Wednesday, July 28, 2021
Homeराजनीतिमैं किसी से माल-पानी नहीं लेता, काम एक नंबर का होना चाहिए... जितना पैसा...

मैं किसी से माल-पानी नहीं लेता, काम एक नंबर का होना चाहिए… जितना पैसा चाहिए मिलेगा: गडकरी

"समस्या यह है कि आपके पास अच्छे पीडब्ल्यूडी के अधिकारी नहीं हैं। अगर आप हमें अच्छे अधिकारी नहीं दे सकते हैं तो हम उन्हें बाहर से लाएँगे। जो पीडब्ल्यूडी अधिकारी जिस कार्य के लिए रखे गए हैं, उनसे आप वही काम लीजिए। उन्हें दूसरे कामों में मत लगाइए। उन्हें हम सैलरी देते हैं।"

केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को वर्चुअल माध्यम से झारखंड की कई परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। इनमें 3550 करोड़ रुपए की लागत से 539 किलोमीटर की 21 सड़क परियोजना शामिल हैं।

इस दौरान गडकरी ने झारखंड में राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण के दौरान ठेकेदारों द्वारा की जाने वाली लापरवाही पर कड़ी नाराजगी जताई है। उन्होंने सड़कों के किनारे पौधारोपण नहीं होने पर राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से कड़ी कार्रवाई करने को कहा है। साथ ही उन्होंने सोरेन से पौधारोपण के कार्य की ड्रोन से शूटिंग करवाकर रिकॉर्ड तैयार करने को कहा। मुख्यमंत्री को सभी लापरवाह ठेकेदारों का पैसा रोकने की सलाह देते हुए कहा कि ये कॉन्ट्रैक्टर निचले स्तर पर मैनेज करते हैं, मैं इन्हें छोड़ूँगा नहीं।

केंद्रीय मंत्री ने अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि सड़कों के एक्सपेंशन ज्वाइंट की क्वालिटी का मामला सामने आया है। मैं क्वालिटी से किसी भी तरह का समझौता नहीं करूँगा। अगर काम में किसी भी तरह की कमी रही तो मैं ठेकेदार को लगाकर सड़कों को उखड़वा दूँगा। इसकी सजा अधिकारी और ठेकेदार दोनों भुगतेंगे। इतना समझ लें कि मैं किसी से कोई भी माल-पानी नहीं लेता हूँ। इसलिए काम एक नंबर का होना चाहिए।

पौधारोपण नहीं होने पर बिगड़े गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि हमारे बजट में जब पेड़ लगाने के लिए फंड पहले से शामिल है तो पेड़ क्यों नहीं लगे? इसके लिए सभी ठेकेदारों को नोटिस भेजने और उस क्षेत्र के विधायक और सांसदों को मौके पर जाकर इसकी जाँच करने को कहा। उन्होंने लापरवाही पर कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। मंत्री ने ठेकेदारों की रेटिंग करने का निर्णय लिया है। जिन ठेकेदारों की रेटिंग खराब होगी, अगले ठेके में उनकी रेटिंग घटा दी जाएगी और उन्हें कोई काम नहीं दिया जाएगा।

गडकरी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मुख्यमंत्री सोरेन से कहा, “समस्या यह है कि आपके पास अच्छे पीडब्ल्यूडी के अधिकारी नहीं हैं। अगर आप हमें अच्छे अधिकारी नहीं दे सकते हैं तो हम उन्हें बाहर से लाएँगे। जो पीडब्ल्यूडी अधिकारी जिस कार्य के लिए रखे गए हैं, उनसे आप वही काम लीजिए। उन्हें दूसरे कामों में मत लगाइए। उन्हें हम सैलरी देते हैं।”

वीडियो आप इस लिंक पर क्लिक करके देख सकते हैं: झारखण्ड में 21 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण

जितना पैसा चाहिए हम देंगे, काम अच्छा होना चाहिए

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि झारखंड के 675 करोड़ रुपए के वार्षिक प्लान को मैं इस साल के लिए बढ़ाकर 5 हजार करोड़ रुपए कर देता हूँ, लेकिन पहले राज्य के चीफ इंजीनियर से 5 मुख्यमंत्री हजार करोड़ रुपए का प्लान तैयार करके भेजने को कहे। मेरे पास पैसे की कमी नहीं है। आप केवल भूमि अधिग्रहण करें और फिर मुझसे जितना माँग सकते हैं माँगे। गडकरी ने कहा कि उन्हें केवल क्वालिटी का काम और भूमि अधिग्रहण व पर्यावरण क्लीयरेंस समय पर होना चाहिए। ऐसा हुआ तो अगले 3 साल में पश्चिमी यूरोप और अमेरिका के लेवल की रोड झारखंड को बनाकर दूंगा। केंद्रीय मंत्री ने कहा, “मैं ये वचन देता हूँ कि झारखंड के साथ किसी भी तरह का भेजभाव नहीं होगा। सामाजिक, आर्थिक और शैक्षिक तौर पर पिछड़ इलाकों को प्राथमिकता दी जाएगी।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उत्तर-पूर्वी राज्यों में संघर्ष पुराना, आंतरिक सीमा विवाद सुलझाने में यहाँ अड़ी हैं पेंच: हिंसा रोकने के हों ठोस उपाय  

असम के मुख्यमंत्री नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस के सबसे महत्वपूर्ण नेता हैं। उनके और साथ ही अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए यह अवसर है कि दशकों से चल रहे आंतरिक सीमा विवाद का हल निकालने की दिशा में तेज़ी से कदम उठाएँ।

बकरीद की ढील का दिखने लगा असर? केरल में 1 दिन में कोरोना संक्रमण के 22129 केस, 156 मौतें भी

पूरे देश भर में रिपोर्ट हुए कोविड केसों में 53 % मामले अकेले केरल से आए हैं। भारत में कुल मामले जहाँ 42, 917 रिपोर्ट हुए। वहीं राज्य में 1 दिन में 22129 केस आए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,660FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe