Monday, July 26, 2021
Homeराजनीतिमैं आपकी वजह से जीता हूँ, आपके सभी कार्यों में साथ हूँ: MLA ने...

मैं आपकी वजह से जीता हूँ, आपके सभी कार्यों में साथ हूँ: MLA ने पादरियों को दी खुली छूट

सोशल मीडिया पर लोगों ने विधायक पर साम्प्रदायिकता को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। विधायक का ये वीडियो ट्विटर पर पहुँच गया, जहाँ कई लोगों ने इसे शेयर करते हुए मुख्यमंत्री......

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआरसीपी ने इस साल हुए लोकसभा और विधानसभा चुनाव में भारी जीत दर्ज कर राज्य में सरकार बनाई। जगन की आँधी का आलम ये रहा कि कई वर्षों से आंध्र प्रदेश की सत्ता पर काबिज चंद्रबाबू नायडू अपने अस्तित्व की लड़ाई में उलझ गए। जो नायडू चुनाव से पहले देश भर की विपक्षी पार्टियों को गोलबंद करने में जुटे थे, अब उनसे जुड़ी ख़बरें मीडिया का हिस्सा ही नहीं बनतीं। हालाँकि, जगन रेड्डी के सीएम बनने के बाद भी उनकी सरकार और पार्टी विवादों से दूर नहीं रही। अब एक विधायक के बयान से विवाद उपजा है।

ईस्ट गोदावरी जिले में स्थित जग्गमपेटा विधानसभा क्षेत्र के विधायक चांटी बाबू ने हाल ही में ईसाई पादरियों की एक बैठक को सम्बोधित किया, जिसमें उन्होंने कई विवादित बयान दिए। जगन की पार्टी के विधायक ने न सिर्फ़ ईसाई पादरियों की मजहबी गतिविधियों का समर्थन किया बल्कि उसे बढ़ावा भी दिया। विधायक ने ईसाई पादरियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि वो उनके समर्थन से ही जीत कर आए हैं। उन्होंने ईसाई पादरियों को कहा, “अगर आपकी गतिविधियों व क्रियाकलापों में कोई भी व्यवधान डालता है तो उन्हें बताएँ कि विधायक आपके साथ है।

सोशल मीडिया पर लोगों ने विधायक पर साम्प्रदायिकता को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। विधायक चांटी बाबू का ये वीडियो ट्विटर पर पहुँच गया, जहाँ कई लोगों ने इसे शेयर करते हुए मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी और उनकी पार्टी वाईएसआरसीपी को भी घेरा। विधायक ने ईसाई पादरियों को कहा कि उनकी सभी गतिविधियों में वो साथ खड़े हैं। लोगों ने विधायक से पूछा कि क्या वे ईसाई मिशनरियों द्वारा चलाए जा रहे धर्मांतरण अभियान का भी स्वागत करते हैं?

उधर जगन मोहन रेड्डी ख़ुद सीबीआई की जाँच झेल रहे हैं। हाल ही में सीबीआई की अदालत ने उन्हें सशरीर कोर्ट में उपस्थित होने का आदेश दिया है। अवैध निवेश मामलों में सीबीआई की जाँच का सामना कर रहे सीएम जगन ने कोर्ट में ख़ुद उपस्थित होने से छूट देने की माँग की थी, जिसे अस्वीकार कर दिया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हम आपको नहीं सुनेंगे…’: बॉम्बे हाईकोर्ट से जावेद अख्तर को झटका, कंगना रनौत से जुड़े मामले में आवेदन पर हस्तक्षेप से इनकार

जस्टिस शिंदे ने कहा, "अगर हम इस तरह के आवेदनों को अनुमति देते हैं तो अदालतों में ऐसे मामलों की बाढ़ आ जाएगी।"

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस रहे मदन लोकुर से पेगासस ‘इंक्वायरी’ करवाएँगी ममता बनर्जी, जिस NGO से हैं जुड़े उसे विदेशी फंडिंग

पेगासस मामले की जाँच के लिए गठित आयोग का नेतृत्व सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश मदन लोकुर करेंगे। उनकी नियुक्ति सीएम ममता बनर्जी ने की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,324FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe