Tuesday, August 3, 2021
Homeराजनीतिचौथी बार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने शिवराज सिंह चौहान, ऐसा करने वाले पहले...

चौथी बार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने शिवराज सिंह चौहान, ऐसा करने वाले पहले व्यक्ति, अकेले ही ली शपथ

बताया जा रहा है कि शिवराज सिंह मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही, रात में मंत्रालय जाकर काम काज संभाल लेंगे। इससे पहले विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद शिवराज सिंह ने कहा था कि पार्टी मेरी माँ है और उसके दूध की लाज रखने में वे कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

मध्य प्रदेश की तमाम सियासी उथल पुथल के बाद आज प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता शिवराज स‌िंह चौहान ने चौथी बार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। शपथ ग्रहण समारोह कोरोना संक्रमण के चलते रात 9 बजे राजभवन में आयोजित एक सादे समाराेह में सम्पन्न हुआ। शिवराज सिंह ने अकेले ही शपथ ली और उनके साथ आज कोई मंत्री शामिल नहीं हुआ। शिवराज के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए बीजेपी के विधायक तीन बसों में सवार होकर राजभवन पहुँचे थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इससे पहले आज सोमवार शाम को उन्हें भाजपा विधायक दल का नेता चुन लिया गया था। उनके नाम का प्रस्ताव भाजपा के वरिष्ठ नेता गोपाल भार्गव ने रखा।

बताया जा रहा है कि शिवराज सिंह मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही, रात में मंत्रालय जाकर काम काज संभाल लेंगे। इससे पहले विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद शिवराज सिंह ने कहा था कि पार्टी मेरी माँ है और उसके दूध की लाज रखने में वे कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। गौरतलब है कि शिवराज सिंह चौहान 2005 से 2018 तक लगातार 13 साल सीएम रह चुके हैं। इस दौरान उन्होंने तीन बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उनके फिर सीएम बनने पर मध्यप्रदेश के इतिहास में पहला मौका होगा, जब कोई चौथी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेगा

शिवराज सिंह के अलावा अब तक अर्जुन सिंह और श्यामाचरण शुक्ल तीन-तीन बार सीएम रहे हैं। इस बार शिवराज के साथ-साथ नरेंद्र सिंह तोमर और नरोत्तम मिश्रा के नाम की भी चर्चा थी। लेकिन अब, माना जा रहा है कि भाजपा आलाकमान ने शिवराज के नाम ही मुहर लगा दी है। उल्लेखनीय है कि 20 मार्च को कमलनाथ द्वारा सीएम पद से इस्तीफे दिए जाने के बाद सीएम पद की दौड़ में शिवराज ही सबसे मजबूत दावेदार थे। पार्टी का एक खेमा भी मौजूदा विधानसभा में संख्या गणित को देखते हुए अभी फिलहाल शिवराज सिंह चौहान को ही कमान देने का दबाव बना रहा था। लेकिन, कयासो में कई बार अन्य दावेदारों में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा का नाम भी सामने आया।


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एक-एक पैसा मुजफ्फरनगर व सहारनपुर के मदरसों को दिया’: शाहिद सिद्दीकी ने अपने सांसद फंड को लेकर खोले राज़

वीडियो में पूर्व सांसद शहीद सिद्दीकी कहते दिख रहे हैं कि अपने MPLADS फंड्स में से एक-एक पैसा उन्होंने मदरसों, स्कूलों और कॉलेजों को दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,775FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe