Sunday, June 16, 2024
Homeराजनीतिजिनकी रसोई में बर्तन मांजने पर राष्ट्रपति बनाए जाने का दावा, उनके नाम पर...

जिनकी रसोई में बर्तन मांजने पर राष्ट्रपति बनाए जाने का दावा, उनके नाम पर चल रहे रसोई का बर्तन चाट रहे सूअर: देखिए Video

"इंदिरा रसोई में गरीबों के लिए बनी थाली से सूअर...यह न केवल अस्वच्छ और घृणित है, बल्कि यह अपमानजनक भी है।"

कॉन्ग्रेस के शीर्ष परिवार के प्रति वफादारी जताने का एक तरीका सत्ता में आने के बाद परिवार से जुड़े लोगों के नाम पर सरकारी योजनाओं का नामकरण करना भी है। इन योजनाओं से जनता का भला हो या न हो, लेकिन कॉन्ग्रेसियों का खुद का भला हो जाने का यह नुस्खा पुराना और आजमाया हुआ है। इसी परंपरा के तहत अशोक गहलोत राजस्थान में इंदिरा रसोई योजना लेकर आए।

गरीबों को 8 रुपए में भरपेट खाना खिलाने के नाम पर शुरू की गई इस योजना में अनियमितता को लेकर आए दिन रिपोर्ट आती रहती है। अब एक वीडियो वायरल हुआ है, इसमें इंदिरा रसोई के बर्तन सूअर चाटते दिख रहे हैं। यह वीडियो भरतपुर के एमएजे कॉलेज के पास स्थित इंदिरा रसोई का बताया जा रहा है। इसमें रसोई क्रमांक 676 के बाहर पड़े गंदे बर्तन सूअर चाटते दिख रहे हैं। यहाँ पर इस तरह की स्थिति आए दिन देखने को मिलती। जिन बर्तनों में लोगों को खाना परोसा जाता है, उसे खुले में ऐसे ही फेंक दिया जाता है और फिर उसे सूअर चाटते रहते हैं।

इस वी​डियो को बुधवार (2 नवंबर 2022) को पत्रकार राजकिशोर ने अपने ट्विटर हैंडल पर साझा किया। मामला तूल पकड़ने के बाद भरतपुर नगर निगम ने इस रसोई का संचालन करने वाली संस्था का अनुबंध समाप्त कर नोटिस जारी किया है।

इंदिरा रसोई की प्लेट चाटते सूअरों का वीडियो सामने आने के बाद बीजेपी प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने इस घटना को घृणित बताया है। उन्होंने कहा है, “राजस्थान के भरतपुर से कई मीडिया संगठनों द्वारा डाला गया एक वीडियो गरीबों के लिए कॉन्ग्रेस की योजनाओं की वास्तविकता को दर्शाता है। इंदिरा रसोई में गरीबों के लिए बनी थाली से सूअर…यह न केवल अस्वच्छ और घृणित है, बल्कि यह अपमानजनक भी है। इस मामले में पूछताछ होनी चाहिए।”

इस रसोई का संचालन मदर टेरेसा नामक संस्था द्वारा किया जा रहा था। नगर पालिका अधिकारी ने समाचार एजेंसी एएनआई (ANI) को बताया ‘इंदिरा रसोई योजना’ के तहत संचालित भरतपुर के फूड सेंटर के बाहर पड़े गंदे बर्तनों को सूअर चाटते दिखे हैं। अनियमितताएँ पाए जाने पर ठेका रद्द कर दिया गया है। मामले की जाँच के लिए टीम गठित की गई है।

बीते दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान के शहरों में चल रही 870 इंदिरा रसोइयों के खाने की गुणवत्ता सुधार के लिए नई जिम्मेदारी तय की थी। इसके तहत कहा गया था कि सभी जिलों की 870 इंदिरा रसोइयों का विधायक निरीक्षण करेंगे। वे इंदिरा रसोई का खाना खाएँगे और गुणवत्ता सुधार करवाएँगे। हालाँकि, वायरल वीडियो सामने आने की बाद ऐसा प्रतीत होता है कि ज़िम्मेदारी नाम पर केवल खानापूर्ति की गई है।

उल्लेखनीय है कि कभी राजस्थान की ही कॉन्ग्रेस सरकार में पंचायत और वक्फ राज्यमंत्री रहे अमीन खां ने बताया था कि प्रतिभा पाटिल किसी जमाने में इंदिरा गाँधी के घर का रसोई सँभालती थीं। खाना बनाती थीं। बर्तन धोती थीं। बाद में इसी वफादारी के लिए सोनिया गाँधी ने उन्हें राष्ट्रपति बना दिया। जब अमीन खां ने यह बात कही थी, उस समय प्रतिभा पाटिल देश की राष्ट्रपति हुआ करती थीं। अमीन खां ने यह बात कार्यकर्ताओं को निष्ठा और समर्पण का महत्व समझाने के लिए कही थी। दुखद यह है कि आज उसी इंदिरा के नाम पर चल रही योजना के क्रियान्वयन को लेकर कॉन्ग्रेस की प्रदेश सरकार वही निष्ठा और समर्पण दिखाने में असफल रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -