Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाज'ये मुस्लिम इलाका, यहाँ नहीं निकलेगी श्रीराम की फेरी': राम मंदिर का अक्षत बाँट...

‘ये मुस्लिम इलाका, यहाँ नहीं निकलेगी श्रीराम की फेरी’: राम मंदिर का अक्षत बाँट रहे हिन्दू कार्यकर्ताओं पर भीड़ ने तलवार लेकर किया हमला, महिलाओं ने छत पर से बरसाए पत्थर

मध्य प्रदेश के शाजापुर में राम जन्मभूमि पर बन रहे राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के लिए अक्षत बाँट रहे हिन्दू कार्यकर्ताओं पर मुस्लिम भीड़ ने हमला कर दिया। मस्जिद के पास अक्षत बाँटने जैसे ही हिन्दू कार्यकर्ता पहुँचे, उन पर मुस्लिम भीड़ ने पथराव किया।

मध्य प्रदेश के शाजापुर में राम जन्मभूमि पर बन रहे राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के लिए अक्षत बाँट रहे हिन्दू कार्यकर्ताओं पर मुस्लिम भीड़ ने हमला कर दिया। मस्जिद के पास अक्षत बाँटने जैसे ही हिन्दू कार्यकर्ता पहुँचे, उन पर मुस्लिम भीड़ ने पथराव किया।

जानकारी के अनुसार, 8 जनवरी, 2024 की शाम को शाजापुर शहर के सोमवारिया क्षेत्र में अक्षत वितरण कार्यक्रम चल रहा था। इसके लिए सांध्यकालीन श्रीराम फेरी निकाली जा रही थी। इसमें बड़ी संख्या में हिन्दू कार्यकर्ता शामिल थे। यात्रा में श्रीराम के भजन बजाए जा रहे थे। यहाँ पर जब यात्रा हररायपुर क्षेत्र में एक मस्जिद के पास पहुँची तो इस पर हमला हो गया।

हिन्दू कार्यकर्ता यात्रा लेकर जैसे ही मस्जिद के पास पहुँचे, यहाँ पर मौजूद मुस्लिम भीड़ ने इस पर एकाएक हमला बोल दिया और पथराव करने लगे। मुस्लिम भीड़ ने हिन्दू कार्यकर्ताओं पर हमला किया और उनपर पत्थर बरसाए। इस हमले में कुछ हिन्दू कार्यकर्ता घायल हो गए। मुस्लिम भीड़ के हमले के कारण श्रीराम यात्रा में खलल पड़ गया।

एक रिपोर्ट में बताया गया है कि मुस्लिम भीड़ का उनसे कहना था कि यह शहर का मुस्लिम इलाका है इसलिए यहाँ श्रीराम की फेरी नहीं निकल सकती। उनके धमकाने के बाद जब हिन्दू कार्यकर्ता आगे बढे तो इन्होने भीड़ इकट्ठा करके हमला कर दिया। कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि इस हमले में घरों की छतों के ऊपर से पत्थर फेंके गए। पत्थर फेंकने में मुस्लिम परिवारों की महिलाएँ भी शामिल थीं। कुछ मुस्लिम युवक हिन्दू कार्यकर्ताओं पर तलवार लेकर भी दौड़े और हमला किया।

ऑपइंडिया ने इस मामले में शाजापुर के शहर कोतवाल बृजेश मिश्रा से बात की तो उन्होंने बताया कि अभी शहर में शान्ति व्याप्त है और मामले की सूचना लेकर मुकदमा दर्ज करवा दिया गया है। इसमें मुस्लिम भीड़ में शामिल 24 लोगों के विरुद्ध नामजद मुकदमा हुआ है। अधिकाँश आरोपित अभी फरार हैं और उनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।

वहीं जिले के हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ता इस हमले के बाद से गुस्से में हैं। उन्होंने 8 जनवरी, 2024 की रात को हमले के बाद प्रदर्शन भी किया। हिन्दू कार्यकर्ता उन घरों पर बुलडोजर कार्रवाई की माँग कर रहे हैं जहाँ से उन पर पथराव हुआ।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -