Wednesday, July 24, 2024
Homeराजनीतिलालू यादव की पार्टी से तेज प्रताप 'गायब', पिता के बंधक बनाए जाने का...

लालू यादव की पार्टी से तेज प्रताप ‘गायब’, पिता के बंधक बनाए जाने का लगाया था आरोप

तिवारी ने कहा, "तेज प्रताप पार्टी में हैं कहाँ, नया संगठन उन्होंने पार्टी से अलहदा बनाया है। वो अब पार्टी में नहीं हैं।" शिवानंद तिवारी ने कहा कि उन्हें पार्टी से निष्कासित करने का क्या सवाल है, वह तो खुद निष्कासित हो चुके हैं।

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है, इसके संकेत तो समय-समय पर मिलते रहे हैं, लेकिन पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने इसकी पुष्टि कर दी है। राजद के वरिष्ठ नेता और पार्टी उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा है कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के सबसे बड़ पुत्र तेज प्रताप यादव पार्टी में नहीं हैं। उन्हें पार्टी का चुनाव चिह्न लालटेन का इस्तेमाल करने की अनुमति भी नहीं है।

शिवानंद तिवारी ने कहा, “तेज प्रताप पार्टी में हैं कहाँ, नया संगठन उन्होंने पार्टी से अलहदा बनाया है। वो अब पार्टी में नहीं हैं।” उन्होंने कहा कि तेज प्रताप को पार्टी से निष्कासित करने का क्या सवाल है, वह तो खुद निष्कासित हो चुके हैं। कुछ दिनों पहले तेज प्रताप ने अपनी पार्टी के चिह्न की जगह पर लालटेन लगा लिया था, लेकिन राजद की तरफ से उन्हें ऐसा करने से मना कर दिया गया।

इसके पहले, तेज प्रताप यादव ने इशारों-इशारों में अपने छोटे भाई और बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया था कि कुछ लोग पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने का सपना देख रहे हैं। इसी कारण से राष्ट्रीय जनता दल के कुछ लोगों ने उनके पिता (सजायाफ्ता अपराधी लालू यादव) को दिल्ली में बंधक बनाकर रखा हुआ है।

तेज प्रताप यादव ने कहा था कि उनके पिता को जेल से बाहर आए साल भर का समय हो चुका है, मगर उनको अभी तक दिल्ली में ही रखा गया है। इस दौरान तेज प्रताप यादव ने किसी का नाम नहीं लिया। उन्होंने कहा, ”सब जानता है कि ऐसे कौन लोग हैं, उनका नाम लेने से कोई फायदा नहीं है।”

तेज प्रताप यादव ने आगे कहा था, “पार्टी में जो कुछ हो रहा है उससे संगठन बढ़ेगा नहीं, बल्कि टूट जाएगा। इस तरह से काम नहीं चलने वाला है। मेरे पिता बीमार चल रहे हैं इसलिए हम कोई प्रेशर नहीं देना चाहते हैं, लेकिन कुछ लोग इसका नाजायज फायदा उठा रहे हैं।”

तेज प्रताप ने पटना में अपने नवगठित संगठन छात्र जनशक्ति परिषद की आयोजित कार्यशाला में शनिवार (2 अक्टूबर 2021) को यह बात कही। कार्यशाला का आयोजन ‘राजनीति सीखो, नेतृत्व करो’ विषय पर किया गया था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, तेज प्रताप अपने पिता को पटना लेकर आना चाहते हैं और उन्हें अपने साथ रखना चाहते हैं, मगर कुछ लोग उनके पिता को आने नहीं दे रहे हैं। उन्हें दिल्ली में बंधक बना कर रखा है। बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राजद को जनता से दूर कर दिया गया है। उनके अनुसार पिता लालू यादव रहते थे तो उनके घर का दरवाजा जनता के लिए खुला रहता था। वह जनता से मिलते थे। लेकिन, अब कुछ लोगों ने क्या किया? वो चाहते हैं कि जनता पार्टी (राजद) से दूर रहे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -