Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीतिजदयू अध्यक्ष के भोज में मटन खाने पहुँचे महागठबंधन कार्यकर्ता, लेकिन मिलीं लाठियाँ: पुलिस...

जदयू अध्यक्ष के भोज में मटन खाने पहुँचे महागठबंधन कार्यकर्ता, लेकिन मिलीं लाठियाँ: पुलिस ने खदेड़-खदेड़ कर पीटा

दरअसल, जदयू अध्यक्ष और मुंगेर सांसद ललन सिंह ने मुंगेर के पोलो मैदान में महागठबंधन के कार्यकर्ताओं के लिए 'महाभोज सम्मान' का आयोजन किया था।

बिहार की सत्ताधारी पार्टी जदयू के अध्यक्ष ललन सिंह की पार्टी में बवाल हुआ है। कार्यकर्ताओं के बीच मटन को लेकर मारपीट की भी खबर है। भगदड़ के बीच स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा। इस दौरान सदर डीएसपी भी घायल हुए हैं।

दरअसल, जदयू अध्यक्ष और मुंगेर सांसद ललन सिंह ने मुंगेर के पोलो मैदान में महागठबंधन के कार्यकर्ताओं के लिए ‘महाभोज सम्मान’ का आयोजन किया था। इस कार्यक्रम में मटन खाने के लिए महागठबंधन कार्यकर्ता पहुँचे हुए थे। लेकिन पहली लाइन की 2000 सीट फुल हो चुकीं थी। ऐसे में मटन के लिए लालायित कार्यकर्ता पंडाल में घुसने की कोशिश कर रहे थे। तभी कार्यकर्ताओं के बीच मटन को लेकर बहस शुरू हो गई।

इसके बाद मामला बिगड़ता चला गया और बात मारपीट तक पहुँच गई। इस दौरान महागठबंधन के कार्यकर्ताओं ने जेडीयू के प्रखंड अध्यक्ष के साथ भी धक्का-मुक्की की। हालाँकि ,मामला बिगड़ता देख पुलिस ने सक्रियता दिखाई और उपद्रव कर रहे कार्यकर्ताओं को खदेड़ना शुरू कर दिया। पुलिस की सख्ती देख महागठबंधन कार्यकर्ताओं ने वहाँ से भागने में ही अपनी भलाई समझी। लोग गिरते-पड़ते वहाँ से भागते नजर आए। इस दौरान सदर डीएसपी राजेश कुमार सिन्हा की उंगलियों में चोट लगने की बात कही जा रही है।

उधर अपनी पार्टी में कार्यकर्ताओं का हँगामा बढ़ता देख ललन सिंह अपने समर्थकों के साथ पंडाल पर पहुँच गए। इसके बाद उन्होंने हाथ जोड़कर कार्यकर्ताओं से बात की। साथ ही उन्होंने वहाँ आए लोगों का धन्यवाद भी ज्ञापित किया। बता दें कि इस ‘महाभोज सम्मान’ में 35 हजार लोगों के खाने की व्यवस्था और झारखंड से बकरे मँगाने की बात कही जा रही है।

दरभंगा में भी भिड़े थे JDU कार्यकर्ता, मंच छोड़ चले गए ललन सिंह

बता दें कि इससे पहले शनिवार (13 मई 2023) को दरभंगा में आयोजित एक कार्यक्रम में भी जदयू कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए थे। दरअसल, पार्टी के कार्यक्रम में मंत्री संजय झा और जदयू नेता अली अशरफ फातमी के समर्थक अपने-अपने नेता के समर्थन में नारेबाजी करते रहे थे। दोनों के समर्थकों को समझाने की कोशिश की गई। लेकिन वे शांत होने का नाम नहीं ले रहे थे। इसके बाद ललन सिंह मंच छोड़कर वहाँ से जाने लगे। पार्टी नेताओं के लाख मनाने के बाद भी वह नहीं माने और अपनी कार में बैठ रवाना हो गए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

US में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लगी गोली, हमलावर सहित 2 की मौत: PM मोदी ने जताया दुख, कहा- ‘राजनीति में हिंसा की...

गोलीबारी के दौरान सुरक्षाबलों ने हमलावर को मार गिराया। इस हमले में डोनाल्ड ट्रंप घायल हो गए और उनके कान से निकला खून उनके चेहरे पर दिखा।

छात्र झारखंड के, राष्ट्रगान बांग्लादेश-पाकिस्तान का, जनजातीय लड़कियों से ‘लव जिहाद’, फिर ‘लैंड जिहाद’: HC चिंतित, मरांडी ने की NIA जाँच की माँग

झारखंड में जनजातीय समाज की समस्या पर भाजपा विरोधी राजनीतिक दल भी चुप रहते हैं, जबकि वो खुद को पिछड़ों का रहनुमा कहते नहीं थकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -