​​कि इससे तलाक भी हो गया।"

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्रसंघ के अध्यक्ष रहे कन्हैया कुमार देश विरोधी नारे लगाकर (आरोप लगा, दिल्ली पुलिस ने पुष्टि की थी) लाइम लाइट में आए। छात्र नेता के बाद सीपीआई का दामन थामा। अब वही कन्हैया कुमार मंगलवार (28 सितंबर 2021) को कॉन्ग्रेस में शामिल हो गए। कॉन्ग्रेस में शामिल होने के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए कन्हैया ने कहा कि उनके आंदोलन के कारण डिनर टेबल पर लड़ाई तक हो गई और तो और तलाक भी हुए हैं।

कन्हैया कुमार ने कहा, “मैं उस जगह का आभारी हूँ जहाँ मैं पैदा हुआ था और जिस पार्टी (सीपीआई) ने मुझे बड़ा किया, मुझे सिखाया और मुझे लड़ने की हिम्मत दी। उस पार्टी के साथ-साथ मैं करोड़ों लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूँ, जो लोग हमारे खिलाफ निराधार आरोप लगाए जाने पर स्कूल के व्हाट्सएप ग्रुप में अपने दोस्तों के साथ लड़े थे। हमारे आंदोलन के समर्थन में वे खाने की मेज पर लड़े और अपनी दोस्ती तक तोड़ दी। यहाँ तक ​​कि इससे तलाक भी हो गया। देश में चल रहे इस वैचारिक संघर्ष में केवल कॉन्ग्रेस पार्टी ही नेतृत्व प्रदान कर सकती है।”

कॉन्ग्रेस पार्टी में शामिल होने के अपने कारणों के बारे में कन्हैया कुमार ने कहा, “मैं कॉन्ग्रेस में शामिल हो रहा हूँ क्योंकि देश पर शासन करने वाले कुछ लोग इस देश के विचारों, संस्कृति को बदलने की कोशिश कर रहे हैं। मैंने देश की सबसे लोकतांत्रिक पार्टी में रहना चुना है।” उन्होंने आगे कहा, “युवाओं को इस बात का अहसास होने लगा है कि अगर कॉन्ग्रेस खत्म हो गई तो यह देश भी सुरक्षित नहीं रहेगा।”

कन्हैया कुमार ने दावा किया कि देश में कॉन्ग्रेस पार्टी का कोई विकल्प नहीं है। उन्होंने कहा, “अगर कॉन्ग्रेस जैसा बड़ा जहाज नहीं बचा तो छोटी नावें नहीं बचेंगी।”

कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी ने जेएनयू के पूर्व छात्र नेता कन्हैया कुमार और निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी के साथ दिल्ली के आईटीओ स्थित शहीद-ए-आजम भगत सिंह पार्क में जश्न मनाया। दोनों नेताओं के पार्टी में औपचारिक रूप से शामिल होने की खुशी को सेलिब्रेट करने के दौरान पाटीदार नेता हार्दिक पटेल भी मौजूद थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘भ#$गी हो, भ$गी बन के रहो’: जामिया के 3 प्रोफेसर पर FIR, दलित कर्मचारी पर धर्म परिवर्तन का डाल रहे थे दबाव; कहा- ईमान...

एफआईआर में आरोपित नाज़िम हुसैन अल-जाफ़री जामिया मिल्लिया इस्लामिया के रजिस्ट्रार हैं तो नसीम हैदर डिप्टी रजिस्ट्रार। इनके साथ ही आरोपित शाहिद तसलीम यूनिवर्सिटी में प्रोफ़ेसर हैं।

पूजा खेडकर की माँ होटल से हुई गिरफ्तार, नाम बदलकर लिया था कमरा: महिला IAS के पिता नौकरी में रहते 2 बार हुए थे...

पूजा खेडकर का चिट्ठा खुलने के बाद उनके माता-पिता के खिलाफ भी जाँच जारी है। माँ को महाड के होटल से हिरासत में लिया गया है और पिता फरार हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -