Wednesday, July 17, 2024
Homeराजनीतिनंदीग्राम में पस्त ममता बनर्जी लौट के भवानीपुर आएँगी? TMC के शोभनदेव चट्टोपाध्याय का...

नंदीग्राम में पस्त ममता बनर्जी लौट के भवानीपुर आएँगी? TMC के शोभनदेव चट्टोपाध्याय का विधायकी से इस्तीफा

2021 में पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव में भवानीपुर विधानसभा सीट से टीएमसी के शोभनदेब चट्टोपाध्याय जीते थे।

पश्चिम बंगाल के भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र से तृणमूल कॉन्ग्रेस (टीएमसी) विधायक शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने मंगलवार (21 मई) को इस्तीफा दे दिया। नंदीग्राम में बीजेपी के शुभेंदु अधिकारी से हारने के बाद अब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के अपनी पारंपरिक भवानीपुर सीट से चुनाव लड़ने का रास्ता साफ हो गया है।

विधानसभा अध्यक्ष बिमान बनर्जी ने चट्टोपाध्याय के इस्तीफा मंजूर करते हुए कहा कि वो इस्तीफे को लेकर संतुष्ट हैं और चट्टोपाध्याय ने अपनी स्वेच्छा से इस्तीफा दिया है। इसलिए उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, भवानीपुर सीट से इस्तीफे के बाद शोभनदेव खरदा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं, जहाँ टीएमसी नेता काजल सिन्हा की मौत के बाद उपचुनाव होना है।

वहीं इस्तीफा देने वाले विधायक शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने कहा कि मुख्यमंत्री पहले भी दो बार इस सीट से जीत चुकी हैं। चट्टोपाध्याय ने कहा, “जब मैंने सुना कि मुख्यमंत्री यहाँ से चुनाव लड़ना चाहती हैं तो मैंने यह सीट खाली कर दी। मुझ पर कोई दबाव नहीं है। यह उन्हीं (ममता बनर्जी) की सीट थी, मैंने तो बस इसे सुरक्षित किया था।“

2011 में भी ममता बनर्जी के लिए खाली हुई थी भवानीपुर सीट

आपको बता दें कि 2021 में पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव में भवानीपुर विधानसभा सीट से टीएमसी के शोभनदेव चट्टोपाध्याय जीते थे। उन्होंने भाजपा के रुद्रनील घोष को हराया था। चट्टोपाध्याय को जहाँ 73,048 मत प्राप्त हुए थे वहीं भाजपा के रुद्रनील घोष 44,541 मतों के साथ दूसरे स्थान पर रहे।

ममता बनर्जी पहले भी भवानीपुर से चुनाव लड़ चुकी हैं। 2011 में भी टीएमसी के सुब्रत बक्शी ने ममता बनर्जी को मुख्यमंत्री बनाने के लिए के लिए भवानीपुर सीट खाली की थी। इसके बाद 2016 में इस सीट से ममता बनर्जी ने कॉन्ग्रेस की दीपा दास मुंशी को हराया था। इस बार भी मुख्यमंत्री बने रहने के लिए ममता बनर्जी को छह महीने के भीतर चुनाव जीतकर सदन का सदस्य बनना होगा।

हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नंदीग्राम से चुनाव लड़ा था, जहाँ उन्हें भाजपा के प्रत्याशी शुभेंदु अधिकारी के हाथों पराजय झेलनी पड़ी। कभी ममता के बेहद करीबी नेताओं में शामिल रहे शुभेंदु अधिकारी विधानसभा चुनावों से पहले टीएमसी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे।        

Sobhandeb Chattopadhyay of tmc resigns from Bhawanipore mamta will contest

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अब सरकार की हो गई माफिया अतीक अहमद की ₹50 करोड़ की प्रॉपर्टी, किसानों-गरीबों को धमका कर किया था अवैध कब्ज़ा

उत्तर प्रदेश में ऑपरेशन माफिया के तहत चल रही कार्रवाई में कमिश्नरेट पुलिस प्रयागराज और राज्य सरकार ने बड़ी सफलता हासिल की है। माफिया अतीक अहमद की करीब 50 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति अब राज्य सरकार की हो गई है।

‘रुक जाएगा विकास’: कर्नाटक सरकार के 75% आरक्षण वाले बिल से डरा IT कंपनियों का सबसे बड़ा समूह, CM नायडू के मंत्री बेटे ने...

IT कंपनियों के सबसे बड़े संघ ने कहा कि स्थानीय प्रतिभाओं की कमी होने के कारण कंपंनियों को किसी अन्य राज्य का रुख करने को मजबूर होना पड़ सकता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -