Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीति15 साल पुराना प्रण पूरा हुआ... कॉन्ग्रेस प्रत्याशी के हारने की खुशी में बुजुर्ग...

15 साल पुराना प्रण पूरा हुआ… कॉन्ग्रेस प्रत्याशी के हारने की खुशी में बुजुर्ग ने सिर मुंडवाया: कहा- उसने मुझे झापड़ मारकर भगाया था

साल 2008 में केपी सिंह ने गोविंद सिंह लोधी की समस्या नहीं सुनी और नाम पता पूछ कर भगा दिया। केपी सिंह ने गोविन्द सिंह लोधी को इस दौरान एक तमाचा भी जड़ा था। इसी कारण से आहत गोविन्द सिंह लोधी ने तय किया था कि जब भी केपी सिंह हारा, तो वह मुंडन करवाएँगे।

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों में एक कॉन्ग्रेस प्रत्याशी केपी सिंह की हार से खुश हो कर एक बुजुर्ग ने मुंडन करवा लिया है। बुजुर्ग का कहना है कि उनका बदला पूरा हो गया है। यह घटना मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के सदर विधानसभा की है।

यहाँ शिवपुरी की पिछोर तहसील के जराय गाँव के रहने वाले गोविन्द सिंह लोधी ने कॉन्ग्रेस प्रत्याशी केपी सिंह उर्फ़ कक्का जू की हार पर अपना मुंडन करवाया है। केपी सिंह को भाजपा के देवेन्द्र कुमार जैन ‘पट्टे वाले’ ने शिकस्त दी है।

गोविन्द लोधी का कहना है कि उन्होंने प्रण ले रखा था कि जिस भी दिन केपी सिंह यहाँ से विधानसभा चुनाव हारेंगे और उनकी सत्ता खत्म होगी उस दिन वह अपना मुंडन करवाएँगे। इसके पीछे गोविन्द लोधी का एक डेढ़ दशक पुराना कटु अनुभव है, जिसके कारण उन्होंने यह प्रण लिया था।

दरअसल, 2008 में गोविन्द सिंह लोधी का एक सम्पत्ति से जुड़ा विवाद हो गया था। उनके भाई की आकस्मिक मृत्यु हो गई थी और उनकी जमीन एक महिला ने अपने नाम करवा ली थी। इसी सम्बन्ध में गोविन्द सिंह लोधी अपनी फ़रियाद स्थानीय विधायक केपी सिंह उर्फ़ कक्का जू के पास पहुँचे थे।

केपी सिंह ने गोविंद सिंह लोधी की समस्या नहीं सुनी और नाम पता पूछ कर भगा दिया। केपी सिंह ने गोविन्द सिंह लोधी को इस दौरान एक तमाचा भी जड़ दिया। इसी कारण से आहत गोविन्द सिंह लोधी ने तय किया था कि जब भी केपी सिंह हारा तो वह अपना सिर मुंडवाएँगे। इस बार जब ऐसा हुआ तो उन्होंने सिर मुंडवाकर अपनी खुशी जाहिर की।

केपी सिंह 6 बार से शिवपुरी जिले की ही पिछौर सीट विधायक थे। वह वर्ष 1993 से विधानसभा चुनाव जीत रहे थे। हालाँकि, इस बार के विधानसभा चुनावों में कॉन्ग्रेस ने उन्हें शिवपुरी सदर से टिकट दिया जहाँ वह भाजपा के देवेन्द्र जैन के हाथों चुनाव हार गए। देवेन्द्र जैन को इस विधानसभा चुनाव में 1.12 लाख वोट मिले जबकि केपी सिंह को मात्र 69,000 वोट ही मिले।

जिन केपी सिंह पर बुजुर्ग ने चाँटा मारने का आरोप लगाते हुए उनके हारने पर मुंडन करवाया है, वह पहले विवादित बयानों के कारण चर्चा में रह चुके हैं। उन्होंने सितम्बर 2023 में एक बयान में कहा था कि जिन महिलाओं के पति बूढ़े होते हैं उनके साथ सोने दूसरे मर्द आते हैं। उनके अपने पतियों से कुछ होता नहीं है। उनके इस बयान पर उनका काफी विरोध हुआ था, इसके बाद उन्होंने माफ़ी भी माँग ली थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -