Monday, July 22, 2024
Homeराजनीति'उर्दू अकादमी को मिल रही ₹1 लाख रुपए की राशि को नहीं बढ़ाया': कर्नाटक...

‘उर्दू अकादमी को मिल रही ₹1 लाख रुपए की राशि को नहीं बढ़ाया’: कर्नाटक में कॉन्ग्रेस से नाराज़ हुए मुस्लिम, कहा – हम ही सत्ता में लेकर आए और…

अशरफ ने कहा कि बोम्मई सरकार ने एक लाख का भुगतान शुरू किया था, लेकिन मुस्लिमों के वोट के दम पर सत्ता में आने वाली कॉन्ग्रेस ने भी सिर्फ 1 लाख रुपए ही जारी किया है।

उर्दू अकादमी के लिए घोषित एक लाख रुपए की अनुदान राशि बढ़ाने के बजाए कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार ने इसे जारी रखा, जिससे मुस्लिम निराश हैं। उनका कहना है कि कॉन्ग्रेस को चुनाव के समय मुस्लिमों के वोट तो चाहिए होते हैं, जिसके लिए वो खूब इमोशनल अत्याचार भी करती है, लेकिन चुनाव जीतते ही वो मुस्लिमों को भूल जाती है। कर्नाटक के मुस्लिम उर्दू अकादमी की खराब हालत की वजह से कॉन्ग्रेस सरकार से बेहद नाराज हैं।

सिर्फ 274 रुपए प्रति दिन पर चलती है उर्दू अकादमी

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस‘ से बातचीत में पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह के सलाहकार रहे सैयद अशरफ ने उर्दू अकादमी का अध्यक्ष पद पिछले दो वर्षों से खाली रहने पर अपनी निराशा व्यक्त की। उन्होंने बताया कि अकादमी के रखरखाव के लिए एक साल में 1 लाख रुपए दिए जाते हैं, जो बेहद कम है। अगर इन 1 लाख रुपयों को 365 के हिसाब से बाँट दें, तो प्रति दिन महज 274 रुपए ही उर्दू अकादमी के खर्च के नाम पर आते हैं। इन पैसों से उर्दू अकादमी कौन सी पुस्तकें प्रकाशित करेगी और किस तरह से साहित्य की सेवा करेगी?

अशरफ ने कहा कि बोम्मई सरकार ने एक लाख का भुगतान शुरू किया था, लेकिन मुस्लिमों के वोट के दम पर सत्ता में आने वाली कॉन्ग्रेस ने भी सिर्फ 1 लाख रुपए ही जारी किया है। उर्दू सिर्फ मुस्लिमों से ही नहीं जुड़ी, बल्कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री धर्म सिंह भी उर्दू का प्रयोग करते थे। वो उर्दू में बोलते थे। लेकिन मौजूदा सरकार बहुत गलत कर रही है। उन्होंने कहा कि इस कॉन्ग्रेस सरकार से ऐसी उम्मीद तो बिल्कुल नहीं थी।

कॉन्ग्रेस के मुस्लिम मंत्री पर साधा निशारा

इस रिपोर्ट के मुताबिक, सैयद अशरफ राज्य के वक्फ और अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री बीजे जमीर अहमद खान से बेहद नाराज हैं। उन्होंने जमीर पर मुसलमान समुदाय के लिए बोलने में विफलता और उर्दू अकादमी को अतिरिक्त धन आवंटित करने में विफलता को लेकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जमीर के पास उर्दू का सर्टिफिकेट तो है, लेकिन वो सही मायने में विद्वान होते, तो इस दर्द को समझते।

मुख्यमंत्री सिद्धारमैय्या से मिलेंगे अशरफ

अशरफ ने कहा कि अगले एक-दो दिनों में मुख्यमंत्री सिद्धरमैया से एक प्रतिनिधिमंडल मुलाकात करेगा। उन्हें ज्ञापन सौंपा जाएगा और बताया जाएगा कि उर्दू अकादमी की क्या हालत है। इसकी प्रति कॉन्ग्रेस हाई कमान को भी भेजी जाएगी। इस मुद्दे पर शोधकर्ता आलम पाशा का कहना है कि मुस्लिमों के वोटों के लिए कॉन्ग्रेस खूब जोर लगाती है, लेकिन जब जरूरत पड़ती है, तो वो मुस्लिम समुदाय के साथ खड़ी नहीं होती।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -