MCD का करप्शन छिपाने के लिए मोदी सरकार ने कहा झूठ: AAP ने 43 चिताओं पर सेंकी पॉलिटिकल रोटी

दिल्ली सरकार ने कहा है कि बिल्डिंगों के प्लान की जाँच करना, यह देखना कि निर्माण कार्य और इमारतों का परिचालन क़ानूनी तरीके से हो रहा है या नहीं, यह एमसीडी का काम है। उसने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार एक ऐसी फैक्ट्री का बचाव कर रही है जो सभी नियमों के उल्लंघन से चल रही थी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविन्द केजरीवाल की राजनीति फिर वहीं वापिस आ गई है, जहाँ से उन्होंने शुरुआत की थी- ‘खुलासे’। दिल्ली में एक इमारत में कल (रविवार, 8 दिसंबर, 2019) लगी भीषण आग के बारे में सनसनीखेज़ दावा करते हुए आप ने कहा है कि केंद्र की मोदी सरकार अनाज मंडी में लगी आग के बारे में झूठ बोल रही है।

बकौल आप, भाजपा ऐसा इसलिए कर रही है क्योंकि वह म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन ऑफ़ दिल्ली (एमसीडी) में व्याप्त भ्रष्टाचार को ढँकना चाहती है। लेकिन अपने दावे के पक्ष में, केंद्र सरकार को झूठा साबित करने वाला कोई भी सबूत दिल्ली सरकार या आम आदमी पार्टी ने खबर लिखे जाने तक सामने नहीं रखा है। गौरतलब है कि दिल्ली की महानगरपालिका भाजपा के नियंत्रण में है।

अब तक 43 लोगों की जान लील चुके इस हादसे के बारे में केजरीवाल सरकार ने आधिकारिक बयान जारी कर कहा है, “एक स्तब्ध कर देने वाला और झूठा बयान हाउसिंग और अर्बन अफ़ेयर्स (शहरी मामलों) के मंत्रालय ने अनाज मंडी के अग्निकाण्ड के बारे में जारी किया है। एमसीडी के भ्रष्टाचार और अक्षमता को छिपाने के लिए केंद्रीय मंत्रालय ने कुछ असत्य दावे किए हैं।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

दिल्ली सरकार ने कहा है कि दिल्ली अग्निशमन सेवा (दिल्ली फायर सर्विस) ने इस बात की पुष्टि की है कि फैक्ट्री को कोई फायर क्लियरेंस और अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) नहीं मिला था। यह फैक्ट्री अवैध तरीके से चल रही थी। केंद्रीय मंत्रालय क्यों एक ऐसी अवैध फैक्ट्री का बचाव कर रहा है जो सभी नियमों के उल्लंघन से चल रही थी, और जिसने इतनी सारी बेगुनाह जानें ले लीं?

आगे एमसीडी को लपेटते हुए आप ने कहा कि बिल्डिंगों के प्लान की जाँच करना और यह देखना कि सारा निर्माण कार्य और इमारतों का परिचालन क़ानूनी तरीके से हो रहा है या नहीं, यह एमसीडी का काम है।

गौरतलब है कि राजधानी दिल्ली के रानी झाँसी रोड पर रविवार की सुबह अनाज मंडी में भीषण आग लग गई थी। घटना के बाद इलाके में हड़कंप मच गया था। आग इतनी भयानक थी कि आग पर काबू पाने के लिए दमकल की 27 गाड़ियाँ लगानी पड़ीं।

घटना सुबह 5 बजे की है। मंडी में एक तीन-मंजिला बेकरी है जिसकी ऊपरी मंजिल पर आग लगी थी। इसके बाद आग ने पूरी इमारत को ही अपनी चपेट में ले लिया था। इलाके के काफी सँकरे होने के चलते भी आग ज्यादा फैली।

दिल्ली में आग से 43 की मौत, 50+ गंभीर रूप से घायल – अनाज मंडी में हुआ यह हादसा

सुबह 43 परिवार उजड़ गए, शाम को ‘बधाई’ कार्यक्रम में दिखे दिल्ली के CM केजरीवाल

‘नरक से भी बदतर है दिल्ली, एक बार में बम से ही उड़ा दो’: 21 शहरों में सबसे दूषित पानी दिल्ली में

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कंगना रनौत, आशा देवी
कंगना रनौत 'महिला-विरोधी' हैं, क्योंकि वो बलात्कारियों का समर्थन नहीं करतीं। वामपंथी गैंग नाराज़ है, क्योंकि वो चाहता है कि कंगना अँग्रेजों के तलवे चाटे और महाभारत को 'मिथक' बताएँ। न्यूज़लॉन्ड्री निर्भया की माँ को उपदेश देकर कह रहा है ये 'न्याय' नहीं बल्कि 'बदला' है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

143,833फैंसलाइक करें
35,978फॉलोवर्सफॉलो करें
163,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: