Saturday, May 15, 2021
Home राजनीति 'राहुल गाँधी अमेठी से भाग रहे हैं... वायनाड वाली मेरी ख़बर पूरी तरह से...

‘राहुल गाँधी अमेठी से भाग रहे हैं… वायनाड वाली मेरी ख़बर पूरी तरह से ग़लत है, अफ़वाह है’

राहुल गाँधी की जीत सुनिश्चित करने में जुटी कॉन्ग्रेस को फ़िलहाल कोई रास्ता नहीं सूझ रहा है। शायद इसीलिए जल्दबाज़ी में राहुल को केरल की वायनाड सीट से चुनाव लड़ाने का निर्णय लिया गया।

2019 लोकसभा चुनाव क़रीब आने के साथ ही भाजपा और कॉन्ग्रेस दोनों ने अधिकांश निर्वाचन क्षेत्रों के लिए अपने प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी है। हालाँकि, अमेठी की चुनावी लड़ाई में कॉन्ग्रेस को अभी से अपनी हार नज़र आ रही है। बीजेपी ने घोषणा की है कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, गाँधी के गढ़ माने जाने वाले अमेठी से चुनाव लड़ेंगी। इस घोषणा के बाद से ही कॉन्ग्रेसी खेमे में हड़कंप सा मच गया है। इसके परिणामस्वरूप ही कॉन्ग्रेस में राहुल गाँधी की जीत सुनिश्चित करने की छटपटाहट भी देखने को मिल रही है।

ऐसे में राहुल गाँधी को पत्र लिखकर उनसे अमेठी से लड़ने के साथ-साथ केरल की वायनाड सीट से चुनाव लड़ने का आग्रह किया गया है। ऐसा करने के पीछे मक़सद केवल राहुल गाँधी की जीत सुनिश्चित करना है। राहुल के दो जगह से चुनाव लड़ने के फ़ैसले को स्मृति ईरानी का डर न कहा जाए तो भला और क्या कहा जाए। इससे कॉन्ग्रेस की हताशा और निराशा दोनों की तस्वीर एकदम साफ़ नज़र आ रही है।

अब, अफ़वाहें सामने आई हैं कि राहुल गाँधी का मुक़ाबला करने के लिए भाजपा वायनाड निर्वाचन क्षेत्र से स्मृति ईरानी को मैदान में उतार सकती है।

Matrubhumi.com ने बताया कि भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने ऐसा संकेत दिया है। रिपोर्ट के अनुसार राहुल गाँधी, जो कि फिलहाल एक सुरक्षित सीट की तलाश में हैं, का मुकाबला करने के लिए स्मृति ईरानी को वायनाड निर्वाचन क्षेत्र से मैदान में उतारा जा सकता है।

हालाँकि, इस मामले को लेकर OpIndia.com ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से संपर्क किया। इस मामले पर स्मृति ईरानी ने इन अफ़वाहों का स्पष्ट रूप से खंडन कर दिया है।

स्मृति ईरानी ने Opindia.com से बात करते हुए कहा, “राहुल गांधी अमेठी से भाग रहे हैं, मैं नहीं। मैं यहीं पर हूँ और लोगों के लिए लड़ रही हूँ। यह ख़बर पूरी तरह से ग़लत और महज़ एक अफ़वाह है।”

स्मृति ईरानी ने आगे कहा कि यह स्पष्ट हो चुका है कि कॉन्ग्रेस अफ़वाहों की खान बन चुकी है, शायद ही ऐसा कोई होगा, जो राहुल गाँधी जैसा नेता पाकर शर्मिंदा नहीं होगा।

हाल ही में, कॉन्ग्रेस पार्टी द्वारा राहुल गाँधी के लिए एक सुरक्षित सीट खोजने की एक कोशिश सामने आई है। हमने पहले ही बताया है कि कैसे कर्नाटक और तमिलनाडु राज्य ईकाई राहुल गाँधी को पत्र लिखकर केरल के वायनाड से चुनाव लड़ने का आग्रह कर चुके हैं। आज अमेठी ईकाई ने भी राहुल गाँधी को पत्र लिखकर अमेठी और वायनाड दोनों सीट से लड़ने की सिफ़ारिश करते हुए कहा कि वो भविष्य के प्रधानमंत्री हैं और इंदिरा गाँधी और सोनिया गाँधी की तरह, उन्हें भी उत्तर भारत और दक्षिण भारत दोनों जगह से लड़ना चाहिए। कॉन्ग्रेस के रणदीप सुरजेवाला ने भी कहा है कि वायनाड को ‘सकारात्मक’ माना जाए।

बता दें कि कर्नाटक, तमिलनाडु और अमेठी के अलावा अखिल भारतीय किसान कॉन्ग्रेस ने भी राहुल गाँधी से अमेठी के साथ-साथ वायनाड से चुनाव लड़ने का निवेदन किया था।

नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ़ इंडिया ने भी राहुल गाँधी से अमेठी और वायनाड दोनों से चुनाव लड़ने का आग्रह किया था। राहुल गाँधी को इसी तरह के पत्र ज़िला कॉन्ग्रेस समितियों द्वारा भी लिखे गए हैं।


2014 में, राहुल गाँधी को ज़बरदस्त जीत नहीं प्राप्त हुई थी, उसका कारण स्मृति ईरानी ही थीं। हार के बावजूद स्मृति ने अमेठी पर अपनी पैनी नज़र बनाए रखी। इस दौरान उन्होंने अमेठी के विकास और लचर व्यवस्था को अनेकों बार उजागर किया। अमेठी में राहुल गाँधी के द्वारा पिछले 10 वर्षों में किए गए कार्य और स्मृति ईरानी के पिछले 4 वर्षों में किए गए कार्यों की तुलना कीजिए – सब स्पष्ट हो जाएगा। स्पष्ट यह भी हो जाएगा कि 2019 लोकसभा चुनाव में राहुल गाँधी पीछे चल रहे हैं जबकि स्मृति ईरानी लीड ले रही हैं।

कॉन्ग्रेस इस बात को अब अच्छी तरह से जान चुकी है कि अमेठी में इस बार स्मृति ईरानी को हराना आसान काम नहीं होगा। साथ ही कॉन्ग्रेस का यह भ्रम भी टूट गया कि अमेठी सीट उसका गढ़ है। राहुल गाँधी की जीत सुनिश्चित करने में जुटी कॉन्ग्रेस को फ़िलहाल कोई रास्ता नहीं सूझ रहा है। शायद इसीलिए जल्दबाज़ी में राहुल को केरल की वायनाड सीट से चुनाव लड़ाने का निर्णय लिया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Nupur J Sharma
Editor, OpIndia.com since October 2017

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अल जजीरा न्यूज वाली बिल्डिंग में थे हमास के अड्डे, अटैक की प्लानिंग का था सेंटर, इसलिए उड़ा दिया: इजरायली सेना

इजरायल की सुरक्षा सेना ने अल जजीरा की बिल्डिंग को खाली करने का संदेश पहले ही दे दिया और चेतावनी देने के लिए ‘रूफ नॉकर’ बम गिराए जो...

हिन्दू जिम्मेदारी निभाएँ, मुस्लिम पर चुप्पी दिखाएँ: एजेंडा प्रसाद जी! आपकी बौद्धिक बेईमानी राष्ट्र को बहुत महँगी पड़ती है

महामारी को फैलने से रोकने के लिए यह आवश्यक है कि संक्रमण की कड़ी को तोड़ा जाए। एक समाज अगर सतर्क रहता है और दूसरा नहीं तो...

इजरायली सेना ने अल जजीरा की बिल्डिंग को बम से उड़ाया, सिर्फ 1 घंटे की दी थी चेतावनी: Live Video

गाजा में इजरायली सेना द्वारा अल जजीरा मीडिया हाउस की बिल्डिंग पर हमला किया गया है। यह बिल्डिंग पूरी तरह ध्वस्त हो गई है।

वीर सावरकर पर अपमानजनक लेख के लिए THE WEEK ने 5 साल बाद माँगी माफी: जानें क्या है मामला

'द वीक' पत्रिका ने शुक्रवार को स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर के बारे में पहले प्रकाशित एक अपमानजनक लेख के लिए माफी माँगी। यह विवादास्पद लेख 24 जनवरी, 2016 को प्रकाशित किया गया था जिसे 'पत्रकार' निरंजन टाकले द्वारा लिखा गया था।

ईद पर 1 पुलिस वाले को जलाया जिंदा, 46 को किया घायल: 24 घंटे के भीतर 30 कट्टरपंथी मुस्लिमों को फाँसी

ईद के दिन मुस्लिम कट्टरपंथियों ने 1 पुलिसकर्मी के साथ मारपीट की, उन्हें जिंदा जला दिया। त्वरित कार्रवाई करते हुए 30 को मौत की सजा।

ईद के अगले दिन बंगाल में कंप्लिट लॉकडाउन का आदेश: 20000+ मामले, 30 मई तक लागू रहेंगे प्रतिबंध

पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। संक्रमण के चलते ममता बनर्जी के छोटे भाई का निधन हो गया। लॉकडाउन...

प्रचलित ख़बरें

ईद पर 1 पुलिस वाले को जलाया जिंदा, 46 को किया घायल: 24 घंटे के भीतर 30 कट्टरपंथी मुस्लिमों को फाँसी

ईद के दिन मुस्लिम कट्टरपंथियों ने 1 पुलिसकर्मी के साथ मारपीट की, उन्हें जिंदा जला दिया। त्वरित कार्रवाई करते हुए 30 को मौत की सजा।

दिल्ली में ऑक्सीजन सिलेंडर के बदले पड़ोसी ने रखी सेक्स की डिमांड, केरल पुलिस से सेक्स के लिए ई-पास की डिमांड

दिल्ली में पड़ोसी ने ऑक्सीजन सिलेंडर के बदले एक लड़की से साथ सोने को कहा। केरल में सेक्स के लिए ई-पास की माँग की।

हिरोइन है, फलस्तीन के समर्थन में नारे लगा रही थीं… इजरायली पुलिस ने टाँग में मारी गोली

इजरायल और फलस्तीन के बीच चल रहे संघर्ष में एक हिरोइन जख्मी हो गईं। उनका नाम है मैसा अब्द इलाहदी।

1971 में भारतीय नौसेना, 2021 में इजरायली सेना: ट्रिक वही-नतीजे भी वैसे, हमास ने ‘Metro’ में खुद भेज दिए शिकार

इजरायल ने एक ऐसी रणनीतिक युद्धकला का प्रदर्शन किया है, जिसने 1971 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध की ताजा कर दी है।

इजरायली सेना ने अल जजीरा की बिल्डिंग को बम से उड़ाया, सिर्फ 1 घंटे की दी थी चेतावनी: Live Video

गाजा में इजरायली सेना द्वारा अल जजीरा मीडिया हाउस की बिल्डिंग पर हमला किया गया है। यह बिल्डिंग पूरी तरह ध्वस्त हो गई है।

ईद में नंगा नाच: 42 सदस्यीय डांस ग्रुप की लड़कियों को नंगा नचाया, 800 की भीड़ ने खंजर-कुल्हाड़ी से धमकाया

जब 42-सदस्यीय ग्रुप वहाँ पहुँचा तो वहाँ ईद के सांस्कृतिक कार्यक्रम जैसा कोई माहौल नहीं था। जब उन्होंने कुद्दुस अली से इस बारे में बात की तो वह उन्हें एक संदेहास्पद स्थान पर ले गया जो हर तरफ से लोहे की चादरों से घिरा हुआ था। यहाँ 700-800 लोग लड़कियों को घेर कर खंजर से...
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,358FansLike
94,397FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe