Sunday, April 21, 2024
Homeराजनीति'बीजेपी को कोसने वाले लिबरल TMC पर मौन'- हर दिन मेगा रैली कर रहीं...

‘बीजेपी को कोसने वाले लिबरल TMC पर मौन’- हर दिन मेगा रैली कर रहीं ममता लेकिन ‘ट्विटर’ से हैं दूर: जानें क्या है झोल

ट्विटर पर अपनी राजनीतिक रैलियों की लाइव स्ट्रीमिंग से बचने के लिए, ममता बनर्जी और सत्तारूढ़ तृणमूल कॉन्ग्रेस ने सफलतापूर्वक इसे मैनेज किया है। बता दें कि ट्विटर यूजर फेसबुक यूजर की तुलना में राजनीतिक रूप से ज्यादा सक्रिय रहते हैं। लेकिन, फेसबुक से ममता बनर्जी को कोरोना संकट के इस दौर में लोगों के चुभते सवालों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

देशभर में कोरोना वायरस के कहर के बीच राजनीतिक बहस अब चुनावी रैलियों में जुटने वाली भीड़ पर केंद्रित हो गई है। इसी कड़ी में पश्चिम बंगाल में अभी तीन चरणों में विधानसभा चुनाव बचे हुए हैं। ऐसे में कई सारे राजनीतिक दल कोरोना के दौर में अपनी सामाजिक जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहे हैं।

इस बीच कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी ने देश में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के लिए चुनावी रैलियों को जिम्मेदार ठहराया। जबकि, इस बात का सबूत हैं कि हाल ही में पाँचवे चरण के मतदान से पहले पश्चिम बंगाल के गोलपोखर में उन्होंने एक बड़ी चुनावी सभा को संबोधित किया था। इसके अलावा पार्टी अपनी रैलियों में भारी भीड़ जुटने का दावा करती आई है। इसी के जरिए कॉन्ग्रेस अपनी राजनीतिक किस्मत को बदलना चाहती है।

जब राहुल गाँधी को इस बात का अहसास हुआ कि चुनावी रैलियों के बावजूद कॉन्ग्रेस की नैया डूबने की कगार पर खड़ी है तो उन्होंने कोरोना का बहाना लेकर चुनाव प्रचार बंद कर दिया।

राहुल गाँधी के इस ट्वीट के बाद लेफ्ट-लिबरल लॉबी को कोरोना के इस दौर में सामाजिक जिम्मेदारी का निर्वहन नहीं करने के बहाने बीजेपी पर निशाना साधने का मौका मिल गया। दरअसल, इस लेफ्ट-लिबरल लॉबी को यह समझ आ गया है कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 में मुकाबला केवल भाजपा और टीएमसी के बीच दोतरफा हो गया है। ऐसे में यह लॉबी बड़ी ही आसानी से ममता बनर्जी की रैलियों में जुटने वाली भीड़ और उनकी सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी को बड़ी ही आसानी से अनदेखा कर रही है। साथ ही वामपंथियों की ये लॉबी कोरोना के जरिए बीजेपी को घेरने में जुट गई है।

टीएमसी की सोशल मीडिया रणनीति को समझते हैं

ममता बनर्जी ने अपने हजारों तृणमूल कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ रविवार (18 अप्रैल) को धाकुरिया ब्रिज से कालीघाट चौराहे तक बड़े पैमाने पर रोड शो किया। इस दौरान ममता कुर्सी पर बैठी रहीं, वहीं उनके समर्थकों ने सोशल डिस्टेंसिंग की खुलकर बखिया उधेड़ी। उनके इस रोड शो को उनके आधिकारिक फेसबुक पेज पर लाइव स्ट्रीम भी किया गया था।

ममता बनर्जी के फेसबुक लाइव वीडियो का स्क्रीनशॉट

हालाँकि, ममता के ट्विटर अकाउंट को खँगालने पर हमने पाया कि वहाँ लास्ट ट्वीट 15 अप्रैल को किया गया था, जिसमें उन्होंने चुनाव आयोग को एक ही बार में शेष चरणों की वोटिंग करवाने को कहा था। जबकि, रविवार को की गई चुनावी रैली या उनके रोड शो की कोई जानकारी पेज पर नहीं थी।

ऑल इंडिया तृणमूल कॉन्ग्रेस के आधिकारिक ट्विटर प्रोफाइल चेक करने पर हमने पाया कि वहाँ पार्टी ने अंतिम ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राजनीतिक अटैक किया था। पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर भी रोड शो या रैली के बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

ममता बनर्जी के आखिरी ट्वीट्स का स्क्रीनशॉट

इसके बाद हमने ममता बनर्जी और तृणमूल कॉन्ग्रेस दोनों के ट्विटर हैंडल को गहराई से खंगाला, लेकिन हमें हाल के दिनों में पार्टी सुप्रीमो द्वारा आयोजित किसी भी राजनीतिक रैलियों की कोई लाइव स्ट्रीमिंग नहीं मिली। हालाँकि, टीएमसी के आधिकारिक हैंडल में ममता बनर्जी द्वारा उठाए गए सवालों और नारों की छोटी क्लिप मिलीं।

हालाँकि, हमें फेसबुक पर ममता बनर्जी के रोड शो की लाइव स्ट्रीम मिली। इसी तरह, उसके आधिकारिक एफबी पेज से शनिवार को पूर्बा बर्धमान में चुनावी रैली का पूरा वीडियो फुटेज भी शेयर किया गया था। यह मामला उत्तर 24 परगना के नोआपारा में उनकी सार्वजनिक बैठक की तरह है।

हमें कोलकाता और नादिया में 15 अप्रैल और 14 अप्रैल को होने वाली बड़ी जन सभाओं के साथ, उनकी चुनावी रैलियों की लाइव स्ट्रीम भी मिलीं।

TMC के ट्वीट का स्क्रीनशॉट

ट्विटर पर अपनी राजनीतिक रैलियों की लाइव स्ट्रीमिंग से बचने के लिए, ममता बनर्जी और सत्तारूढ़ तृणमूल कॉन्ग्रेस ने सफलतापूर्वक इसे मैनेज किया है। बता दें कि ट्विटर यूजर फेसबुक यूजर की तुलना में राजनीतिक रूप से ज्यादा सक्रिय रहते हैं। लेकिन, फेसबुक से ममता बनर्जी को कोरोना संकट के इस दौर में लोगों के चुभते सवालों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

TMC के वीडियो क्लिप की स्क्रीनशॉट
ममता बनर्जी की राजनीतिक रैलियों का स्क्रीनशॉट

ममता बनर्जी का दोहरा मापदंड ये है कि उन्होंने ट्विटर पर कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर चुनाव आयोग को ट्वीट किया, लेकिन उनके फेसबुक पेज पर चुनावी रैली के वीडियो भरे पड़े हैं। इनमें स्पष्ट तौर पर पार्टी सामाजिक दूरी के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करती दिख रही है। चुनावी रैलियों में ममता ने राहुल गाँधी को लेकर आँखें मूँद रखीं हैं।

ममता बनर्जी की राजनीतिक रैलियों के दौरान लाइव स्ट्रीमिंग का स्क्रीनशॉट
Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिमों के लिए आरक्षण माँग रही हैं माधवी लता’: News24 ने चलाई खबर, BJP प्रत्याशी ने खोली पोल तो डिलीट कर माँगी माफ़ी

"अरब, सैयद और शिया मुस्लिमों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलता है। हम तो सभी मुस्लिमों के लिए रिजर्वेशन माँग रहे हैं।" - माधवी लता का बयान फर्जी, News24 ने डिलीट की फेक खबर।

रावण का वीडियो देखा, अब पढ़िए चैट्स (वायरल और डिलीटेड): वाल्मीकि समाज की जिस बेटी ने UN में रखा भारत का पक्ष, कैसे दिया...

रोहिणी घावरी ने बताया था कि उनकी हँसती-खेलती ज़िंदगी में आकर एक व्यक्ति ने रात-रात भर अपने तकलीफ-संघर्ष की कहानियाँ सुनाई और ये एहसास कराया कि उसे कभी प्यार नहीं मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe