Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीति'चेहरे बता रहे सपा सत्ता में नहीं आ रही': UP की 59 सीटों पर...

‘चेहरे बता रहे सपा सत्ता में नहीं आ रही’: UP की 59 सीटों पर मतदान के बीच बोलीं मायावती, अमित शाह के लिए कहा- यह उनकी महानता

"मैं समझती हूँ कि यह उनकी महानता है कि उन्होंने सच्चाई को स्वीकार किया है। लेकिन मैं उनको यह भी बताना चाहती हूँ कि पूरे उत्तर प्रदेश में बीएसपी को अकेले दलितों और मुसलमानों का ही नहीं, बल्कि अति पिछड़े और सवर्ण समाज यानी सर्व समाज का वोट मिल रहा है।"

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में चौथे चरण का मतदान आज 23 फरवरी 2022 को हो रहा है। 9 जिलों की 59 सीटों पर मतदान जारी है। बहुजन समाज पार्टी (BSP) की सुप्रीमो मायावती ने भी लखनऊ में अपना वोट डाला। वोट देने के बाद उन्होंने समाजवादी पार्टी (SP) पर निशाना साधा। साथ ही उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की एक टिप्पणी को लेकर पूछे जाने पर उसे उनकी महानता करार दिया।

मायावती ने कहा कि मुस्लिम समाजवादी पार्टी से खुश नहीं हैं, वे उन्हें वोट नहीं देंगे। यूपी के लोगों ने वोट देने से पहले ही सपा को नकार दिया है, क्योंकि सपा को वोट देने का मतलब गुंडा राज, माफिया राज है। सपा सरकार में दंगे हुए। सपा नेताओं के चेहरे बता रहे हैं कि वे सत्ता में नहीं आ रहे हैं। साथ ही बसपा सुप्रीमो ने विश्वास जताया है कि पूरे उत्तर प्रदेश में बसपा को केवल दलितों और मुस्लिमों का ही नहीं, बल्कि अति पिछड़े और सवर्ण समाज मिल रहा है। पार्टी पूर्ण बहुमत के साथ राज्य में सरकार बनाएगी

अमित शाह को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में मायावती ने कहा, “मैं समझती हूँ कि यह उनकी महानता है कि उन्होंने सच्चाई को स्वीकार किया है। लेकिन मैं उनको यह भी बताना चाहती हूँ कि पूरे उत्तर प्रदेश में बीएसपी को अकेले दलितों और मुसलमानों का ही नहीं, बल्कि अति पिछड़े और सवर्ण समाज यानी सर्व समाज का वोट मिल रहा है।”

दरअसल, केंद्रीय गृह मंत्री शाह ने हाल ही में न्यूज 18 के दिए इंटरव्यू में कहा था कि मायावती ने अपनी प्रासंगिकता नहीं खोई है। उनकी पार्टी को उत्तर प्रदेश में वोट मिलेगा। शाह ने कहा था, “बसपा ने अपनी प्रासंगिकता बनाए रखी है। मुझे विश्वास है कि उन्हें वोट मिलेगा। मुझे नहीं पता कि यह कितनी सीटों में तब्दील होगा, लेकिन बसपा को वोट मिलेगा। मायावती की जमीन पर अपनी पकड़ है। जाटव वोट बैंक मायावती के साथ जाएगा। मुस्लिम वोट भी बड़ी मात्रा में मायावती के साथ जाएगा।”

उल्लेखनीय है कि चौथे चरण में नौ जिलों की 59 सीटों के लिए मतदान के दौरान मतदान केंद्रों पर मतदाताओं का भारी उत्‍साह दिख रहा है। सुबह से ही बूथों पर मतदाताओं की लंबी कतारें लगनी शुरू हो गई थीं। यह सिलसिला लगातार जारी है। इस चरण में रुहेलखंड से लेकर तराई बेल्‍ट और अवध क्षेत्र के नौ जिलों की 59 सीटों पर 624 उम्‍मीदवार मैदान में हैं। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और शाम छह बजे तक चलेगा। निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान के लिए 860 कंपनी अर्धसैनिक सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में इन नौ जिलों में कुल 55.31 प्रतिशत मतदान हुआ था जबकि 2019 के लोकसभा चुनाव में 58.24 प्रतिशत वोट पड़े थे। कोविड-19 के मद्देनजर सभी प्रकार की व्यवस्था की गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -