Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजकॉन्ग्रेस नेता ने हिन्दू कार्यकर्ताओं को सोसाइटी से निकाला, राम मंदिर का 'अक्षत निमंत्रण'...

कॉन्ग्रेस नेता ने हिन्दू कार्यकर्ताओं को सोसाइटी से निकाला, राम मंदिर का ‘अक्षत निमंत्रण’ देने आए थे: CCTV में कैद हुई घटना

राजस्थान के जयपुर के कृष्णा कुंज विलास वेलफेयर सोसायटी में रामभक्त जब अक्षत चावल पहुँचाने गए तो वहाँ सोसायटी के अध्यक्ष व कॉन्ग्रेस नेता जगदीश चौधरी द्वारा अपमानित करके बाहर कर दिया गया। ये घटना सीसीटीवी में कैद हो गई।

राजस्थान के जयपुर में रामभक्तों के साथ बदसलूकी का मामला आया है। बताया जा रहा है कि रामभक्तों की टोली, जो घरों में अक्षत पहुँचाने का काम कर रही थी, उन्हीं को कॉन्ग्रेस नेता जगदीश चौधरी द्वारा अपमानित किया गया। ये घटना सीसीटीवी में कैद हो गई।

इंडिया टीवी की रिपोर्ट के अनुसार, राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठित समारोह के लिए अक्षत का वितरण करने पहुँचे राम भक्तों की टोली के साथ बदसलूकी कृष्णा कुंज विलास वेलफेयर सोसायटी में हुई। ये राम भक्त रामधुन कर रहे थे तभी सोसायटी के अध्यक्ष व कॉन्ग्रेसी नेता जगदीश चौधरी और उपाध्यक्ष राजीव कुमार बाहर निकले और उन लोगों को दुत्कार कर बाहर कर दिया।

इस दौरान रामभक्तों की टोली हाथ में भगवा झंडा लिए जय सियाराम-जय सियाराम का नारा लगाती रही और फिर वहाँ से चली गई। रिपोर्ट के मुताबिक इस घटना के बाद रामभक्तों ने कहा कि जयपुर में वह लोग जहाँ भी गए उन हर जगह ही सम्मान मिला है। सभी लोगों ने उनका सत्कार किया है। लेकिन प्रदेश में भाजपा सरकार के आने के कारण कॉन्ग्रेसी ये सब करके अपना गुस्सा निकाल रहे हैं।

वहीं जगदीश चौधरी का कहना है, “राम हमारे आराध्य हैं। उन्हें हम खुद मानते हैं। किसी खास पार्टी से जुड़े होने का अर्थ राम विरोधी होना नहीं हो सकता। मैं सोसायटी और समाज में होने वाले धार्मिक कामों में पूरा सहयोग करता हूँ। कुछ लोगों ने मेरी छवि खराब करने के लिए निराधार खबर फैलाने का प्रयास किया है जिसका मैं विरोध करता हूँ। ये लोग नौटंकी करते हैं। असली राम को हम मानते हैं। हम सुबह शाम राम की पूजा करते हैं। मेरे घर में आकर देख लीजिए। हम कभी भगवान के खिलाफ जा ही नहीं सकते”

गौरतलब है कि 22 जनवरी 2024 को राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम होने वाला है। इसकी खुशी पूरे देश में है। रामभक्त जगह-जगह से फेरी निकालकर लोगों में उत्साह जगा रहे हैं। इसी क्रम में 1 जनवरी से पूजित अक्षत वितरण का कार्य हो रहा है। ये काम 15 जनवरी तक चलेगा। ये सब देख कुछ लोगों को रामभक्तों का उत्साह बर्दाश्त नहीं हो रहा है। राजस्थान में जहाँ उनके साथ बदसलूकी हुई है। वहीं मध्यप्रदेश में तो रामभक्तों पर पत्थरबाजी की भी खबर आई है जहाँ मुस्लिम भीड़ ने श्रद्धालुओं को तलवार लेकर भी दौड़ाया

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -