Wednesday, July 17, 2024
Homeराजनीतिबंगाल: निगम पार्षद ख़ालिद ख़ान की मौसेरे भाइयों ने की हत्या, भाजपा पर दोष...

बंगाल: निगम पार्षद ख़ालिद ख़ान की मौसेरे भाइयों ने की हत्या, भाजपा पर दोष मढ़ TMC ने मचाया उत्पात

खालिद के भाई अरमान की शिकायत के आधार पर पुलिस ने टिंकू शेख, शेख कादिर और शेख शाहिद के खिलाफ मामला दर्ज किया है। तीनों सगे भाई हैं। टिंकू को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दो अन्य आरोपित फरार हैं।

पश्चिम बंगाल में कानून-व्यवस्था की स्थिति दिनोंदिन बिगड़ती जा रही है। शनिवार (24 अगस्त) की देर रात क़रीब 11.40 बजे आसनसोल नगर निगम के वॉर्ड-66 के तृणमूल कॉन्ग्रेस पार्षद ख़ालिद ख़ान (45 वर्षीय) की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी।

मामले में खालिद के भाई अरमान की शिकायत के आधार पर पुलिस ने तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज किया हैं। ये हैं टिंकू शेख, शेख कादिर और शेख शाहिद। तीनों खालिदा खान के मौसेरे भाई हैं। लेकिन, इस हत्या का दोष भाजपा पर मढ़ने की कोशिश करते हुए तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं ने जमकर उत्पात मचाया।

हत्या की य़ह घटना कुल्टी थाना के अंतर्गत बराकर-कल्याणोश्वरी रोड पर वॉर्ड-66 सिथित मनगड़िया की है। पुलिस ने आरोपित टिंकू शेख़ को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है, जबकि शेख़ क़ादिर और शेख़ शाहिद फ़रार हैं।

ख़बर के अनुसार, तीनों आरोपित सगे भाई हैं। तीनों आरोपित भी मनगड़िया में ही रहते हैं। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, हत्या के बाद बंगाल के उपभोक्ता मामलों के मंत्री साधन पांडे ने इसके पीछे भाजपा का हाथ बताया।

इसके बाद तृणमूल कार्यकर्ताओं ने जमकर उत्पात मचाया। मनगड़िया की ओर आने वाली सड़कों पर झाड़ियाँ रख दीं और टायरों को जलाकर मार्ग अवरोध किया। इसके अलावा बराकर बाज़ार को बंद करके अपना विरोध प्रदर्शन किया।

दैनिक जागरम के बंगाल संस्करण में छपी ख़बर

हत्या के बाद से तनाव की स्थिति बनी हुई है और दहशत का माहौल पसरा हुआ है। बता दें कि इससे पहले भी मृतक पर जानलेवा हमला हो चुका है। लोगों का कहना है कि शनिवार की रात को ख़ालिद ख़ान खाना खाने के बाद सड़क पर टहलने निकले थे। तभी पहले से घात लगाए हमलावरों ने उन पर गोलियों की बौछार कर दी।

गोली की आवाज़ सुनकर घटनास्थल पर लोगोंं की भाीड़ जुट गई। ख़ालिद को अस्पताल ले जाया गया, जहाँ डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। ख़ालिद को चार गोलियाँ लगी थीं। घटना की सूचना मिलते ही मेयर जितेंद्र तिवारी, उपमेयर तब्बसुम आरा, बोरो चेयरमैन गुललाम सरवर समेत कई पार्षद व अन्य नेता अस्पताल पहुँचे। तनाव के कारण मनगड़िया क्षेत्र को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमेरिकी राजनीति में नहीं थम रहा नस्लवाद और हिंदू घृणा: विवेक रामास्वामी और तुलसी गबार्ड के बाद अब ऊषा चिलुकुरी बनीं नई शिकार

अमेरिका में भारतीय मूल के हिंदू नेताओं को निशाना बनाया जाना कोई नई बात नहीं है। निक्की हेली, विवेक रामास्वामी, तुलसी गबार्ड जैसे मशहूर लोग हिंदूफोबिया झेल चुके हैं।

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -