Sunday, July 14, 2024
HomeराजनीतिBMC ने नाइट कर्फ्यू लगाया, महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे ने लाइट शो देखने...

BMC ने नाइट कर्फ्यू लगाया, महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे ने लाइट शो देखने बुलाया: लाखों जुट गए, खुद सदन में नहीं आते पिता-पुत्र

कोरोना की स्थिति देेखते हुए आदित्य ठाकरे विधानसभा के शीतकालीन सत्र में शामिल नहीं हो रहे हैं। मंगलवार (28 दिसंबर) सत्र आखिरी दिन है। यही हाल प्रदेश के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का भी है। उद्धव ठाकरे भी सत्र के पहले दिन से ही सदन से अनुपस्थित हैं।

देश में कोरोना के सबसे खतरनाक वैरिएंट ओमिक्रोन के बढ़ते मामलों के बीच महाराष्ट्र के पर्यटन मंत्री और राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पुत्र आदित्य ठाकरे ने लोगों को लाइट शो देखने के लिए आमंत्रित किया। उनके निमंत्रण पर मुंबई के लाखों लोग धारा 144 को धत्ता बताते हुए सड़कों पर निकल लाए और कोरोना प्रोटोकॉल की जमकर धज्जियाँ उड़ाईं।

आदित्य ठाकरे ने लाइट शो में लोगों को जुटने की अपील कर ना सिर्फ कोरोना प्रोटोकॉल और बीएमसी के आदेश को ठेंगा दिखाया, बल्कि अपनी ही सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन को भी धत्ता बता दिया। पर्यटन मंत्री के कहने पर लाखों लोग मुंबई के बांद्रा रिक्लेमेशन में वंडरलैंड गार्डन में लाइट शो देखने पहुँच गए। इस कारण इलाके की सड़कों पर भयानक जाम लग गया।

बता दें कि महाराष्ट्र देश के सबसे अधिक कोरोना संक्रमित मरीजों वाला राज्य है। यहाँ देश में ओमिक्रोन के सबसे अधिक मामले हैं। 24 दिसंबर 2021 तक राज्य में ओमिक्रोन के 108 मरीज थे, जो देश के किसी भी राज्य में सबसे अधिक हैं।

कोरोना की भयावह होती जा रही स्थिति को नियंत्रित करने और डेल्टा वैरिएंट से शुरू हुई दूसरी लहर में महाराष्ट्र की बिगड़ी स्थिति को देखते हुए बृहन्नमुंबई म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (BMC) ने दो दिन पहले ही मुंबई में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया था। इसके तहत शाम 9 बजे से सुबह 6 बजे तक धारा 144 लगाने की घोषणा की गई थी।

बीएमसी के कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने कोरोना गाइडलाइन को जारी करते हुए आदेश में कहा था कि अगर कोई व्यक्ति इन आदेशों का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ IPC की संबंधित धाराओं और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी।

25 दिसंबर की आधी रात से जारी की गई इस गाइडलाइन से पहले महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना को लेकर गाइडलाइन जारी किया था। इस गाइडलाइन के तहत रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक सार्वजनिक स्थानों पर एक साथ 5 से अधिक लोग जमा नहीं हो सकते। इसके अलावा, जिम, स्पा, थिएटर, होटल, सिनेमा हॉल जैसी जगहों के लिए 50% क्षमता करने की घोषणा कर गई थी।

मराठी अखबार महाराष्ट्र टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि कोरोना की स्थिति को देेखते हुए राज्य के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे विधानसभा के शीतकालीन सत्र में शामिल नहीं हो रहे हैं। मंगलवार (28 दिसंबर) को सत्र का आखिरी दिन है। यही हाल प्रदेश के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का भी है। उद्धव ठाकरे भी सत्र के पहले दिन से ही सदन से अनुपस्थित हैं।

मीडिया ने जब इस पर सवाल उठाया तो आदित्य ठाकरे ने जवाब दिया कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे कोरोना की स्थिति को देखकर तय करेंगे कि इसमें शामिल होना है या नहीं। ऐसे में यही कयास लगाए जा रहे हैं कि आदित्य ठाकरे अंतिम दिन भी सदन नहीं आएँगे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -