Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीतिबहाल हुई राहुल गाँधी की संसद सदस्यता, अविश्वास प्रस्ताव में कर सकेंगे वोटिंग: कॉन्ग्रेस...

बहाल हुई राहुल गाँधी की संसद सदस्यता, अविश्वास प्रस्ताव में कर सकेंगे वोटिंग: कॉन्ग्रेस नेताओं ने खड़गे के मुँह में मिठाई ठूँस कर मनाया जश्न

सोनिया गाँधी के आवास के बाहर भी जश्न का माहौल रहा, जहाँ कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं को नृत्य करते हुए देखा गया।

कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी की संसद सदस्यता बहाल कर दी गई है। याद दिला दें कि मोदी सरनेम को लेकर उन्होंने आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिसके बाद सूरत की अदालत ने उन्हें 2 साल की सज़ा सुनाई थी और गुजरात हाईकोर्ट ने इस सज़ा को बरकरार रखा था। सुप्रीम कोर्ट से उन्हें तात्कालिक राहत मिली, जिसने इस सज़ा पर फ़िलहाल के लिए रोक लगा दी है। इससे पहले राहुल गाँधी की संसद सदस्यता चली गई थी और उन्हें बँगला भी खाली करना पड़ा था।

अब राहुल गाँधी की सांसदी वापस बहाल हो गई है, जिसके बाद वो न सिर्फ संसद के मॉनसून सत्र में हिस्सा ले सकेंगे बल्कि अविश्वास प्रस्ताव में वोटिंग भी कर सकेंगे। लोकसभा के सेक्रेटेरिएट जनरल उत्पल कुमार सिंह ने एक पत्र जारी कर के इस पर औपचारिक मुहर लगाई। इसके बाद कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष अधीर रंजन चौधरी ने मिठाई खा कर जश्न मनाया। चौधरी ने खड़गे के मुँह में मिठाई दी।

इसके वीडियो भी सामने आया है। लोकसभा सेक्रेटेरिएट ने भी राहुल गाँधी की संसद सदस्यता की बहाली का फैसला जारी करते हुए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का ही हवाला दिया है। सोनिया गाँधी के आवास के बाहर भी जश्न का माहौल रहा, जहाँ कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं को नृत्य करते हुए देखा गया। खड़गे ने कहा है कि इस फैसले से जनता को राहत मिली है। हालाँकि, बता दें कि राहुल गाँधी की सज़ा पर स्थायी रोक नहीं लगी है। सुप्रीम कोर्ट अभी इस पर सुनवाई करेगा।

हालाँकि, कई लोग तंज कसते हुए ये भी कह रहे हैं कि राहुल गाँधी की संसद सदस्यता की बहाली से न सिर्फ कॉन्ग्रेस, बल्कि भाजपा और अन्य विरोधी खेमों में भी ख़ुशी की लहर है। राहुल गाँधी ने सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाते हुए कहा था कि उनकी संसद सदस्यता चले जाने के कारण वायनाड का प्रतिनिधित्व खत्म हो गया है। कई राजनीतिक विश्लेषक ये भी मान रहे हैं कि इससे विपक्षी गठबंधन के अन्य प्रधानमंत्री उम्मीदवार के दावेदारों को भी झटका लगेगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेशी महिला के 5 छोटे बच्चे, 3 लड़कियाँ… इसलिए इलाहाबाद हाई कोर्ट ने दे दी जमानत: सपा विधायक की मदद से भारत में रहने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने जेल में बंद एक बांग्लादेशी महिला हिना रिजवान को जमानत दे दी। महिला अपने बच्चों के साथ अवैध रूप से भारत में रही थी।

घुमंतू (खानाबदोश) पूजा खेडकर: जिसका बाप IAS, वो गुलगुलिया की तरह जगह-जगह भटक बिताई जिंदगी… इसी आधार पर बन गई MBBS डॉक्टर

पूजा खेडकर ने MBBS में नाम लिखवाने से लेकर IAS की नौकरी पास करने तक में नाम, उम्र, दिव्यांगता, अटेंप्ट और आय प्रमाण पत्र में फर्जीवाड़ा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -