Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजचंद्रबाबू नायडू की TDP को मिला एक कैबिनेट और एक राज्यमंत्री का पद: राममोहन...

चंद्रबाबू नायडू की TDP को मिला एक कैबिनेट और एक राज्यमंत्री का पद: राममोहन हैं MBA डिग्रीधारी और चंद्रशेखर हैं डॉक्टर उद्योगपति

जिन-जिन नेताओं को मंत्री का शपथ दिलवाना है उन्हें फोन जाने लगे हैं। जिन-जिन नेताओं को खबर लिखे जाने से फोन गया है उनके नाम हैं- राजनाथ सिंह, अमित शाह, शिवराज सिंह चौहान, एस जयशंकर, राजीव प्रताप रूडी, ज्योतिरादित्य सिंधिया, चिराग पासवान, एचडी कुमारस्वामी, ललन सिंह, अश्विनी वैष्णव, राव इंद्रजीत सिंह, जयंत चौधरी, अनुप्रिया पटेल, जीतनराम मांझी, जयंत चौधरी आदि के नाम प्रमुख हैं।

नरेंद्र मोदी आज रविवार (9 जून 2024) की शाम राष्ट्रपति भवन में लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेकर इतिहास रचने जा रहे है। लगभग एक दशक बाद देश में बनने वाली गठबंधन सरकार में चंद्रबाबू नायडू की तेलुगु देशम पार्टी (TDP) और नीतीश कुमार की जनता दल यूनाइटेड (JDU) प्रमुख घटक दल हैं। इस लोकसभा चुनाव में भाजपा को 240 सीटें और एनडीए को 293 सीटें मिली हैं।

सामने आ रही मीडिया रिपोर्ट में नरेंद्र मोदी के साथ-साथ कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ लेने वाले लोगों के नाम भी सामने आ रहे हैं। हालाँकि, इन सब नामों की अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। वहीं, TDP के दो सदस्य मंत्री पद की शपथ लेंगे। ये नाम हैं- एमबीए डिग्रीधारी किंजरापु राममोहन नायडू और एनआरआई मेडिकल डॉक्टर चंद्रशेखर पेम्मासानी। टीडीपी ने इसकी घोषणा की है।

लगभग 36 वर्षीय किंजरापु राममोहन नायडू श्रीकाकुला लोकसभा सीट से लगातार तीसरी बार सांसद बने हैं और वे कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लेंगे। वहीं, पहली बार सांसद बने 48 वर्षीय डॉक्टर चंद्रशेखर पेम्मासानी राज्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। राज्य के सबसे युवा सांसदों में से एक राममोहन नायडू वाईएसआरसीपी के तिलक पेराडा को 3.20 लाख वोटों से हराया है। वे टीडीपी के राष्ट्रीय महासचिव और लोकसभा में इसके सदन के नेता हैं।

उनके पिता दिवंगत येरन नायडू पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक और सांसद थे। वे 1996 और 1998 के बीच संयुक्त मोर्चा सरकार में केंद्रीय मंत्री थे। उनके चाचा के. अच्चेन्नायडू तेक्काली से विधायक और टीडीपी की राज्य इकाई के अध्यक्ष हैं। दिल्ली पब्लिक स्कूल, आरकेपुरम में पढ़ाई के बाद राममोहन नायडू ने अमेरिका के इंडियाना राज्य के पर्ड्यू विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की।

इसके बाद उन्होंने लॉन्ग आइलैंड से एमबीए किया। पिता की मौत से पहले तक वे सिंगापुर में नौकरी कर रहे थे। 26 साल की उम्र में उन्होंने 2014 में श्रीकाकुलम लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की और 16वीं लोकसभा में दूसरे सबसे कम उम्र के सांसद बन गए। वे चंद्रबाबू नायडू के सबसे वफादार लोगों में से एक हैं।

वहीं, चंद्रशेखर ने वाईएसआरसीपी के किलारी वेंकट रोसैया को 3.4 लाख वोटों से हराया है। चंद्रशेखर के परिवार के पास 5,785 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति है। उनका परिवार दशकों से टीडीपी के लिए काम कर रहा है। डॉक्टर चंद्रशेखर सबसे अमीर उम्मीदवारों में से एक हैं। उनके परिवार के पास 5,785 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति है।

साल 1999 में डॉ. एनटीआर यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज से एमबीबीएस करने वाले मेडिकल डॉक्टर डॉ. चंद्रशेखर ने 2005 में अमेरिका के पेनसिल्वेनिया के गीसिंजर मेडिकल सेंटर से इंटरनल मेडिसिन में एमडी किया। तेनाली के बुर्रीपालेम गाँव से आने वाले उनके परिवार ने लंबे समय से टीडीपी का समर्थन किया है और उन्होंने इस बार चुनाव लड़ने के लिए टिकट माँगा था।

टीडीपी नेता जयदेव गल्ला ने X पर एक पोस्ट में राममोहन नायडू को बधाई देते हुए लिखा, “नई एनडीए सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में नाम की पुष्टि होने पर मेरे युवा मित्र राममोहन को बधाई। आपकी ईमानदारी और विनम्र स्वभाव निश्चित रूप से देश के विकास में सहायक सिद्ध होगा। नई भूमिका के लिए आपको शुभकामनाएँ।”

हिंदुस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक, जिन-जिन नेताओं को मंत्री का शपथ दिलवाना है उन्हें फोन जाने लगे हैं। जिन-जिन नेताओं को खबर लिखे जाने से फोन गया है उनके नाम हैं- राजनाथ सिंह, अमित शाह, शिवराज सिंह चौहान, एस जयशंकर, राजीव प्रताप रूडी, अर्जुन राम मेघवाल, हरदीप सिंह पुरी, जी किशन रेड्डी, ज्योतिरादित्य सिंधिया, चिराग पासवान, एचडी कुमारस्वामी, ललन सिंह, रामनाथ ठाकुर, मनसुख मांडविया, प्रताप राव जाधव, अश्विनी वैष्णव, राव इंद्रजीत सिंह, जयंत चौधरी, अनुप्रिया पटेल, जीतनराम मांझी, प्रफुल्ल पटेल, जयंत चौधरी आदि के नाम प्रमुख हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -