Wednesday, April 17, 2024
Homeराजनीतिमुनव्वर राना की 'बागी' बेटी को कॉन्ग्रेस का टिकट, विकास दुबे के 'राइट हैंड'...

मुनव्वर राना की ‘बागी’ बेटी को कॉन्ग्रेस का टिकट, विकास दुबे के ‘राइट हैंड’ की सास को भी यूपी के चुनावी मैदान में उतारा

अक्टूबर 2020 में कॉन्ग्रेस ज्वाइन करने वाली उरूसा ने जुलाई 2021 में कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाया था।

कॉन्ग्रेस ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly election 2022) के लिए उम्मीदवारों की एक और सूची जारी की है। 6 उम्मीदवारों की इस सूची में दो चौंकाने वाले नाम हैं। राज्य में दोबारा योगी सरकार बनने पर पलायन की बात करने वाले विवादित शायर मुनव्वर राना की बेटी उरूसा (Urusha Rana) को पुरुवा से प्रत्याशी बनाया गया है। इस सूची के जारी होने से पहले ऐसी खबरें आई थी कि उरूसा ने उन्नाव सदर विधानसभा सीट से निर्दलीय पर्चा दाखिल किया है। उनके अलावा इस सूची में गायत्री तिवारी का भी नाम है। वे गैंगस्टर विकास दुबे का राइट हैंड माने जाने वाले अमर दुबे की सास है। बिकरू हत्याकांड के बाद अमर दुबे भी मार गिराया गया था।

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) विरोधी प्रदर्शनों के बाद चर्चा में आई उरूसा ने अक्टूबर 2020 में कॉन्ग्रेस ज्वाइन किया था। उन्हें पार्टी ने उत्तर प्रदेश महिला कॉन्ग्रेस का उपाध्यक्ष बनाया था। उरूसा जुलाई 2021 में भी उस वक्त चर्चा में आई थीं, जब उन्होंने कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी के खास माने जाने प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाया था। उरूसा ने आरोप लगाया कि जब वह लखनऊ में गाँधी प्रतिमा के सामने धरना-प्रदर्शन से पहले प्रियंका गाँधी का अभिवादन करने उनके नजदीक पहुँचीं तो लल्लू ने उन्हें बेइज्जत करके वहाँ से चले जाने को कहा।

उरूसा की बहन सुमैया भी अक्सर यूपी की योगी सरकार के खिलाफ अपने पिता की तरह ही जहर उगलती रहती हैं। उन्होंने एक बार कहा था, “हमें ध्यान रखना है कि हमें इतना भी न्यूट्रल (तटस्थ) नहीं होना है कि हमारी पहचान ही खत्म हो जाए। पहले हम मुस्लिम हैं और उसके बाद कुछ और हैं। हमारे अंदर का जो दीन है, जो इमान है, वह जिंदा रहना चाहिए। कहीं ऐसा न हो कि हम अल्लाह को भी मुँह दिखाने लायक न रह जाएँ।”

रिपोर्टों के अनुसार उरूसा उन्नाव सदर से टिकट माँग रही थीं। लेकिन कॉन्ग्रेस ने यहाँ से आशा सिंह को उम्मीदवार बनाया है। उनके नाम के ऐलान के बाद उरूसा ने निर्दलीय ही पर्चा दाखिल कर दिया था। पुरुवा भी उन्नाव जिले की ही सीट है। फिलहाल इस सूची को लेकर उरूसा की प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्कूल में नमाज बैन के खिलाफ हाई कोर्ट ने खारिज की मुस्लिम छात्रा की याचिका, स्कूल के नियम नहीं पसंद तो छोड़ दो जाना...

हाई कोर्ट ने छात्रा की अपील की खारिज कर दिया और साफ कहा कि अगर स्कूल में पढ़ना है तो स्कूल के नियमों के हिसाब से ही चलना होगा।

‘क्षत्रिय न दें BJP को वोट’ – जो घूम-घूम कर दिला रहा शपथ, उस पर दर्ज है हाजी अली के साथ मिल कर एक...

सतीश सिंह ने अपनी शिकायत में बताया था कि उन पर गोली चलाने वालों में पूरन सिंह का साथी और सहयोगी हाजी अफसर अली भी शामिल था। आज यही पूरन सिंह 'क्षत्रियों के BJP के खिलाफ होने' का बना रहा माहौल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe