Monday, July 15, 2024
Homeराजनीति'अभिव्यक्ति की आज़ादी का मतलब ये नहीं कि किसी की आस्था को ठेस पहुँचाओ':...

‘अभिव्यक्ति की आज़ादी का मतलब ये नहीं कि किसी की आस्था को ठेस पहुँचाओ’: रामचरितमानस जलाने वालों पर बरसे रजा मुराद, CM योगी के हुए मुरीद

रजा मुराद ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि योगी सरकार उत्तर प्रदेश में अच्छा काम कर रही है।

फिल्म अभिनेता रजा मुराद ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की है। प्रयागराज पहुँचे बॉलीवुड अभिनेता ने रामचरितमानस विवाद पर भी अपना पक्ष रखा और कहा कि किसी की भी धार्मिक भावनाओं को ठेस नहीं पहुँचाया जाना चाहिए। रजा मुराद ने आजम खान को भारत की न्याय व्यवस्था में भरोसा रखने की सलाह दी।

शुक्रवार (17 फरवरी, 2023) को प्रयागराज पहुँचे एक्टर रजा मुराद ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि योगी सरकार उत्तर प्रदेश में अच्छा काम कर रही है। सीएम योगी के काम की बदौलत ही जनता ने उन्हें दोबारा चुना है। रजा मुराद ने नोएडा में बनाए जा रहे फिल्म सिटी को लेकर सीएम योगी की तारीफ की। उन्होंने कहा कि फिल्मों के निर्माण को लेकर प्रदेश में अब बेहतर माहौल मिल रहा है।

फिल्म अभिनेता ने रामचरितमानस विवाद पर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि हमारे देश में लोगों को अभिव्यक्ति की आजादी मिली हुई है, इसका अर्थ यह नहीं है कि किसी की धार्मिक आस्था को ठेस पहुँचाई जाए। किसी भी धर्म ग्रन्थ को लेकर विवाद उत्पन्न करना उचित नहीं है। बता दें कि सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के रामचरितमानस के खिलाफ दिए गए बयान को लेकर विवाद छिड़ा हुआ है।

रजा मुराद यूपी के रामपुर के रहने वाले हैं। अभिनेता ने बताया कि उन्होंने ने प्राइमरी की शिक्षा रामपुर में ही ग्रहण की है। इस पर स्थानीय पत्रकारों ने उनसे सपा नेता आजम खान को लेकर सवाल किया। रजा मुराद ने कहा कि हमारी न्याय व्यवस्था काफी मजबूत है। आजम खान को इसपर विश्वास करना चाहिए। इस दौरान उन्होंने मुंबई आतंकी हमले के गुनहगार आतंकी कसाब का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा कि उस आतंकी को पूरी दुनिया ने गोली चलाते हुए देखा था लेकिन उसे भी अपना पक्ष रखने का मौका दिया गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

IAS बेटी ऑडी पर बत्ती लगाकर बनाती थी भौकाल, माँ-बाप FIR के बाद फरार: पूजा खेडकर को जाँच के बाद डॉक्टरों ने नहीं माना...

पूजा खेडकर का मामला मीडिया में उठने के बाद उनके माता-पिता से जुड़ी कई वीडियो सामने आई है। ऐसे में पुलिस ने उनकी माँ के खिलाफ एफआईआर की है।

शूटिंग क्लब का सदस्य था डोनाल्ड ट्रम्प पर गोली चलाने वाला, शिकारी वाली वेशभूषा थी पसंद: रिपब्लिकन पार्टी ने बुलाया राष्ट्रीय सम्मेलन, पूर्व राष्ट्रपति...

वो लगभग 1 साल से पास में ही स्थित 'क्लेयरटन स्पोर्ट्समेन क्लब' का सदस्य भी था। इसमें कई शूटिंग रेंज हैं। पहले से कोई भी आपराधिक या ट्रैफिक चालान का मामला दर्ज नहीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -